एकनाथ शिंदे के खेमे में कुल 42 विधायक, शिवसेना के 34 समेत 8 निर्दलीय विधायक, संजय राउत ने कहा- ईडी के दबाव में पार्टी छोड़ने वाले बालासाहेब के भक्त नहीं

By अनिल शर्मा | Published: June 23, 2022 01:22 PM2022-06-23T13:22:38+5:302022-06-23T14:40:07+5:30

शिवसेना नेता संजय राउत सरकार के साथ 20 विधायकों के होने का दावा कर रहे हैं। संजय राउत ने कहा है कि विधायकों को मुंबई आने दीजिए जल्द ही पता चल जाएगा कि किन परिस्थितियों में इन विधायकों ने हमें छोड़ दिया।

maharashtra Political crisis 42 MLAs in Eknath Shinde camp Sanjay Raut said they not devotees of Balasaheb | एकनाथ शिंदे के खेमे में कुल 42 विधायक, शिवसेना के 34 समेत 8 निर्दलीय विधायक, संजय राउत ने कहा- ईडी के दबाव में पार्टी छोड़ने वाले बालासाहेब के भक्त नहीं

एकनाथ शिंदे के खेमे में कुल 42 विधायक, शिवसेना के 34 समेत 8 निर्दलीय विधायक, संजय राउत ने कहा- ईडी के दबाव में पार्टी छोड़ने वाले बालासाहेब के भक्त नहीं

Next
Highlightsसंजय राउत ने कहा, जब फ्लोर टेस्ट होगा तो सभी दखेंगे कि कौन सकारात्म है और कौन नकारात्मकसंजय राउत ने कहा, हम सच्चे बालासाहेब भक्त हैं... ईडी का दबाव भी है लेकिन उद्धव ठाकरे के साथ खड़े रहेंगे

मुंबई/गुवाहाटीः दिन बीतने के साथ-साथ महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार की मुश्किलें भी बढ़ती जा रही हैं। शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे अपने साथ 42 विधायक के होने का दावा कर रहे हैं। इसमें से 34 शिवसेना के तो 8 निर्दलीय विधायक शामिल हैं। इन सब के बीच बुधवार देर रात जहां शिवसेना के चार और बागी विधायक गुवाहाटी पहुंचे तो वहीं आज सुबह भी तीन और विधायक गुवाहाटी रवाना हो गए।

हालांकि शिवसेना नेता संजय राउत सरकार के साथ 20 विधायकों के होने का दावा कर रहे हैं। संजय राउत ने कहा है कि विधायकों को मुंबई आने दीजिए जल्द ही पता चल जाएगा कि किन परिस्थितियों में इन विधायकों ने हमें छोड़ दिया। जब फ्लोर टेस्ट होगा तो सभी दखेंगे कि कौन सकारात्म है और कौन नकारात्मक। 

राउत ने बागी विधायकों को लेकर कहा कि ईडी के दबाव में पार्टी छोड़ने वाले सच्चे बालासाहेब भक्त नहीं हैं। हम सच्चे बालासाहेब भक्त हैं... ईडी का दबाव भी है लेकिन उद्धव ठाकरे के साथ खड़े रहेंगे...। 

शिवसेना सांदद संजय राउत ने आगे कहा, मैं किसी खेमे की बात नहीं करूंगा, अपनी पार्टी की बात करूंगा. हमारी पार्टी आज भी मजबूत है... करीब 20 विधायक हमारे संपर्क में हैं। 

वहीं बुधवार फेसबुक लाइव पर उद्धव ठाकरे जनता को संबोधित करते हुए काफी मजबूर दिखे। उन्होंने कहा कि अगर किसी को कुछ परेशानी है तो सामने आकर बोलते वे मुख्यमंत्री का पद छोड़ देते। ठाकरे ने संबोधन के कुछ ही देर बाद अपना आधिकारिक बंगला खाली कर दिया। 

राजनीतिक संकट गहराने के साथ ही सरकार बचाने की कसरत भी तेज हो गई है। राकांपा प्रमुख शरद पवार, डिप्टी सीएम अजीत पवार, राज्य के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल, मंत्री जयंत पाटिल और जितेंद्र अव्हाड और पार्टी नेता सुनील तटकरे के बीच बैठक चल रही है। बैठक एनसीपी प्रमुख के आवास पर हो रही है।

उधर उद्धव ठाकरे के घर पर भी कई शिवसेना नेता पहुंचे हैं। हालांकि संजय राउत ने किसी भी तरह की बैठक से इनकार किया। उन्होंने कहा, सीएम आज कोई बैठक नहीं करेंगे। कुछ विधायक सरकारी काम से वर्षा बंगले जा रहे हैं। नितिन देशमुख (जो कल सूरत से नागपुर लौटे और कथित अपहरण के प्रयास में) एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे।

वहीं, गुवाहटी में शिवसेना के बागी विधायक जिस होटल में ठहरे हैं, गुरुवार टीएमसी नेताओं, कार्यकर्ताओं ने घेराव करते हुए भाजपा पर महाराष्ट्र सरकार गिराने का आरोप लगाया। टीएमसी नेताओं ने कहा कि असम में 20 लाख से अधिक लोग पीड़ित हैं और भाजपा सरकार गिराने में व्यस्त हैं। विरोध के बीत असम के मंत्री अशोक सिंघल के एकनाथ शिंदे से मिलने  रैडिसन ब्लू होटल पहुंच हैं।

Web Title: maharashtra Political crisis 42 MLAs in Eknath Shinde camp Sanjay Raut said they not devotees of Balasaheb

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे