महाराष्ट्र राजनीतिक संकट: बागी विधायक एकनाथ शिंदे के खेमे में शामिल हुए शिवसेना के 3 और विधायक, गुवाहाटी हुए रवाना

By अनिल शर्मा | Published: June 23, 2022 10:28 AM2022-06-23T10:28:55+5:302022-06-23T10:36:14+5:30

एकनाथ शिंदे के एक करीबी सहयोगी ने बताया कि सावंतवाड़ी से विधायक दीपक केसकर, चेंबूर से विधायक मंगेश कुडलकर और दादर से विधायक सदा सर्वंकर सुबह मुंबई से गुवाहाटी के लिए रवाना हुए।

Maharashtra political crisis 3 more Shiv Sena MLAs join Eknath Shinde camp in Guwahati | महाराष्ट्र राजनीतिक संकट: बागी विधायक एकनाथ शिंदे के खेमे में शामिल हुए शिवसेना के 3 और विधायक, गुवाहाटी हुए रवाना

महाराष्ट्र राजनीतिक संकट: बागी विधायक एकनाथ शिंदे के खेमे में शामिल हुए शिवसेना के 3 और विधायक, गुवाहाटी हुए रवाना

Next
Highlightsराजनीतिक संकट के बाद, शिवसेना ने एकनाथ शिंदे को पार्टी विधायक दल के नेता के पद से हटा दिया थाबुधवार जनता को संबोधित करते हुए सीएम उद्धव ठाकरे सीएम पद छोड़ने की बात कही थीफेसबुक लाइव के कुछ देर बाद सीएम ने अपना आधिकारिक आवास खाली कर मातोश्री शिफ्ट हो गए

मुंबईः महाराष्ट्र की सत्तारूढ़ महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार में जारी राजनीतिक संकट के बीच शिवसेना के तीन और विधायक बृहस्पतिवार को कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले बागी खेमे में शामिल होने के लिए असम की राजधानी गुवाहाटी के लिए रवाना हो गए।

शिंदे के एक करीबी सहयोगी ने बताया कि सावंतवाड़ी से विधायक दीपक केसकर, चेंबूर से विधायक मंगेश कुडलकर और दादर से विधायक सदा सर्वंकर सुबह मुंबई से गुवाहाटी के लिए रवाना हुए। बुधवार शाम महाराष्ट्र के मंत्री गुलाबराव पाटिल सहित चार विधायक गुवाहाटी के लिए रवाना हुए थे। सूत्रों ने बताया कि शिंदे अपने साथ मौजूद विधायकों से सलाह मशविरा करेंगे और फिर तय करेंगे कि मुंबई कब लौटना है।

बुधवार को गुवाहाटी पहुंचने के बाद शिंदे ने कुछ निर्दलीय विधायकों समेत 46 विधायकों के समर्थन का दावा किया था। उन्होंने महाराष्ट्र विधानसभा के उपाध्यक्ष को एक पत्र लिखा था, जिस पर शिवसेना के 35 विधायकों ने हस्ताक्षर किए थे। इसमें सुनील प्रभु की जगह भरत गोगावले को शिवसेना विधायक दल का मुख्य सचेतक बनाया गया था।

शिंदे ने कहा है कि एमवीए गठबंधन में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस मजबूत जबकि सरकार का नेतृत्व करने वाली शिवसेना और उसके कार्यकर्ता कमजोर हो रहे हैं। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भावनात्मक अपील करने और इस्तीफा देने की पेशकश के साथ ही बुधवार रात अपना आधिकारिक आवास खाली कर दिया था।

राजनीतिक संकट के बाद, शिवसेना ने एकनाथ शिंदे को पार्टी विधायक दल के नेता के पद से हटा दिया था। हालांकि, विद्रोहियों ने संकल्प के साथ पलटवार किया है। प्रस्ताव में कहा गया है कि पिछले दो साल में शिवसेना की विचारधारा से समझौता किया गया है। उन्होंने अनिल देशमुख और नवाब मलिक का जिक्र करते हुए "सरकार में भ्रष्टाचार" पर भी असंतोष व्यक्त किया, जो जेल में हैं।

एकनाथ शिंदे ने कहा था, ''भारत गोगावाले को शिवसेना विधायक दल का मुख्य सचेतक नियुक्त किया गया है। इसलिए आज शाम विधायक दल की बैठक के संबंध में सुनील प्रभु द्वारा जारी आदेश अवैध है।''

Web Title: Maharashtra political crisis 3 more Shiv Sena MLAs join Eknath Shinde camp in Guwahati

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे