Madhya Pradesh elections: maximum search keyword is Vyapam in the poll bound state | बीजेपी और शिवराज सिंह चौहान के लिए बैड न्यूज़! विधान सभा चुनाव से पहले इंटरनेट पर लाखों लोग सर्च कर रहे हैं 'व्यापम'
बीजेपी और शिवराज सिंह चौहान के लिए बैड न्यूज़! विधान सभा चुनाव से पहले इंटरनेट पर लाखों लोग सर्च कर रहे हैं 'व्यापम'

नई दिल्ली, 19 अक्टूबर: मध्य प्रदेश 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव होना है। ऐसे में बेरोजगारी, किसान आत्महत्या जैसे मुद्दों पर बात होनी चाहिए थी। लेकिन राज्य के लोगों की दिलचस्पी इन सबसे ज्यादा नेताओं की जाति, परिवार में है। लोग इंटरनेट के जरिए अपने कैंडिडेट की निजी जानकारी से लेकर विवाद तक सर्च कर रहे हैं। लेकिन चुनाव और उम्मीदवारों से भी ज्यादा राज्य के लोगों की दिलचस्पी व्यापम घोटाले को लेकर है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पिछले एक महीने के अंदर लोगों 10 लाख से लेकर एक करोड़ तक व्यापम सर्च किया है। एक तरफ कांग्रेस हर रोज जहां इस मुद्दे पर बीजेपी को घेरने की कोशिश कर रही है, वहीं इस सर्च ने बीजेपी की चिंता बढ़ा दी है।

व्यापम के अलावा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राज्य की मुख्यमंत्री रह चुकी उमा भारत को हर महीने 10,000 से 1 लाख हिट्स मिल रहे हैं। लोगों ने इनदोनों ही नेताओं के अलावा कांग्रेस के नेताओं में भी दिलचस्पी दिखाई है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी लगभग इतने ही हिट्स मिल रहे हैं।

लोगों की दिलचस्पी कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह से ज्यादा उनकी निजी जिंदगी में है। लोग उनकी दूसरी शादी और पत्नी की तस्वीरों को सर्च कर रहे हैं। अमृता सिंह के साथ उनकी शादी की तस्वीरों को हर रोज 10,000 से एक लाख लोग सर्च कर रहे हैं। यूजर्स नेताओं की शादी, परिवार, बच्चों के साथ ही जाति भी सर्च कर रहे हैं। पिछले एक महीने में लोगों ने शिवराज सिंह, उमा भारती, कमलनाथ, ज्योतिरादित्य, बाबूलाल गौर और कैलाश विजयवर्गीय की जाति को सर्च किया है। कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के बेटे महान आर्यमन सिंधिया को एक महीने में 1,000 से 10,000 लोगों ने इंटरनेट पर सर्च किया है। 

सरकारी योजनाओं में नहीं है दिलचस्पी

किसान आत्महत्या, बेरोजगारी जैसे बड़े मुद्दे में लोगों को कोई दिलचस्पी नहीं है। इनदोनों ही मुद्दे पर एक भी हिट्स नहीं आए हैं। इसके अलावा लोगों ने राज्यमें चल रही सरकारी योजना लाडली लक्ष्मी और मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना में भी कोई रुचि नहीं दिखाई है। इन योजनाों के बारे में 100 से 1000 लोगों ने ही इंटरनेट पर सर्च किया। आ

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता राजनीश अग्रवाल ने बताया कि कांग्रेस हमेशा लोगों को व्यापम मुद्दे पर बरगलाती रही है। लोगों को कांग्रेस पर विश्वास नहीं है, इसलिए वे खुद व्यापम के बारे में इंटरनेट पर सर्च करते हैं। यही कारण है कि व्यापमं सबसे ज्यादा प्रदेश में सर्च किया जा रहा है।


Web Title: Madhya Pradesh elections: maximum search keyword is Vyapam in the poll bound state
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे