Madhubani murder case Tejashwi Yadav targets CM Nitish kumar helpless and puppet bihar patna | मधुबनी हत्याकांडः तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश पर साधा निशाना, कहा-बेबस और लाचार मुख्यमंत्री
तेजस्वी ने ने कहा कि बिहार में अपराधी बेलगाम हैं, सरकार की एक नहीं चलती है। (file photo)

Highlightsजांच की जाए तो इस पूरे हत्याकांड के साजिशों का पर्दाफाश हो जाएगा।इस मामले में अपराधियों को सत्ता का संरक्षण प्राप्त है। बिहार के मुख्यमंत्री और गृह मंत्री होने के नाते नीतीश कुमार को मधुबनी नरसंहार की जवाबदेही लेनी चाहिए।

पटनाः बिहार के मधुबनी जिले के बेनीपट्टी के महमदपुर हत्याकांड को लेकर सूबे की सियासत गर्मा गई है।

 

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने महमदपुर हत्याकांड पर बड़ा दावा करते हुए कहा है कि इस हत्याकांड में राज्य के पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा और पुलिस अधिकारियों के बीच हुए बातचीत के कॉल रिकार्ड में सारे राज छिपे हैं, अगर उसकी जांच की जाए तो इस पूरे हत्याकांड के साजिशों का पर्दाफाश हो जाएगा। आज उन्होंने एक प्रेस कांफ्रेंस को आयोजित कर मुख्यमंत्री नीतीश सरकार पर जमकर हमला बोला।

बिहार पुलिस जदयू पुलिस बन गई है

राज्य की कानून व्यवस्था पर कई सवाल खड़ा करते हुए नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि बिहार पुलिस जदयू पुलिस बन गई है। मधुबनी प्रकरण में वह यदि मौके पर नहीं गए होते तो आज दोषियों की गिरफ्तारी भी ना होती। उन्होंने कहा कि इस मामले में अपराधियों को सत्ता का संरक्षण प्राप्त है। उन्होंने कहा कि बिहार में अपराधी खुले घूमते हैं और जनता की आवाज उठाने पर हमारे खिलाफ 307 का मुकदमा कर दिया जाता है। तेजस्वी ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री और गृह मंत्री होने के नाते नीतीश कुमार को मधुबनी नरसंहार की जवाबदेही लेनी चाहिए।

लेकिन इससे उलट नीतीश कुमार अपनी गर्दन बचाने के लिए पुलिस के पाले में गेंद डाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे हैरत की बात और कुछ नहीं हो सकती कि राज्य का मुख्यमंत्री पुलिस के कंधे पर जिम्मेदारी डाल कर इतनी बड़ी घटना पर कुछ भी बोलने से बचना चाहता है। तेजस्वी ने ने कहा कि बिहार में अपराधी बेलगाम हैं, सरकार की एक नहीं चलती है।

कहा जाता है कि बिहार में सुशासन की सरकार है। क्या यही सुशासन है? दिनदहाड़े अंधाधुध फायरिंग कर पांच लोगों की हत्या कर दी गई। एक घायल जीवन व मौत से जूझ रहा है और सरकार अब तक पीड़ित परिवारों के लिए दो शब्द सांत्वना के भी नहीं दे पाई। तेजस्वी ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए उन्हें जहां भी जाना होगा जाएंगे।

उन्होंने कहा कि प्रवीण झा रावण सेना चला रहा है और प्रशासन को पता तक नहीं है। पीड़ित परिजनों का कहना है कि एक पूर्व मंत्री का संरक्षण प्रवीण झा जैसे अपराधियों को मिल रहा है। इसकी जांच होनी चाहिए। उन्होंने पुलिस प्रशासन पर हमला बोलते हुए कहा कि मधुबनी के वर्तमान पुलिस अधिकारी जब तक रहेंगे न्याय नहीं मिलेगा। सभी पर कार्रवाई के लिए वह संघर्ष करेंगे। नेता प्रतिपक्ष ने मुख्य आरोपित प्रवीण झा के साथ पूर्व मंत्री की तस्वीर दिखाई। बेनीपट्टी के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ प्रवीण झा की तस्वीर दिखलाई।

उन्होंने आरोप लगाया कि इन लोगों द्वारा ही यह अपराधी संरक्षित है। उन्होंने पूछा कि प्रशासन क्या कर रहा है? उन्होंने पीडित परिजनों को सुरक्षा देने, परिजनों के एक सदस्यों को नौकरी देने, परिवार के सदस्यों को मुआवजा व परवरिश की मांग की। तेजस्वी ने पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा को चुनौती देते हुए कहा कि अगर वह खुद को बेगुनाह कह रहे हैं तो अपनी कॉल रिकार्ड की जांच कराएं।

सारी सच्चाई सामने आ जाएगी। तेजस्वी यादव ने कहा कि इस घटना में विधायक विनोद नारायण झा की भूमिका संदिग्ध है। घटना के एक दिन पहले वह आरोपियों के साथ मौजूद थे, जिसके बाद इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया। उन्होंने कहा यह सिर्फ बड़ी मछली को बचाने की कोशिश है. स्थानीय प्रशासन का आरोपियों को सहयोग मिला है। तेजस्वी का आरोप है कि हत्या से एक दिन पहले विनोद नारायण झा आरोपियों के साथ बैठक कर रहे थे, अगले दिन वारदात होती है और पुलिस सभी हत्यारो को नेपाल छोडने जाती है. जो साफ जाहिर कर रहा है कि इसमें किन लोगों का हाथ है।

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार सबसे बेबस और लाचार मुख्यमंत्री हैं, कानून व्यवस्था को सुधारने में इनकी कोई रूची नहीं है. जहां हम पीडितों से मिलने पहुंचे थे, वहीं वह पटना में केवल जोड़तोड़ कर के अपनी कुर्सी बचाने में लगे हुए थे.।तेजस्वी ने कहा कि हमने हमने तो पीड़ित परिवार के आंसू पोछे, लेकिन न तो मुख्यमंत्री और न ही उनके दोनों उप मुख्यमंत्री ने दुखी परिवार से मिलना जरुरी समझा है।

उन्होंने कहा कि 15 सालों में जितनी बार मुख्यमंत्री अपने पार्टी ऑफिस नहीं पहुंचे, हमारे चलते कुछ महीनों में वह कितनी बार जदयू दफ्तर पहुंच गए। तेजस्वी ने कहा कि किसी भी घटना के बाद सबसे पहले फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंचती है, लेकिन घटना के एक सप्ताह बाद भी फोरेंसिक टीम नहीं पहुंची थी।

खुद एसपी ने इस बात को माना है, जो साफ बताता है कि किस तरह इस हत्याकांड को पुलिस कार्रवाई कर रही थी। इसबीच, इस मामले के मुख्य आरोपी प्रवीण झा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। प्रवीण झा के अलावा चंदन झा, भोला सिंह, कमलेश सिंह और मुकेश साफी भी पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं। मधुबनी के एसपी डॉ सत्यप्रकाश ने आज इसकी पुष्टि की। इस मामले में 5 आरोपी थे. अब पांचवे आरोपी की गिरफ्तारी बिहार पुलिस मुख्यालय ने की है।

Web Title: Madhubani murder case Tejashwi Yadav targets CM Nitish kumar helpless and puppet bihar patna

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे