lok sabha election 2019 Delhi: BJP candidate Gautam Gambhir offers prayers before filing nomination | लोकसभा चुनावः दिल्ली में शीला दीक्षित, रमेश बिधूड़ी, विजेंदर सिंह और गाैतम गंभीर ने भरा पर्चा
कांग्रेस-भाजपा के प्रत्याशियों ने अंतिम दिन नामांकन किए, दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित के सामने दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी

Highlightsदिल्ली में नामांकन के अंतिम दिन भाजपा, कांग्रेस के उम्मीदवारों ने पर्चे भरे, लोकसभा की 7 सीट, मतदान 12 मई को।कई उम्मीदवारों ने नामांकन करने से पहले तपती गर्मी में अपने-अपने चुनाव क्षेत्रों में रोड शो किए।

दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीटों पर 12 मई को होने वाले चुनाव के लिए मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, भाजपा सांसद रमेश बिधूड़ी, ओलंपिक कांस्य पदक विजेता विजेंदर सिंह और क्रिकेटर से नेता बने गौतम गंभीर सहित अनेक जाने-माने उम्मीदवारों ने नामांकन के अंतिम दिन अपना पर्चा भरा।

कई उम्मीदवारों ने नामांकन करने से पहले तपती गर्मी में अपने-अपने चुनाव क्षेत्रों में रोड शो किए। कांग्रेस के सभी सात उम्मीदवारों - दिल्ली के पूर्व मंत्री अरविंदर सिंह लवली, दिल्ली कांग्रेस के पूर्व प्रमुख जयप्रकाश अग्रवाल, पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन, दिल्ली कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया, कांग्रेस के पूर्व सांसद महाबल मिश्रा, पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और ओलंपिक कांस्य विजेता विजेंदर सिंह - ने अपने नामांकन दाखिल किए।

भाजपा उम्मीदवारों - पंजाबी गायक हंसराज हंस, दक्षिण दिल्ली से मौजूदा सांसद रमेश बिधूड़ी, नई दिल्ली से भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी और पूर्वी दिल्ली से गौतम गंभीर ने नामांकन दाखिल किए।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली सीट से मेरी भावनाएं जुड़ी हैं ः शीला

उत्तर-पूर्वी दिल्ली से कांग्रेस उम्मीदवार शीला दीक्षित ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘इस सीट से मेरी भावनाएं जुड़ी हैं क्योंकि दिल्ली में मैंने अपना पहला चुनाव इसी सीट से लड़ा था।’’ यह पूछे जाने पर कि वह दिल्ली भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी और आप उम्मीदवार दिलीप पांडेय में से किसे बड़ी चुनौती मानती हैं, कांग्रेस नेता ने कहा कि वह दोनों को चुनौती के रूप में देखती हैं और वह इस सीट को जीतने का प्रयास करेंगी।

उन्होंने कहा, ‘‘कोई भी सीट छोटी या बड़ी नहीं होती और यह किसी व्यक्ति से नहीं जुड़ी होती। यह निर्वाचन क्षेत्र के लोगों से जुड़ी होती है।’’ दीक्षित ने 1998 में पूर्वी दिल्ली से चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। इस निर्वाचन क्षेत्र में उस समय उत्तर-पूर्वी दिल्ली के हिस्से शामिल थे।

वहीं, पूर्वी दिल्ली से लवली और आप की आतिशी मार्लेना को चुनौती दे रहे गंभीर ने कहा कि वह अपने प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवारों पर नहीं, बल्कि जीत पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव जीतने के बाद मेरा उद्देश्य पूर्वी दिल्ली को शहर के सर्वश्रेष्ठ हिस्सों में से एक बनाने का है।’’

गंभीर ने कहा, ‘‘मैं नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ईमानदारी की पारी की शुरुआत कर रहा हूं। मैदान में मेरी अन्य उम्मीदवारों से प्रतिस्पर्द्धा नहीं है और मैं यहां पूर्वी दिल्ली के लोगों के साथ अपना विजन साझा करने आया हूं। मैं सकारात्मक एजेंडे के साथ लोगों के पास जा रहा हूं।’’

गंभीर जब पूर्वी दिल्ली जिला निर्वाचन कार्यालय में नामांकन दाखिल करने पहुंचे तो उनके और लवली के समर्थकों के बीच विवाद हो गया। भाजपा समर्थक जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा में नारे लगा रहे थे, वहीं कांग्रेस समर्थक ‘चौकीदार चोर है’ का नारा लगाने लगे।

दक्षिण दिल्ली से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे विजेंदर सिंह ने कहा कि वह युवाओं और खेलों से संबंधित मुद्दों पर ध्यान केंद्रत करेंगे। कांग्रेस में शामिल होने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि वह पार्टी की विचारधारा और नेतृत्व को मानते हैं। दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीटों पर चुनाव के छठे चरण में 12 मई को मतदान होगा। 


Web Title: lok sabha election 2019 Delhi: BJP candidate Gautam Gambhir offers prayers before filing nomination

Get the latest Election News, Key Candidates, Key Constituencies live updates and Election Schedule for Lok Sabha Elections 2019 on www.lokmatnews.in/elections/lok-sabha-elections. Keep yourself updated with updates on Delhi Loksabha Elections 2019, phases, constituencies, candidates on www.lokmatnews.in/elections/lok-sabha-elections/delhi.