कर्नाटक: दिवाली पर पत्रकारों को उपहार में मिले लाखों रुपए! मिठाई के डिब्बों में पैसे बांटने पर कांग्रेस ने उठाया सवाल, न्यायिक जांच की मांग की

By भाषा | Published: October 29, 2022 01:32 PM2022-10-29T13:32:33+5:302022-10-29T13:41:58+5:30

ऐसे में सीएमओ के सूत्रों से यह जानकारी मिली है कि मामले में मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा है कि वह इससे अनभिज्ञ हैं कि पत्रकारों को इस तरह की ‘नकदी’ दी गई है।

Lakhs rupees gifted journalists Diwali Karnataka Congress raised question demanded judicial inquiry | कर्नाटक: दिवाली पर पत्रकारों को उपहार में मिले लाखों रुपए! मिठाई के डिब्बों में पैसे बांटने पर कांग्रेस ने उठाया सवाल, न्यायिक जांच की मांग की

फोटो सोर्स: ANI फाइल फोटो

Next
Highlightsदिवाली पर पत्रकारों को मिठाई के डिब्बों में पैसे बांटने पर कांग्रेस ने सवाल उठाया है। इस पर बोलते हुए मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा है कि उनको इसकी जानकारी नहीं है। ऐसे में कांग्रेस ने इसकी न्यायिक जांच की मांग भी की है।

बेंगलुरु:कांग्रेस ने इन आरोपों की न्यायिक जांच की मांग की है कि कर्नाटक में दिवाली पर कुछ पत्रकारों को मिठाई के डिब्बों के साथ ‘नकद उपहार’ दिए गए। कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर आरोप लगाया है। 

पत्रकारों को दिया गया है 1 लाख रुपए नकद रिश्वत- रणदीप सिंह सुरजेवाला 

मामले में कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा है, “40 प्रतिशत सरकार ने पत्रकारों को एक लाख रुपए नकद देकर उन्हें रिश्वत देने की कोशिश की।” ऐसे में सुरजेवाला ने मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई से इस बाबत सवाल पूछे है। 

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सीएम बसवराज बोम्मई से 3 सवाल पूछे है

इस पर बोलते हुए उन्होंने आगे पूछा है, “ क्या श्रीमान बोम्मई जवाब देंगे- 1. क्या यह मुख्यमंत्री द्वारा "रिश्वत" नहीं है? 2. एक लाख रुपए का स्रोत क्या है? क्या यह सरकारी खजाने का पैसा है या मुख्यमंत्री ने खुद दिया है? 3. क्या ईडी या आयकर विभाग इसका संज्ञान लेगा?” 

कांग्रेस ने की है न्यायिक जांच की मांग

ऐसे में कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस समिति ने इस मामले की न्यायिक जांच की मांग की और इसे मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) की ओर से पत्रकारों को ‘स्वीट बॉक्स ब्राइब’ यानी ‘‘मिठाई के डिब्बे में रिश्वत करार दिया’’ है।

पार्टी ने आगे क्या कहा

मामले में पार्टी ने आगे कहा, “राज्य के लोगों को पता होना चाहिए कि कितना पैसा रिश्वत के तौर पर दिया गया है और कितना पैसा प्राप्त किया गया है और कितना लौटाया गया।” सीएमओ के सूत्रों ने कहा कि मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा है कि वह इससे अनभिज्ञ हैं कि पत्रकारों को ‘नकदी’ दी गई। 

Web Title: Lakhs rupees gifted journalists Diwali Karnataka Congress raised question demanded judicial inquiry

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे