Jharkhand: The situation of Corona-infected Education Minister Jagarnath Mahato is continuously declining, the shift on ventilator is done when the oxygen level falls | झारखंड: कोरोना संक्रमित शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की स्थिति में लगातार आ रही है गिरावट, ऑक्सीजन लेवल गिरने पर वेंटिलेटर पर किया गया शिफ्ट
जगरनाथ महतो (फाइल फोटो)

Highlightsशिक्षा मंत्री के बिगड़ती स्थिति का जायजा लेने के लिए आज खुद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन मेडिका अस्पताल पहुंचे.मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने चिकित्सकों से जगरनाथ महतो के चिकित्सा को लेकर पूरी जानकारी ली.

रांची: कोरोना वायरस से संक्रमित झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की स्थिति लगातार बिगड़ रही है. आज उनकी स्थिति में पहले से अधिक गिरावट देखने को मिली है. उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया गया है.

ऑक्सीजन लेवल गिरने के बाद उनको वेंटिलेटर पर रखने का फैसला किया गया. सूबे के सबसे बडे अस्पताल राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) के डॉ प्रदीप भट्टाचार्य व मेडिका के डॉ विजय मिश्रा ने उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया.

बावजूद किसी तरह की स्थिति में सुधार देखने लायक नहीं है. मेडिका के चिकित्सक भी लगातार स्थिति में सुधार की प्रतीक्षा कर रहे हैं. यहां बता दें कि मेडिका में 1 अक्टूबर, 2020 से भर्ती शिक्षा मंत्री की स्थिति में सुधार नहीं हो रहा है.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की सलाह पर शनिवार को गुड़गांव स्थित मेदांता हॉस्पिटल के डॉक्टरों की टीम के साथ रिम्स व मेडिका में इलाज कर रहे डॉ विजय मिश्रा के साथ जूम मीटिंग की गई. इसमें शिक्षा मंत्री के स्वास्थ्य का आकलन किया गया.

उनकी बिगड़ती स्थिति का जायजा लेने के लिए आज खुद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन मेडिका अस्पताल पहुंचे. मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों से जगरनाथ महतो के चिकित्सा को लेकर पूरी जानकारी ली तथा बेहतर चिकित्सा हेतु निदेश दिया. अस्पताल से निकलते हुए उन्होंने बताया कि मंत्री की वर्तमान स्थिति राज्य से बाहर चिकित्सा हेतु ले जाने की नहीं है.

हालांकि इस को लेकर प्रयास हो रहा है. चेन्नई के लंग्स स्पेशलिस्ट से बात हुई है. चेन्नई से चिकित्सकों की टीम कल आने वाली थी, लेकिन टीम को आज ही आने का अनुरोध किया गया है, ताकि मंत्री जी को बाहर ले जाने व बेहतर इलाज के संबंध में विचार विमर्श किया जा सके.

इस बीच मेदांता के क्रिटिकल केयर के निदेशक डॉ यतिन मेहता व छाती रोग विशेषज्ञ डॉ जायसवाल ने शिक्षा मंत्री की रिपोर्ट की जानकारी ली. शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो का इलाज कर रहे डॉ विजय मिश्रा ने उन्हें बताया कि शुक्रवार को शिक्षा मंत्री का पल्स रेट 100, ब्लड प्रेशर 160/80 और ऑक्सीजन लेवल 89 से 90 था. एफाआइओटू 100 फीसदी है.

उनकी लैब व रेडियोलॉजी रिपोर्ट ठीक है, लेकिन उनके स्वास्थ्य की स्थिति से मेल नहीं खा रही है. ऐसे में कठिन फैसला लेना होगा. मेदांता के डॉक्टरों से बातचीत करके यह निर्णय लिया गया कि शिक्षा मंत्री को वेंटिलेटर पर रखकर प्रोन पॉजिशन में लिटाया जाये.

इसके अलावा ट्रेकोस्टोमी कर दिया जाये. मरीज को ऐसी स्थिति में लंग्स ट्रांसप्लांट के लिए चेन्नई व हैदराबाद शिफ्ट किया जाये. डॉक्टरों की रिव्यू की जानकारी मंत्री के परिजन व सरकार को दे दी गई है. अब सरकार और परिजनों को लंग्स ट्रांसप्लांट के लिए चेन्नई व हैदराबाद ले जाने का निर्णय लेना है. 

 

यहां उल्लेखनीय है कि शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो 28 सितंबर को कोरोना संक्रमित पाए गए थे, इसके बाद उन्हें रिम्स के कोविड आईसीयू में भर्ती कराया गया था. लेकिन सांस लेने में तकलीफ के बाद उन्हें बेहतर इलाज के लिए एक अक्तूबर को रांची स्थित मेडिका अस्पताल में शिफ्ट कराया गया. अब देर शाम चेन्नई की टीम पहुंचने के बाद उनकी स्थिति का रिव्यू करेंगे. जिसके बाद जरूरत पडने पर उन्हें बाहर के अस्पताल में ले जाया जा सकेगा. इधर, मिली जानकारी के अनुसार उन्हें बाहर के अस्पताल में ले जाने की पूरी तैयारी कर ली गई है, बस चिकित्सको के निर्देश का इंतजार है.

Web Title: Jharkhand: The situation of Corona-infected Education Minister Jagarnath Mahato is continuously declining, the shift on ventilator is done when the oxygen level falls
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे