INS Kolkata welcome five Rafale jets at Western Arabian Sea says Happy landings | 'हैप्पी लैंडिंग, हैप्पी हंटिंग,' अंबाला में लैंडिंग से पहले राफेल का समुद्र में तैनान INS कोलकाता ने कुछ ऐसे किया स्वागत
राफेल का जब भारतीय नौसेना ने किया स्वागत (फाइल फोटो)

Highlightsराफेल लड़ाकू विमानों को आज भारतीय वायुसेना में स्क्वाड्रन नम्बर 17 में शामिल किया जाएगाफ्रांस से सोमवार को भरी थी इन विमानों ने उड़ान, राफेल से भारतीय वायुसेना की बढ़ेगी ताकत

भारतीय वायुसेना के लिए आज का दिन खास है। फ्रांस से आए पांच राफेल विमान आज भारतीय वायुसाना का हिस्सा बन जाएंगे। फ्रांस से सोमवार को निकले पांच राफेल विमानों ने आज यूएई से भारत के लिए दोबारा उड़ान भरी। हालांकि, दिलचस्प नजारा उस समय नजर आया जब राफेल विमान भारतीय वायुसीमा में प्रवेश हुए।

राफेल विमान जैसे ही पश्चिमी अरब सागर के ऊपर से निकले तो यहां तैनात भारतीय नौसेना के वॉरशिप आईएनएस कोलकाता ने इसका अलग अंदाज में स्वागत किया। आईएनएस कोलकाता डेल्टा 63 की ओर से कहा गया, 'ऐरो लीडर (राफेल) हिंद महासागर में आपका स्वागत है।' 

इस पर राफेल की ओर से भी जवाब दिया गया, 'बहुत शुक्रिया।' इसके बाद आईएनएस कोलकाता ने कहा- आप आकाश की उंचाईयों को नापे, हैप्पी लैंडिंग। इसके तत्काल बाद राफेल की ओर से भी जवाब दिया गया- हैप्पी हंटिंग ओवर एंड आउट।'


गौरतलब है कि पांच राफेल विमानों का पहली खेप सोमवार को फ्रांसीसी बंदरगाह शहर बोरदु में मेरिग्नैक एयरबेस से रवाना हुई। ये विमान लगभग 7,000 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद बुधवार दोपहर को अंबाला पहुंचेंगे। इन विमानों में तीन एक सीट वाले और दो विमान दो सीट वाले हैं।


फ्रांस से अंबाला तक अपनी लंबी उड़ान के बीच ये पांचों विमान करीब सात घंटे से अधिक समय तक उड़ान भरने के बाद संयुक्त अरब अमीरात में अल दफरा एयरबेस पर उतरे थे। पहला राफेल जेट पिछले साल अक्टूबर में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की फ्रांस यात्रा के दौरान भारतीय वायुसेना को सौंपा गया था।

इन विमानों के आने से भारतीय वायुसेना की युद्धक क्षमता में महत्वपूर्ण रूप से बढ़ोतरी होने की संभावना है। भारत ने 23 सितंबर 2016 को फ्रांसीसी एरोस्पेस कंपनी दसॉल्ट एविएशन से 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने के लिए 59,000 करोड़ रुपये का सौदा किया था। 

इन विमानों को बुधवार दोपहर में भारतीय वायुसेना में स्क्वाड्रन नम्बर 17 में शामिल किया जाएगा, जिसे 'गोल्डन एरोज' के नाम से भी जाना जाता है। हालांकि, इन विमानों को औपचारिक रूप से भारतीय वायुसेना में शामिल करने के लिए मध्य अगस्त के आसपास समारोह आयोजित किया जा सकता है।

Web Title: INS Kolkata welcome five Rafale jets at Western Arabian Sea says Happy landings
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे