Hizbul top commander killed in encounter with security forces in Jammu and Kashmir | जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में हिजबुल के शीर्ष कमांडर की मौत
हिजबुल मुजाहिदीन का एक खूंखार आतंकवादी हारून अब्बास वानी मारा गया।

Highlightsसुरक्षा बलों ने मुठभेड़ के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के एक शीर्ष आतंकवादी को मार गिराया। हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकवादी चार हत्याओं और हथियार छीनने की दो घटनाओं में शामिल था।

जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में बुधवार को सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के एक शीर्ष आतंकवादी को मार गिराया। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने बताया कि हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकवादी चार हत्याओं और हथियार छीनने की दो घटनाओं में शामिल था।

इसके अलावा वह चिनाब घाटी क्षेत्र में फिर से आतंकवाद को जीवित करने का प्रयास कर रहा था। सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा कि जनवरी के पहले 15 दिन बहुत ही घटना प्रधान रहे और इस दौरान आतंकवादियों के खिलाफ कश्मीर में तीन और जम्मू क्षेत्र के डोडा जिले में एक प्रभावी ऑपरेशन किए गए।

इनमें हिजबुल मुजाहिदीन का एक खूंखार आतंकवादी हारून अब्बास वानी मारा गया। जम्मू क्षेत्र के जनसंपर्क अधिकारी (रक्षा) लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने बताया कि जिले के गोंडाना इलाके में सेना और पुलिस के जवानों की संयुक्त टीम की आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ हुयी। पुलिस प्रमुख ने कहा कि डोडा के गट्टा बेल्ट का निवासी वानी नवंबर 2018 में एक भाजपा नेता और उनके भाई की सनसनीखेज हत्या में ओसामा के साथ शामिल था।

वह पिछले साल जनवरी में आरएसएस के एक पदाधिकारी और उनके पीएसओ की हत्या के अलावा किश्तवाड़ जिले में 2019 में हथियार छीनने की दो घटनाओं में भी शामिल था। अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों को इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में जानकारी मिली थी।

इससे पहले डोडा-किश्तवाड़-रामबन रेंज के पुलिस उप महानिरीक्षक सुजीत कुमार ने बताया कि मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन का सदस्य हारून वानी मारा गया, जो ए ++ श्रेणी का आतंकवादी था। उन्होंने कहा कि एक अन्य आतंकवादी बर्फीले क्षेत्रों की ओर भाग गया और उसे पकड़ने के लिए अभियान जारी है।

कुमार ने कहा कि एक एके-47 राइफल, तीन मैगजीन, 73 कारतूस, एक चीनी ग्रेनेड और एक रेडियो सेट बरामद किए गए हैं। डोडा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुमताज अहमद ने बताया कि संयुक्त टीमों ने कल रात तलाशी अभियान शुरू किया था और बुधवार सुबह आठ बजे वे वांछित आतंकवादी को मार गिराने में सफल रहे। हारून हिजबुल मुजाहिदीन का जिला कमांडर था।

अधिकारियों ने बताया कि इंजीनियर गुलाम अब्बास वानी का पुत्र हारून पहली बार सुर्खियों में तब आया था जब एक एके-47 राइफल के साथ उसकी तस्वीर सितंबर 2018 में सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी और वह प्रतिबंधित संगठन में शामिल हुआ था। हारून डोडा के गुलाम अब्बास वानी के आठ बच्चों में से एक था। अधिकारियों के अनुसार वानी के सभी बच्चे उच्च शिक्षा प्राप्त हैं।

हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल होने से पहले हारून ने कटरा विश्वविद्यालय से एमबीए पूरा किया और एक निजी कंपनी में काम कर रहा था। उसके रिश्तेदारों के अनुसार, वह एक होनहार छात्र था। 

Web Title: Hizbul top commander killed in encounter with security forces in Jammu and Kashmir
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे