'जिहादी गतिविधियों का केंद्र बनता जा रहा है असम', बोले मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा

By शिवेंद्र राय | Published: August 4, 2022 02:46 PM2022-08-04T14:46:09+5:302022-08-04T14:49:07+5:30

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा कि असम तेजी से जिहादी गतिविधियों का केंद्र बनता जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिहादी विचारधारा आतंकवादी या उग्रवादी गतिविधियों से अलग और ज्यादा खतरनाक है।

Himanta Biswa Sarma said Assam Becoming A Hotbed Of Jihadi Activities | 'जिहादी गतिविधियों का केंद्र बनता जा रहा है असम', बोले मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (फाइल फोटो)

Next
Highlightsहिमंत बिस्वा सरमा ने असम को जिहादी गतिविधियों का अड्डा बतायाजिहादी विचारधारा को उग्रवाद से खतरनाक बतायाबंग्लादेश से अवैध घुसपैठ पर चिंता जताई

गुवाहाटी: असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा है कि असम "जिहादी गतिविधियों" का केंद्र बन गया है, जिसके पांच मॉड्यूल बांग्लादेश स्थित आतंकी संगठन अंसारुल इस्लाम से जुड़े हैं। मुख्यमंत्री सरमा ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "अंसारुल इस्लाम से संबंधित छह बांग्लादेशी नागरिकों ने युवाओं को शिक्षित करने के लिए असम में प्रवेश किया था और उनमें से एक को इस साल मार्च में बारपेटा में पहला मॉड्यूल मिलने पर गिरफ्तार किया गया था।" हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा, "राज्य के बाहर के इमामों द्वारा मुस्लिम युवकों को निजी मदरसों में पढ़ाना चिंताजनक है।" मुख्यमंत्री ने कहा, "जिहादी गतिविधि आतंकवादी या उग्रवादी गतिविधियों से बहुत अलग है। इसकी शुरुआत कई वर्षों से होती है, इसके बाद इस्लामी कट्टरवाद को बढ़ावा देने में इसकी सक्रिय भागीदारी होती है और अंत में जिहादी विचारधारा विध्वंसक गतिविधियों में शामिल होती है।"

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने बताया कि साल 2016-17 में अवैध रूप से राज्य में प्रवेश करने वाले बांग्लादेशी नागरिकों ने कोरोना महामारी के दौरान कई शिविरों का संचालन किया। उन्होंने कहा, "इनमें से केवल एक बांग्लादेशी को अब तक गिरफ्तार किया गया है, मैं लोगों से स्थानीय पुलिस को सूचित करने की अपील करता हूं कि राज्य के बाहर से कोई भी मदरसे में शिक्षक या इमाम न बन पाए।"

बता दें कि असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा इससे पहले भी कई बार सार्वजनिक रूप से यह बात कह चुके हैं कि असम में कई आतंकी माड्यूल सक्रिय हैं। असम की सीमा बंग्लादेश से जुड़ी हुई है। इसी कारण राज्य में अवैध घुसपैठ का खतरा लगातार बना रहता है। इसी साल मार्च महीने में असम पुलिस ने आतंकी संगठन अल-कायदा की भारतीय उपमहाद्वीप शाखा (AQIS) से संबद्ध बांग्लादेश के एक महत्वपूर्ण जिहादी संगठन से जुड़े एक बांग्लादेशी नागरिक सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान बांग्लादेश के रहने वाले मोहम्मद सुमन उर्फ सैफुल इस्लाम उर्फ हारून राशिद ढकलियापारा, असम के बारपेटा जिले के खैरुल इस्लाम, बादशाह सुलेमान खान, नौशाद अली और तैमूर रहमान खान के रूप में हुई थी।

Web Title: Himanta Biswa Sarma said Assam Becoming A Hotbed Of Jihadi Activities

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे