बीबीसी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग पर जामिया में बवाल, प्रदर्शन कर रहे छात्र हिरासत में

By अंजली चौहान | Published: January 25, 2023 04:43 PM2023-01-25T16:43:59+5:302023-01-25T17:35:44+5:30

डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग को लेकर प्रशासन सख्त है और स्क्रीनिंग पर रोक लगा दी है। इसे देखते हुए दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने जामिया यूनिवर्सिटी के बाहर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। 

Delhi Police detains protesters who were sloganeering outside Jamia Millia Islamia University | बीबीसी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग पर जामिया में बवाल, प्रदर्शन कर रहे छात्र हिरासत में

(photo credit: ANI twitter)

Next
Highlightsजामिया मिलिया इस्लामिया में वाम दल के छात्रों के से हंगामा। बीबीसी डॉक्यूमेंट्री के कारण यूनिवर्सिटी में तनाव का माहौल।कई छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लिया।

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री को लेकर बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। दिल्ली स्थित जेएनयू यूनिवर्सिटी में हुए हंगामे के बाद अब जामिया मिलिया इस्लामिया में भी छात्रों के द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग को लेकर प्रशासन सख्त है और स्क्रीनिंग पर रोक लगा दी है। इसे देखते हुए दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने जामिया यूनिवर्सिटी के बाहर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। 

इस बीच बताया जा रहा है कि हंगामा कर रहे कई छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। इन छात्रों को पुलिस बसों में बैठा कर ले जा रही है। जानकारी के मुताबिक, जामिया मिलिया इस्लामिया में आज बीबीसी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग को लेकर वाम दल के छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसके बाद चीफ प्रॉक्टर के कहने पर यूनिवर्सिटी के बाहर सुरक्षा कड़ी कर दी गई। हालांकि, पुलिस प्रशासन की मौजूदगी के बाद वाम दल के छात्र और उग्र हो गए और कैंपस में भारी हंगामा मच गया। 

गौरतलब है कि गुजरात दंगों पर आधारित डॉक्यूमेंट्री को केंद्र सरकार ने भारत में प्रतिबंधित कर दिया है। इस निर्णय के बाद से राजनीति गलियारों में पक्ष और विपक्ष के बीच जुबानी जंग तेज है। मुद्दा तूल पकड़ा तो जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय और जामिया मिलिया इस्लामिया तक जा पहुंचा। जामिया यूनिवर्सिटी में डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग को लेकर एसएफआई छात्र संघ के कई कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है। 

इंडिया टुडे के मुताबिक, जामिया विश्वविद्यालय परिसर के अंदर बंद छात्रों का आरोप है कि उन्हें बिना बताए ये कार्रवाई की गई है। जो छात्र यूनिवर्सिटी के अंदर फंसे हैं उनका कहना है कि डॉक्यूमेंट्री से उनका कोई संबंध नहीं है और वह प्रॉक्टर के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे कि क्योंकि प्रॉक्टर ने गेट बंद करने का नोटिस जारी नहीं किया था। 

छात्रों ने कहा कि उन्हें यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी में पढ़ना है और हमारा स्क्रीनिंग से कुछ भी लेना-देना नहीं है। प्रॉक्टर की कार्रवाई को छात्र गलत बता रहे हैं और आरोप लगा रहे हैं। 

बिना अनुमति स्क्रीनिंग नहीं होगी- जामिया प्रशासन 

जानकारी के मुताबिक, जामिया यूनिवर्सिटी प्रशासन का कहना है कि बिना अनुमति के यूनिवर्सिटी कैंपस में किसी तरह से भी बीबीसी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग नहीं की जाएगी। इसके लिए प्रशासन पूरी मुश्तैदी के साथ इस पर नजर बनाए हुए है कि यूनिवर्सिटी में किसी भी तरह से माहौल खराब न होने पाए।

एसएफआई ने विश्वविद्यालय में डॉक्यूमेंट्री स्क्रीनिंग की  घोषणा

बता दें कि स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बीबीसी के विवादास्पद डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग की आज घोषणा की थी। इसकी जानकारी मिलते ही विश्वविद्यालय प्रशासन ने एहतियात के तौर पर पुलिस प्रशासन को सूचना दे दी। एसएफआई के छात्र कार्यकर्ताओं ने आज साम 6 बजे विश्वविद्यालय परिसर में स्क्रीनिंग का ऐलान किया। इसके बाद पुलिस को परिसर में देखने के बाद छात्र उग्र हो गए और नारेबाजी करने लगे। हालात को काबू करने के लिए पुलिस ने छात्रों को हिरासत में ले लिया। 

Web Title: Delhi Police detains protesters who were sloganeering outside Jamia Millia Islamia University

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे