Coronavirus: Oxford University Indian-origin professor led study on COVID19, says something important | Coronavirus: Oxford यूनिवर्सिटी के भारतीय मूल के प्रोफेसर ने किया कोविड-19 पर अध्ययन का नेतृत्व, कही जरूरी बात
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (फाइल फोटो)

Highlightsऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के भारतीय मूल के एक प्रोफेसर ने कोविड-19 के विश्लेषण के लिए किए गए एक नए अध्ययन का नेतृत्व किया है।अध्ययन में संकेत मिला है कि कोरोना वायरस के संपर्क में आने वाले लोगों में से ज्यादातर लोग या तो इससे कम प्रभावित हुए हैं या फिर बीमार नहीं पड़े हैं ।

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के भारतीय मूल के एक प्रोफेसर ने कोविड-19 के विश्लेषण के लिए किए गए एक नए अध्ययन का नेतृत्व किया है जिससे संकेत मिला है कि कोरोना वायरस के संपर्क में आने वाले लोगों में से ज्यादातर लोग या तो इससे कम प्रभावित हुए हैं या फिर बीमार नहीं पड़े हैं ।

सुनेत्र गुप्ता ने अन्य सहकर्मियों के साथ इस अध्ययन को अंजाम दिया। गुप्ता ने कहा, ‘‘चाहे 100 में से एक व्यक्ति गंभीर रूप से बीमार पड़ता हो तब भी आपको 35 प्रतिशत रोग प्रतिरोधक क्षमता और हासिल करने की आवश्यकता है।’’

विश्वविद्यालय के नए अध्ययन में कहा गया है कि हो सकता है कि ब्रिटेन में वायरस मध्य जनवरी से फैल रहा हो, पहला मामला सामने आने से लगभग दो सप्ताह पहले और पहली मौत से एक महीने पहले और हो सकता है कि यह लगभग आधी आबादी को पहले ही संक्रमित कर चुका हो।

प्रोफेसर गुप्ता और उनकी टीम ने कहा कि इस बारे में बेहतर सूचना की आवश्यकता है कि आबादी के कितने प्रतिशत लोग संवेदनशील हैं।

Web Title: Coronavirus: Oxford University Indian-origin professor led study on COVID19, says something important
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे