भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या 124,794 हो गई है और यह आंकड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है। चीन से निकले इस खतरनाक वायरस से देश में अब तक 3,726 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले दो महीनों से लॉकडाउन में ढील दी गई है जिससे मरीजों की संख्या ने रफ्तार पकड़ी है। इस बीच शोधकर्ताओं की एक टीम के अध्ययन में कहा गया है कि 21 से 28 जून के बीच कोरोना वायरस संक्रमण के हर दिन सर्वाधिक करीब 7,000-7,500 मामले सामने आने की आशंका है।

कोरोना वायरस का कहर तेजी से बढ़ रहा है और इस वायरस से दुनियाभर में अब तक 5,303,992 लोग प्रभावित हो चुके हैं। चीन से महामारी बनकर निकला यह वायरस 215 देशों में फैल चुका है और इस वायरस से अब तक 340,003 लोगों की जान चली गई। 

जून में बढ़ेंगे कोरोना के मामले

अध्ययन में अनुमान लगाया गया है कि जून के अंत तक कोविड-19 के मामलों में इजाफा होते रहेगा । शोध में शामिल यादवपुर विश्वविद्यालय के एक वरिष्ठ प्रोफेसर नंदादुलाल बैरागी ने बताया, ‘‘जुलाई के दूसरे सप्ताह से संक्रमण के मामले हर दिन घटने लगेंगे ।’’ संक्रमण रोकने के उपायों, जांच बढ़ाने से अक्टूबर तक मामले कम हो जाने का अनुमान है।

यादवपुर विश्वविद्यालय में गणितीय जीवविज्ञान और पारिस्थितिकी (बीएमबीई) केंद्र के प्रोफेसर और संयोजक बैरागी और पांच अन्य अध्ययनकर्ताओं ने यह शोध किया है।

भारत सरकार के विज्ञान और इंजीनियरिंग अनुसंधान बोर्ड द्वारा मंजूर गणितीय प्रारूप पर अध्ययन में कोविड-19 के मामले से जुड़े आंकड़ों का विश्लेषण किया गया।

अक्टूबर में मिलेगी कोरोना से राहत

बैरागी ने कहा कि अक्टूबर के पहले सप्ताह में देश में पांच लाख मामले हो जाएंगे और इसके बाद इसमें गिरावट आने लगेगी। उन्होंने कहा कि कई लोग बिना लक्षण वाले मरीजों के संपर्क में आने से संक्रमित होंगे। इस कारण से संक्रमण के मामले बढ़ेंगे।

वरिष्ठ शोधकर्ता ने कहा कि कोई दवा और टीका नहीं होने के कारण भारत को आर्थिक गतिविधियों को चालू करने के उपायों पर गौर करते हुए संक्रमण रोकने के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को जारी रखना होगा।

कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण 148 और लोगों की मौत हो जाने के बाद देश में इस घातक वायरस से मरने वाले लोगों की कुल संख्या बढ़कर 3,583 हो गई है जबकि संक्रमण के एक दिन में अब तक के सर्वाधिक 6,088 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,18,447 हो गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शु्क्रवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय ने बताया कि बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे से 148 लोगों की इस वायरस के कारण मौत हो गई और 6,088 नए मामले सामने आए। उसने बताया कि देश में 66,330 संक्रमित लोगों का उपचार चल रहा है, संक्रमित हुए 48,533 लोग अब स्वस्थ हो गए हैं और एक मरीज विदेश चला गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘अभी तक करीब 40.97 प्रतिशत मरीज संक्रमण से उबर चुके हैं।’’ जिन लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई हैं, उनमें विदेशी भी शामिल हैं। बृहस्पतिवार सुबह से संक्रमण के कारण जिन 148 लोगों की मौत हुई है, उनमें महाराष्ट्र के 64, गुजरात के 24, दिल्ली के 18, उत्तर प्रदेश के 11, तमिलनाडु के सात, पश्चिम बंगाल के छह, तेलंगाना के पांच, राजस्थान के चार, मध्यप्रदेश के तीन, जम्मू-कश्मीर के दो और बिहार, ओडिशा, हरियाणा और पंजाब का एक-एक व्यक्ति शामिल है।

तेलंगाना में कुल मृतक संख्या 45, कर्नाटक में 41 और पंजाब में 39 हो गई है। जम्मू-कश्मीर में इस बीमारी से 20, हरियाणा में 15, बिहार में 11, ओडिशा में सात और केरल एवं असम में चार-चार लोगों की मौत हो चुकी है। मंत्रालय ने बताया कि झारखंड, चंडीगढ़ और हिमाचल प्रदेश में तीन-तीन लोग इस संक्रमण के कारण जान गंवा चुके हैं जबकि मेघालय और उत्तराखंड में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।

मंत्रालय ने बताया कि मृतकों में से 70 प्रतिशत लोग किसी न किसी अन्य बीमारी से भी पीड़ित थे। देश में महाराष्ट्र में सर्वाधिक संख्या में लोग संक्रमित पाए गए हैं, जहां संक्रमण के 41,642 मामले हैं, इसके बाद तमिलनाडु में 13,967, गुजरात में 12,905, दिल्ली में 11,659 , राजस्थान में 6,227, मध्य प्रदेश में 5,981 और उत्तर प्रदेश में 5,515 मामले सामने आए हैं।

कोविड-19 मामलों की संख्या पश्चिम बंगाल में 3,197, आंध्र प्रदेश में 2,647 और पंजाब में 2,028 हो गई है। संक्रमण के मामले बिहार में 1,982, तेलंगाना में 1,699, कर्नाटक में 1,605, जम्मू-कश्मीर में 1,449 और ओडिशा में 1,103 तक पहुंच गये हैं। हरियाणा में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक 1,031 मामले सामने आए हैं, जबकि केरल में 690 मामले हैं।

कोरोना वायरस से बचाव के अन्य टिप्स (Coronavirus tips in Hindi)

हर किसी को मास्क पहनने की जरूरत नहीं 
तभी पहनें जब खांसी, बुखार जुकाम आदि हो 
कोरोना के मरीज की देखभाल कर रहे हों 
आप डॉक्टर, नर्स या अन्य चिकित्साकर्मी हों 
खांसी, बुखार या सांस लेने में परेशानी होने पर जांच कराएं 
आपने हाल में विदेश यात्रा की हो 
इसके लिए सरकार के हेल्पलाइन नंबर 011-23978046 पर फोन करें

कोरोना वायरस से बचने के उपाय (Coronavirus prevention tips in Hindi)

खांसने, छीकने, बीमारी व्यक्ति को हाथ लगाने, खाना बनाते समय, कूड़ा उठाने, खाने के बाद, बाहर से आने के बाद अपने हाथों को साबुन और पानी से धोयें 
छींकते और खांसते समय अपने मुंह और नाक को कवर रखें
इस्तेमाल किये गए टिश्यू को बंद कूड़ेदान में फेंकें 
छींकते या खांसते समय अपनी आस्तीन को ऊपर रखें 
फ्लू जैसे लक्षणों से पीड़ित लोगों के पास जाने से बचें
मीट और अंडे को अच्छी तरह पकाकर खायें 

मीट काटने के लिए हर बार चाकू को अच्छी तरह धोकर यूज करें 
कच्चे मीट को हाथ में पकड़ने के बाद भी हाथ को अच्छी तरह धोयें 
बीमार पशु का मीट खाने से बचें 
किसी भी तरह के पशु उत्पाद को हाथ लगाने के बाद हाथों को धोयें 
मोहल्ले के किसी भी पालतू या आवारा पशु से दूर रहें 
बुखार और खांसी से पीड़ित किसी भी व्यक्ति के पास जाने से बचें
यदि आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई हो रही है, तो जल्दी से चिकित्सक के पास जायें
जानवरों और फार्म में काम करने वाले लोगों से दूर रहें 
कच्चे या अधपके पशु उत्पादों के सेवन से बचें
अपने घर में दिन में कम से कम दो बार पोंछा लगायें
सफाई के दौरान हाथों में ग्लव्स पहनें

(समाचार एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ)

English summary :
The number of corona patients in India has increased upto 124,794 and this figure continues to grow rapidly. So far, 3,726 people have died in the country due to this corona pandemic. Lockdown has been relaxed for the last two months, which has led to a spurt in the number of patients.


Web Title: Coronavirus in India: Researcher says Covid-19 cases in India to peak between June 21-28
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे