samastipur mob lynching murder missing minor son grocery shopkeeper bihar villagers beaten killed | समस्तीपुर में लापता बच्चे की निर्मम हत्या, गुस्साई भीड़ ने आरोपी को पीट-पीटकर मार डाला
मृतक के शरीर पर जख्म के कई निशान भी मिले हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Highlightsवारदात की सूचना मिलने पर पुलिस फोर्स के साथ रोसड़ा डीएसपी पहुंचकर लोगों को शांत करने में जुटे रहे.सोनू राज का शव आज सुबह बोरिया डीह स्थित बूढ़ी गंडक नदी के किनारे से बरामद किया गया. किशोर के शव के हाथ पैर बंधे थे और गले मे कपडे़ का फंदा लगा हुआ था.

पटनाः बिहार के समस्तीपुर जिले के विभूतिपुर थानान्तर्गत के बोरिया गांव में मॉब लिंचिंग का मामला सामने आया है. जहां लापता बच्चे की हत्या किए जाने के बाद बवाल हो गया और फिर आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोपी की पीट-पीटकर हत्या कर दी.

दरअसल, लापता किशोर सोनू राज का शव मिलने से बवाल मच गया. सोनू की हत्या से गुस्साए ग्रामीणों ने पीट-पीटकर हत्या करने के आरोपी सोनू राय मार डाला. वारदात की सूचना मिलने पर पुलिस फोर्स के साथ रोसड़ा डीएसपी पहुंचकर लोगों को शांत करने में जुटे रहे.

बोरिया डीह स्थित बूढ़ी गंडक नदी के किनारे से बरामद किया गया

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि विभूतिपुर के बोरिया के रहने वाले किराना दुकानदार महेश महतो का 14 साल का बेटा सोनू राज 14 जनवरी की शाम से लापता था. काफी खोजबीन करने के बाद भी उसका कोई पता नहीं चला. सोनू राज का शव आज सुबह बोरिया डीह स्थित बूढ़ी गंडक नदी के किनारे से बरामद किया गया.

किशोर के शव के हाथ पैर बंधे थे और गले मे कपडे़ का फंदा लगा हुआ था. शव को प्लास्टिक में लपेटकर नदी किनारे मिट्टी में दबा दी गई थी. मृत किशोर के शरीर पर जख्म के कई निशान भी मिले. बताया जाता है कि जंगली जानवरों के मिट्टी उकेरने के कारण शव के पैर दिखने लगे. इसके बाद लोगों ने लापता सोनू की लाश होने की आशंका पर मिट्टी हटाई.

सोनू कुमार के लापता हो जाने के सम्बन्ध में थाने में मामला दर्ज करवाया था

उसके बाद ग्रामीणों की आशंका सही साबित हुई. इस संबंध में थाना क्षेत्र के बोरिया डीह वार्ड 12 निवासी महेश महतो ने बेटे सोनू कुमार के लापता हो जाने के सम्बन्ध में थाने में मामला दर्ज करवाया था. मृतक के शरीर पर जख्म के कई निशान भी मिले हैं.

बच्चे की लाश मिलने के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो उठे और आरोपी सोनू राय की पीट-पटीकर हत्या कर दी. बच्चे की मां ने बताया कि सोनू 14 जनवरी को संध्या करीब 6 बजे अपनी मां को यह बोल कर निकला था कि एक घंटे में अपने दोस्तों से मिल कर आ जाऊंगा. लेकिन, वापस नहीं आया. उस दिन शाम 6 बजे से पहले गांव के ही कुछ लड़कों के साथ उसे खेलते हुए देखा गया था. 

Web Title: samastipur mob lynching murder missing minor son grocery shopkeeper bihar villagers beaten killed

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे