Amravati Murder: हत्या की एक रात पहले भी हत्यारों ने की थी मर्डर करने की कोशिश, लेकिन ऐसे बच निकले थे उमेश कोल्हे

By रुस्तम राणा | Published: July 5, 2022 03:57 PM2022-07-05T15:57:50+5:302022-07-05T16:03:02+5:30

अमरावती केमिस्ट उमेश कोल्हे को मारने का पहला प्रयास पिछले दिन किया गया था। हालांकि उस दिन कोल्हे को बख्श दिया गया था क्योंकि उन्होंने अपनी दुकान को जल्दी बंद (9:30 बजे के करीब) कर दिया था।

Caught On CCTV, Amravati Chemist's Murder, Killers Attack Repeatedly | Amravati Murder: हत्या की एक रात पहले भी हत्यारों ने की थी मर्डर करने की कोशिश, लेकिन ऐसे बच निकले थे उमेश कोल्हे

Amravati Murder: हत्या की एक रात पहले भी हत्यारों ने की थी मर्डर करने की कोशिश, लेकिन ऐसे बच निकले थे उमेश कोल्हे

Next
Highlights21 जून को किया गया था केमिस्ट उमेश कोल्हे का मर्डरहमलावरों ने गला रेतकर की थी उनकी हत्याउमेश कोल्हे ने नुपूर शर्मा का किया था समर्थन

अमरावती: महाराष्ट्र के अमरावती में हुई उमेश कोल्हे की बर्बर हत्या की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) कर रही है। इस बीच कोल्हे की हत्या से जुड़ा एक और सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, जिसमें कोल्हे अपने हत्यारों से घिरे हुए हैं और हत्या के हफ्तों बाद सामने आए सीसीटीवी फुटेज में उन पर हमला किया जा रहा है। 21 जून के दानेदार फुटेज में उमेश कोल्हे पर हमला होने के बाद अचानक गिरते हुए दिखाया गया है। हमलावरों मेडिकल की दुकान से लौट रहे उमेश कोल्हे का मोटरसाइकिल पर सवार दो लोगों ने गला रेत दिया था।

अमरावती केमिस्ट उमेश कोल्हे को मारने का पहला प्रयास पिछले दिन किया गया था। हालांकि उस दिन कोल्हे को बख्श दिया गया था क्योंकि उन्होंने अपनी दुकान को जल्दी बंद (9:30 बजे के करीब) कर दिया था। सूत्रों का कहना है कि हत्यारों ने पहले दुकान की रेकी कर ली थी और उन्हें उम्मीद थी कि वह रात 10-10.30 बजे अपनी दुकान बंद कर देंगे।

कोल्हे की कथित तौर पर भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा को उनके समर्थन पर हत्या कर दी गई थी, जिनकी पैगंबर मुहम्मद पर टिप्पणियों से भारत और विदेशों में आक्रोश फैल गया था। केमिस्ट "ब्लैक फ्रीडम" नाम के एक व्हाट्सएप ग्रुप का हिस्सा था, जिसमें हिंदू और मुस्लिम दोनों सदस्य हैं।

व्हाट्सएप चैट पर, कोल्हे ने कथित तौर पर नूपुर शर्मा के समर्थन में कुछ धार्मिक टिप्पणियां कीं। पोस्ट को उनके दोस्त और ग्राहक यूसुफ खान, एक पशु चिकित्सक, ने अन्य व्हाट्सएप ग्रुपों पर साझा किया। इन्हीं में से एक व्हाट्सएप ग्रुप था "कलीम इब्राहिम"।

पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस ग्रुप का सदस्य इरफान खान टिप्पणियों पर भड़क गया था। पुलिस का कहना है कि उसने पांच और सदस्यों के साथ हत्या की योजना बनाई थी। यूसुफ खान, जो मुस्लिम परिवारों की मदद के लिए "रहबर" नामक का एनजीओ चलाता है, यहां तक ​​कि वह अंतिम संस्कार के दौरान कोल्हे के परिवार से मिलने भी आया था। कोल्हे की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किए गए सात लोगों में इरफान खान और यूसुफ खान भी शामिल हैं। 

बता दें कि नूपुर शर्मा को पिछले महीने भाजपा ने पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी के लिए निलंबित कर दिया था, जिसके कारण देशव्यापी विरोध और वैश्विक निंदा हुई थी।

Web Title: Caught On CCTV, Amravati Chemist's Murder, Killers Attack Repeatedly

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे