Pakistan VS England 2022: इस्लामाबाद में राजनीतिक अस्थिरता, पाकिस्तान-इंग्लैंड के बीच रावलपिंडी में एक से पांच दिसंबर के बीच पहला टेस्ट, जानें पीसीबी अध्यक्ष ने क्या कहा

Pakistan VS England 2022: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष रमीज राजा और पाकिस्तान में ब्रिटेन के उच्चायुक्त की मुख्य विपक्षी पार्टी के अध्यक्ष इमरान खान से मुलाकात के बाद रावलपिंडी स्टेडियम में टेस्ट कराने का फैसला किया गया।

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: November 23, 2022 06:49 PM2022-11-23T18:49:21+5:302022-11-23T18:50:58+5:30

Pakistan VS England 2022 imran khanPolitical instability in Islamabad first test Rawalpindi December 1 to 5 PCB chairman said | Pakistan VS England 2022: इस्लामाबाद में राजनीतिक अस्थिरता, पाकिस्तान-इंग्लैंड के बीच रावलपिंडी में एक से पांच दिसंबर के बीच पहला टेस्ट, जानें पीसीबी अध्यक्ष ने क्या कहा

रावलपिंडी में टेस्ट मैच कराने के पीसीबी के फैसले को लेकर चिंता जताई गई थी।

Next
Highlightsइंग्लैंड के खिलाड़ियों की सुरक्षा को कोई खतरा नहीं होगा। रावलपिंडी स्टेडियम या इस्लामाबाद में दोनों टीम के होटल के आसपास कोई रैली या विरोध प्रदर्शन नहीं करें।रावलपिंडी में टेस्ट मैच कराने के पीसीबी के फैसले को लेकर चिंता जताई गई थी।

Pakistan VS England 2022: पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच रावलपिंडी में एक से पांच दिसंबर तक होने वाला पहला टेस्ट इस शहर और पड़ोसी शहर इस्लामाबाद में राजनीतिक अस्थिरता की संभावना के बावजूद तय कार्यक्रम के अनुसार होगा। सूत्रों ने यह जानकारी दी।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष रमीज राजा और पाकिस्तान में ब्रिटेन के उच्चायुक्त की मुख्य विपक्षी पार्टी के अध्यक्ष इमरान खान से मुलाकात के बाद रावलपिंडी स्टेडियम में टेस्ट कराने का फैसला किया गया। इमरान की पार्टी ने इन दोनों शहरों में 26 और 27 नवंबर बड़ी रैली के आयोजन की योजना बनाई है।

सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट कप्तान इमरान ने रमीज और ब्रिटेन के उच्चायुक्त को आश्वासन दिया है कि मैच में कोई व्यवधान नहीं होगा और ना ही इंग्लैंड के खिलाड़ियों की सुरक्षा को कोई खतरा होगा। सूत्र ने कहा, ‘‘इमरान ने रमीज को कहा है कि इस्लामाबाद और रावलपिंडी में आ रहे पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के कार्यकर्ताओं को कहा गया है कि वे रावलपिंडी स्टेडियम या इस्लामाबाद में दोनों टीम के होटल के आसपास कोई रैली या विरोध प्रदर्शन नहीं करें।’’

रावलपिंडी में टेस्ट मैच कराने के पीसीबी के फैसले को लेकर चिंता जताई गई थी क्योंकि राजनीतिक पार्टियां अतीत में अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों का इस्तेमाल अपने एजेंडे के प्रचार के लिए करती रही हैं। राजनीतिक अस्थिरता के कारण अगर इंग्लैंड की टीम के सुरक्षा अधिकारियों या स्थानीय प्रशासन को दोनों टीम की सुरक्षा को लेकर कोई चिंता होती तो पीसीबी ने पहले टेस्ट को स्थानांतरित करने को लेकर वैकल्पिक योजना तैयार की थी। इंग्लैंड की टीम अभी अबुधाबी में ट्रेनिंग कर रही है और 27 नवंबर को इस्लामाबाद पहुंचेगी।

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ने इसी दिन अपने कार्यकर्ताओं को इस्लामाबाद में जुटने को कहा है। दूसरा टेस्ट मुल्तान में नौ से 13 दिसंबर और तीसरा टेस्ट कराची में 17 से 21 दिसंबर तक खेला जाएगा। इंग्लैंड की टीम 17 साल में पहली बार पाकिस्तान का दौरा कर रही है।

पीसीबी टी20 विश्व कप और एशिया कप के फाइनल में पहुंचने वाली टीम को करेगा सम्मानित

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) इस साल एशिया कप और टी20 विश्व कप में उपविजेता रही बाबर आजम की अगुवाई वाली टीम के सदस्यों को इस्लामाबाद में आयोजित एक कार्यक्रम में गुरुवार को सम्मानित करेगा।   इस समारोह के लिए पाकिस्तान टेस्ट टीम के सदस्यों को भी आमंत्रित किया गया है, जिसमें राजनयिक, राजनीतिक हस्तियां, पूर्व कप्तान और खिलाड़ी शामिल होंगे।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के एक सूत्र ने कहा, ‘‘ इसका उद्देश्य खिलाड़ियों को दो बड़े टूर्नामेंटों में उनके प्रदर्शन के लिए सम्मान और सराहना देना है।’’ सूत्र ने कहा कि दोनों बड़े टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने पर खिलाड़ियों को कुछ आर्थिक पुरस्कार भी मिल सकता हैं।

पाकिस्तान संयुक्त अरब अमीरात में एशिया कप का फाइनल श्रीलंका से हार गया था और फिर इस महीने की शुरुआत में मेलबर्न में टी20 विश्व कप फाइनल में इंग्लैंड ने उसे शिकस्त दी थी। पिछले साल भी पाकिस्तान टीम दुबई में टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रही थी लेकिन ऑस्ट्रेलिया से हार गई थी।

सूत्र ने कहा कि पीसीबी अध्यक्ष पहले ही बाबर और मुख्य कोच सकलेन मुश्ताक से मिल चुके हैं और उनके साथ इन दोनों बड़े टूर्नामेंटों में खिलाड़ियों के प्रदर्शन और भविष्य की योजनाओं को लेकर चर्चा कर चुके है। इस सूत्र ने बताया, ‘‘रमीज (राजा) ने इस बात की सराहना की कि टीम ने दो बड़े फाइनल में जगह बनाई लेकिन यह कहा कि खिलाड़ियों को सभी प्रारूपों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए अब भी कुछ क्षेत्रों में सुधार करना होगा।’’

Open in app