भारतीय महिला टीम का कोच बनने के लिए इन 13 पूर्व खिलाड़ियों ने किया आवेदन, जानें कब होगा चुनाव

भारतीय महिला क्रिकेट टीम के नए कोच की तलाश रोमांचक होती जा रही है। कोच के पद के लिए 13 पूर्व खिलाड़ियों ने आवेदन किया है।

By सुमित राय | Published: December 14, 2018 12:23 PM2018-12-14T12:23:22+5:302018-12-14T12:23:22+5:30

13 apply for Indian women's cricket team coach job | भारतीय महिला टीम का कोच बनने के लिए इन 13 पूर्व खिलाड़ियों ने किया आवेदन, जानें कब होगा चुनाव

भारतीय महिला टीम

Next

भारतीय महिला क्रिकेट टीम के नए कोच की तलाश रोमांचक होती जा रही है। कोच के पद के लिए 13 पूर्व खिलाड़ियों ने आवेदन किया है और इस पद के लिए 20 दिसंबर को मुंबई स्थित बीसीसीआई मुख्यालय में इंटरव्यू होगा और इसके बाद कोच का चुनाव होगा। यह नियुक्ति पूर्णकालिक होगी और अनुबंध दो साल के लिए होगा।

बता दें कि सीनियर खिलाड़ी मिताली राज और कोच रमेश पोवार के बीच मतभेद के बीसीसीआई ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम के नए कोच के लिए आवेदन मंगाया था। बोर्ड किसी इंटरनेशनल क्रिकेटर को यह जिम्मेदारी सौंपना चाहता है, जो इंटरनेशनल क्रिकेट में खुद को साबित कर चुका हो। बोर्ड ने कोच के पद के लिए उम्मीदवार की उम्र 60 साल से कम निर्धारित की है।

भारतीय महिला क्रिकेट टीम के कोच के लिए जिन पूर्व खिलाड़ियों ने आवेदन किया है उनमें इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर और संयुक्त अरब अमीरात के मुख्य कोच डेव व्हाटमोर, पूर्व दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर और कुवैत के मुख्य कोच ओवेस शाह, इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी दिमित्री मस्करेनहास, डोमिनिक थॉर्नली और कॉलिन सिल्लर विदेशी खिलाड़ी हैं, जिन्होंने कोच पद के लिए आवेदन किया है।

भारतीयों की बात करें तो अतुल बेडेड, ओमान के मुख्य कोच डेविड जॉनसन, राकेश शर्मा, मनोज प्रभाकर, विद्या जयसिम्हा और रमेश पोवार ने महिला टीम को कोच के लिए आवेदन किया है। गार्गी बनर्जी अकेली महिला आवेदक हैं, जिन्होंने कोच पद के लिए बोर्ड को आवेदन भेजा है।

बीसीसीआई के सूत्रों के अनुसार, बोर्ड वेस्टइंडीज में हुए आईसीसी महिला विश्व टी20 के दौरान टीम के सेमीफाइनल में हारने तथा मिताली और कोच पोवार के बीच मतभेद जैसी स्थिति फिर नहीं चाहता है। इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में मिताली को बाहर रखने के कारण विवाद पैदा हुआ था । भारत को इंग्लैंड ने उस मैच में आठ विकेट से हराया । मिताली ने आरोप लगाया कि पोवार उन्हें बर्बाद करना चाहते हैं जबकि कोच ने उनके रवैये पर सवाल उठाये थे । 

पोवार की नियुक्ति अगस्त में हुई थी जब तुषार अरोठे ने सीनियर खिलाडिय़ों के साथ मतभेद के कारण पद छोड़ दिया था। बीसीसीआई ने इस पद के लिए जो योग्यता तय की हैं उसमें उम्मीदवार के पास किसी अंतरराष्ट्रीय टीम को एक सत्र तक कोचिंग देने का अनुभव होना या किसी टी20 फ्रेंचाइजी के साथ दो सत्र तक कोचिंग देने का अनुभव शामिल है।

बीसीसीआई की जरूरत के मुताबिक उम्मीदवार के पास, 'विभिन्न पृष्ठभूमि और संस्कृतियों के लोगों के साथ सामंजस्य बैठाने और बातचीत करने की क्षमता होनी चाहिए और उसने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत या किसी अन्य देश का प्रतिनिधित्व किया हो या उसके पास कोचिंग में एनसीए लेवल ‘सी’ का प्रमाण पत्र या इसी स्तर की किसी संस्था का प्रमाण पत्र और कम से कम 50 प्रथम श्रेणी मैचों का अनुभव होना चाहिए।'

Open in app