Al Jazeera documentary claims Top international cricketers involved in spot-fixing | 15 मैचों में की गई थी 26 बार स्पॉट फिक्सिंग, ऑस्ट्रेलिया-पाक समेत बड़े देशों के क्रिकेटर शामिल
अल जजीरा की डॉक्यूमेंट्री का दावा 15 मैचों में की गई थी 26 बार स्पॉट फिक्सिंग

आईसीसी के रडार पर चल रहे कथित मैच फिक्सर अनील मुनवर ने दावा किया है कि साल 2011-12 में 15 इंटरनेशनल मैचों में 26 बार स्पॉट फिक्सिंग हुई थी और इसमें इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया व पाकिस्तान के खिलाड़ी शामिल थे। अल जजीरा की की डॉक्यूमेंट्री में इस बात का खुलासा हुआ है, जो रविवार को प्रसारित की गई। इसी साल मई महीने में भी अल जजीरा ने क्रिकेट में स्पॉट फिक्सिंग को लेकर 54 मिनट की एक डॉक्यूमेंट्री में खुलासा किया था, जिसमें फिक्सिंग का खुलासा किया गया था।

डॉक्यूमेंट्री के अनुसार साल 2011-12 के दौरान छह टेस्‍ट, छह वनडे और तीन वर्ल्‍ड टी-20 मैचों में फिक्सिंग हुई थी। इसमें सात मैचों में इंग्‍लैंड, पांच में ऑस्‍ट्रेलिया, तीन में पाकिस्‍तान और एक में किसी अन्य दूसरे देश के क्रिकेटर ने फिक्सिंग की थी।

अल जजीरा की डॉक्यूमेंट्री 'क्रिकेट के मैच फिक्सर्स: द मुनवर फाइल्स' में दावा किया गया है कि फिक्सिंग में भारत-इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स में खेला गया टेस्ट मैच, साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच 2011 में ही केप टाउन मं खेला टेस्ट मैच शामिल है। इसके अलावा 2011 वर्ल्ड कप के 5 मैचों में और 2012 वर्ल्ड टी-20 के 3 मैचों में भी फिक्सिंग का दावा किया गया है।

डॉक्यूमेंट्री में यह भी दावा किया गया है कि इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच 2012 में खेले गए तीनों टेस्ट मैचों में भी फिक्सिंग की गई थी। अल जजीरा को कई ऐसी फाइल मिली हैं जिसमें मुनव्वर की कॉल रिकॉर्डिंग शामिल है, जिसमें उसने दिनेश खंबत को फोन किया। खंबत दिनेश कलगी का साथी रहा जिसकी साल 2014 में मौत हो गई थी।

है। यही नहीं, अगर रिपोर्ट की माने तो 2011 में भारत-इंग्लैंड के बीच खेला गया लॉर्ड्स टेस्ट, इस साल दक्षिण अफ्रीका-ऑस्ट्रेलिया का केपटाउन टेस्ट भी शक के घेरे में है। 2011 विश्व कप के 5 और 2012 वर्ल्ड टी20 के तीन मैचों में भी फिक्सिंग का दावा किया गया है। इसमें 2012 में यूएई में इंग्लैंड-पाकिस्तान के बीच हुए तीन टेस्ट मैचों में हुई सफल स्पॉट फिक्सिंग का भी जिक्र किया गया है।

डॉक्यूमेंट्री में मुनवर की 2011 विश्व कप में इंग्लैंड के क्रिकेटर से मैच के ठीक पहले बातचीत का उल्लेख भी किया गया है। मुनवर को कहते हुए सुना गया, 'एशेज के लिए बधाई। पिछली बार के पैसे जल्द ही खाते में जाने वाले हैं। एक सप्ताह में पैसे मिल जाएंगे।' इस पर खिलाड़ी का जवाब आता है, 'शानदार।' हालांकि जब इस क्रिकेटर (जिसका नाम नहीं बताया गया) से पूछा गया तो उन्होंने साफ तौर पर इनकार किया और इस ऑडियो को 'झूठा' करार दिया।

अलजजीरा की इस डॉक्यूमेंट्री में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा की फोटो मुनवर के साथ दिखाया गया है। कोहली और रोहित के साथ यह तस्वीर साल 2012 के अक्टूबर की कोलंबों के एक होटल की है। हालांकि इसमें कोहली द्वारा ऐसे किसी काम में शामिल होने का जिक्र नहीं किया गया है। इसके अलावा पाकिस्तानी क्रिकेटर उमर अकमल को 'डी कंपनी' के एक सदस्य से होटल लॉबी में मुलाकात करते दिखाया गया है। बता दें कि इस साल जून में अकमल को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की ऐंटी करप्शन यूनिट ने समन भेजा था जब उन्होंने कहा कि 2015 वर्ल्ड कप और हॉन्ग कॉन्ग सुपर सीरीज के दौरान मैच फिक्सरों ने उन्हें जाल में फंसाने का प्रयास किया था।

अलजजीरा की इस डॉक्यूमेंट्री के सामने आने के बाद आईसीसी ने साफ किया है कि वो पूरे मामले की जांच करेगी। आईसीसी की ऐंटी करप्शन यूनिट के जनरल मैनेजर एलेक्स मार्शल ने बयान जारी कर कहा कि क्रिकेट की यह वैश्विक संस्था मामले की पूरी जांच करेगी। उन्होंने कहा, 'हम इस डॉक्यूमेंट्री के कॉन्टेंट को फिर से देखेंगे और हर तरह के आरोपों की जांच की जाएगी। हमारे पास खेल से भ्रष्टाचार को दूर करने के लिए पहले से काफी ज्यादा संसाधन हैं।'


Web Title: Al Jazeera documentary claims Top international cricketers involved in spot-fixing
क्रिकेट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे