पवन देशपांडे

भारत में #MeToo मूवमेंट की शुरुआत करने वाली अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा अभिनेता नाना पाटेकर पर लगाये गये आरोपों की पुष्टि उस दिन सेट पर मौजूद एक स्पॉटबॉय ने की है। रामदास बोर्डे ने लोकमत से खास बातचीत में बताया है कि उस दिन फिल्म के सेट पर क्या हुआ था। रामदास बोर्डे ने लोकमत से कहा है कि वो अपनी जान और करियर दोनों की कीमत पर अदालत में जाकर सच बताने को तैयार हैं। बोर्डे के अनुसार  'Horn 'Ok' Pleassss' के सेट पर अभिनेत्री तनुश्री दत्तानाना पाटेकर की वैनिटी वैन से बाहर आईं और चिल्लाना शुरू कर किया। तनुश्री दत्ता नाना पाटेकर की शिकायत कर रही थीं। उस दिन बहुत से लोग वहां मौजूद थे लेकिन कोई भी सामने नहीं आ रहा है। लेकिन फिल्म सेट पर मौजूद रामदास बोर्डे ने लोकमत को बताया कि उस दिन उन्होंने वहां क्या देखा?

तनुश्री दत्ता के साथ उस दिन क्या हुआ? 

'Horn 'Ok' Pleassss' के सेट पर कुछ टेक हो चुके थे। तब नाना पाटेकर ने एक लड़के के माध्यम से अपनी वैनिटी वैन में तनुश्री को बुलाया। अंदर क्या हुआ ये तो बस वो दोनों जानते हैं लेकिन थोड़ी देर में, तनुश्री गुस्से में बाहर आ गईं। वो गणेश आचार्य और फिल्म निर्माताओं से अंग्रेजी में शिकायत करने लगीं। शुरुआत में सभी को यह भी नहीं पता था कि क्या हो रहा था। तनुश्री दत्ता जिस तरह से बात कर रही थीं उससे साफ था कि नाना ने कुछ तो गलत किया था। सभी लोग उसे समझाने की कोशिश कर रहे थे। नाना एक बड़ा आदमी है। हर किसी ने तनुश्री को बताया कि आपका करियर बर्बाद हो जाएगा लेकिन तनुश्री सुनने के लिए तैयार नहीं थी। वो गुस्से में बता रही थीं कि नाना पाटेकर के वैनिटी वैन में उनके साथ क्या हुआ।उसके साथ अन्याय हुआ था। एक पल में, वह चली गयी। कुछ समय बाद, नाना पाटेकर बाहर आए और ऐसे दिखाया जैसे कुछ भी नहीं हुआ। लेकिन वहां मौजूद बाकी लोग नाना पाटेकर को संदेह की नजरों से देख रहे थे। शूटिंग देखने वालों और सभी स्पॉटबॉय को नाना पाटेकर पर काफी गुस्सा आ रहा था। वहां कई लोग कह रहे थे कि नाना पाटेकर की शिकायत की जानी चाहिए लेकिन सभी को अपनी-अपनी नौकरी की चिंता थी और उसमें से एक मैं भी था, इसलिए नाना के खिलाफ कुछ हुआ नहीं।  कोई और नहीं आया। 

लोकमत की इस एक्सक्लुसिव न्यूज़ को मराठी में पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

राखी सावंत झूठ बोल रही हैं?
राखी सावंत ने बयान दिया कि तनुश्री को नशे की लत थी, और गणेश आचार्य के फोन के बाद, मैं तुरंत सेट पर पहुंची थी लेकिन उनका बयान गलत है। अगर तनुश्री ने नशा किया होता तो वो सेट पर तीन-चार टेक नहीं दे पाती। राखी सावंत उस दिन सेट पर नहीं आयी थी इसलिए वो जो भी कह रही है झूठ है। उस दिन के बाद अगले दो दिन तक शूटिंग बन्द रही थी। 

तनुश्री दत्ता मामले में अदालत में गवाही देने को तैयार

रामदास बोर्डे ने इस मामले में कहा कि मैं अदालत में गवाह देने के लिए तैयार हूं। उन्होंने कहा, "तनुश्री के साथ जो हुआ वो बहुत सी नई अभिनेत्रियों के साथ होती है।" मैं उन मामलों के लिए न्याय पाने के लिए आगे आया हूं। मुझे अपने जीवन और मेरे करियर की परवाह नहीं है। मेरा मकसद है कि सच्चाई सामने आनी चाहिए।

तनुश्री दत्ता करा चुकी हैं FIR

तनुश्री दत्ता ने फिल्म  'Horn 'Ok' Pleassss' (2009) के सेट पर यौन शोषण मामले में नाना पाटेकर, गणेश आचार्य, सामी सिद्दीकी और निर्देशक राकेश सारंग के खिलाफ FIR दर्ज करायी है। मुंबई पुलिस ने तनुश्री दत्ता से करीब पाँच घंटे तक पूछताछ करने के बाद मामले में एफआईआर दर्ज की। इसके अलावा संपत्ति की तोड़फोड़ और धमकी के लिए तनुश्री ने राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के कार्यकर्ताओं के खिलाफ भी शिकायत दर्ज करायी है। पुलिस में दर्ज करायी शिकायत में तनुश्री दत्ता ने उस दिन की वाकये का विस्तार से जिक्र किया है।

नाना पाटेकर की तनुश्री दत्ता के आरोपों पर सफायी

अपने अभिनय के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुके अभिनेता नाना पाटेकर ने तनुश्री दत्ता द्वारा लगाये गये सभी आरोपों को गलत बताया। नाना पाटेकर ने मीडिया से कहा था कि जो 10 साल पहले गलत था वो गलत रहेगा। नाना पाटेकर के वकील ने कहा था कि वो इस मामले में तनुश्री दत्ता को कानूनी नोटिस भेजकर माफी माँगने के लिए कहेंगे।  

कौन हैं तनुश्री दत्ता

तनुश्री दत्ता एक बॉलीवुड एक्ट्रेस हैं। इनका जन्म 19 मार्च, 1984 में हुआ था। इनकी पहचान फिल्मों में बतौर बोल्ड एक्ट्रेस की तरह है। 2003 में तनुश्री दत्ता ने मिस इंडिया का खिताब भी जीता था। तनुश्री दत्ता की पहली 'आशिक बनाया आपने' थी। तनुश्री ने तकरीबन 15 फिल्मों में क्या किया है। 

नाना पाटेकर का परिचय

फिल्म अभिनेता और निर्माता नाना पाटेकर का जन्म एक जनवरी 1951 को महाराष्ट्र में हुआ था। नाना पाटेकर ने मुंबई के प्रतिष्ठित जेजे स्कूल ऑफ आर्ट से पढ़ाई की है। हिन्दी फिल्मों में आने से पहले पाटेकर रंगमंच और मराठी सिनेमा में काम करते थे। बॉलीवुड में उन्होंने 1978 में गमन फिल्म से डेब्यू किया। नाना पाटेकर को अंकुश (1986), प्रतिघात (1987), सलाम बॉम्बे (1988) और परिंदा (1989) जैसी फिल्में से खुद को सशक्त अभिनेता के रूप में स्थापित किया। परिंदा के लिए पाटेकर को बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का नेशनल अवार्ड मिला। नाना पाटेकर को 1995 में आई फिल्म क्रांतिवीर के लिए बेस्ट एक्टर का नेशनल अवार्ड मिला। 1997 में उन्हें अग्निसाक्षी फिल्म के लिए दोबारा बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का नेशनल अवार्ड मिला। गंभीर और लोकप्रिय दोनों ही तरह की फिल्मों में समान रूप से सफल नाना पाटेकर को कला क्षेत्र में उनके योगदान के लिए साल 2013 में भारत सरकार पद्म श्री से सम्मानित किया।

English summary :
Eyewitness told Lokmat and Lokmat News that what was happened between Tanushree Dutta and Nana Patekar on the set of Horn 'Ok' Pleassss.


Web Title: #MeToo Movement Eyewitness told real account of Tanushree Dutta Nana Patekar sexual harassment case Lokmat Exclusive
बॉलीवुड चुस्की से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे