चीन: एप्पल के कारखाने में कई प्रदर्शनकारी कर्मचारियों को पुलिस ने पीटा-लिया हिरासत में, घटना के कई वीडियो हुए वायरल

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: November 23, 2022 05:57 PM2022-11-23T17:57:20+5:302022-11-23T18:07:05+5:30

आपको बता दें कि चीनी सोशल मीडिया पर उपलब्ध झोंगझोउ स्थित कारखाने के वीडियो में नकाब पहने हजारों प्रदर्शनकारी सफेद सुरक्षात्मक सूट पहने पुलिसकर्मियों का सामना करते नजर आ रहे हैं।

chinese zhongzhou area worker beaten custody by police apple Foxconn factory viral video | चीन: एप्पल के कारखाने में कई प्रदर्शनकारी कर्मचारियों को पुलिस ने पीटा-लिया हिरासत में, घटना के कई वीडियो हुए वायरल

फोटो सोर्स: सोशल मीडिया

Next
Highlightsचीन के झोंगझोउ में एप्पल के कारखाने में प्रदर्शनकारी कर्मचारियों को पीटा गया है। इस घटना के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। ऐसे में इस घटना पर बोलते हुए पुलिस ने कहा कि वे संविदा के उल्लंघन का विरोध कर रहे थे।

बीजिंग:चीन स्थित एप्पल आईफोन के दुनिया के सबसे बड़े कारखाने में कर्मचारियों को कोरोना वायरस के कारण लागू प्रतिबंधों के बीच संविदा संबंधी विवाद के चलते पीटा गया और हिरासत में रखा गया है। 

सोशल मीडिया पर बुधवार को पोस्ट किए गए कुछ वीडियो में यह नजर आ रहा है और प्रत्यक्षदर्शियों ने भी यह जानकारी दी है। 

वीडियो में क्या दिखा

चीनी सोशल मीडिया पर उपलब्ध झोंगझोउ स्थित कारखाने के वीडियो में नकाब पहने हजारों प्रदर्शनकारी सफेद सुरक्षात्मक सूट पहने पुलिसकर्मियों का सामना करते नजर आ रहे हैं। एक व्यक्ति के सिर पर डंडा मारा गया और एक अन्य को उसके हाथ पीछे की ओर बांधकर ले जाया गया। सोशल मीडिया पर की गई पोस्ट में कहा गया कि ये लोग संविदा के उल्लंघन का विरोध कर रहे थे। 

आपको बता दें कि चीन में कोरोना वायरस संक्रमण को कारण लंबे समय तक दुकानें एवं कार्यालय बंद रहे और लाखों लोगों को कई सप्ताह तक घरों में बंद रहना पड़ा। इन प्रतिबंधों से परेशान लोगों ने कुछ इलाकों में प्रदर्शन किए हैं। 

इससे पहले ताइवान स्थित फॉक्सकॉन कारखाने से भाग गए थे कर्मचारी

पिछले महीने हजारों कर्मचारी कोरोना वायरस के खिलाफ सुरक्षा के अपर्याप्त उपायों और बीमार पड़ने वाले सहकर्मियों को कोई मदद नहीं मिलने की शिकायतों के कारण ताइवान स्थित फॉक्सकॉन टेक्नोलॉजी ग्रुप कंपनी द्वारा संचालित कारखाना छोड़कर चले गए थे। 

कर्मचारियों ने क्या कहा

कारखाने के कर्मचारी ली संशान ने बताया कि अधिक वेतन के प्रस्ताव के कारण नौकरी करने आए नए कर्मचारियों के लिए शर्तों में बदलाव किए जाने पर उन्होंने मंगलवार को प्रदर्शन किए। ली (28) ने कहा कि उन्होंने दो महीने के काम के लिए 25,000 युआन (3,500 अमरीकी डालर) का वादा करने वाले विज्ञापन के कारण अपनी नौकरी छोड़ दी थी। 

उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को बताया गया कि 25,000 युआन प्राप्त करने के लिए उन्हें कम वेतन पर दो अतिरिक्त महीने काम करना होगा, जिससे वे नाराज हो गए। ली ने कहा, ‘‘फॉक्सकॉन ने भर्ती के लिए बहुत लुभावना प्रस्ताव दिया और देश भर से लोग काम करने आए, लेकिन उन्हें पता चला कि उन्हें मूर्ख बनाया जा रहा है।’’ 

चीन में फिर से बढ़ रहे है मामले

बीजिंग समेत चीन में संक्रमण के मामलों में फिर से बढ़ोतरी होने के बीच प्रदर्शन बढ़ गए हैं। प्राधिकारियों ने इस सप्ताह देश में संक्रमण से पिछले छह महीने में पहली मौत होने की जानकारी दी है। सरकार ने मंगलवार को बताया कि पिछले तीन सप्ताह में संक्रमण के 2,53,000 से अधिक मामले पाए गए हैं और दैनिक औसत बढ़ रहा है। 

कारखाने में प्रतिबंध के कारण नए आईफोन 14 के मॉडलों के मिलने में होगी देरी- एप्पल

गौरतलब है कि एप्पल इंक ने पहले चेतावनी दी थी कि झेंगझोउ कारखाने पर लगाए गए प्रतिबंधों के कारण नए आईफोन 14 मॉडल बाजार में देरी से उपलब्ध होंगे। शहर की सरकार ने कारखाने के चारों ओर औद्योगिक क्षेत्र में पहुंच को प्रतिबंधित कर दिया था। आपको बता दें कि फॉक्सकॉन कंपनी ने बताया कि इस कारखाने में 2,00,000 लोग कार्यरत हैं। 
 

Web Title: chinese zhongzhou area worker beaten custody by police apple Foxconn factory viral video

विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे