Hathras case in hindi why such women found dead in millet fields BJP leader shocking remark | 'ऐसी लड़कियां हमेशा बाजरे के खेत में क्यों मरी हुई मिलती हैं', हाथरस कांड पर बीजेपी नेता का शर्मनाक बयान
हाथरस की घटना पर बीजेपी नेता का शर्मनाक बयान (फोटो- वीडियो ग्रैब)

Highlightsयूपी के बाराबंकी के बीजेपी नेता रंजीत बहादुर श्रीवास्तव ने पीड़िता सहित महिलाओं पर की अभद्र टिप्पणीबीजेपी नेता ने दावा किया कि गिरफ्तार आरोपी निर्दोष हैं और इनकी तत्काल रिहाई होनी चाहिए

उत्तर प्रदेश के हाथरस में कथित तौर पर दलित महिला के साथ गैंगरेप, उसकी मौत और फिर रात के अंधेरे में उसके शव को जलाए जाने को लेकर पूरे देश में नाराजगी है। लोग न्याय की मांग कर रहे हैं। इस बीच बीजेपी के एक नेता का बेहद शर्मनाक बयान सामने आया है।

यूपी के बाराबंकी से एक बीजेपी नेता रंजीत बहादुर श्रीवास्तव ने दावा किया है कि दलित महिला के गैंगरेप के मामले में अगड़ी जाति के पकड़े गए चार आरोपी निर्दोष हैं और पीड़िता ही 'आवारा' थी। 

रंजीत बहादुर श्रीवास्तव साथ ही कहते हैं कि पीड़िता का एक आरोपी के साथ अफेयर था। बीजेपी नेता के अनुसार पीड़िता ने 14 सितंबर को आरोपी को बाजरे के खेत में बुलाया था। बता दें कि रंजीत बहादुर के खिलाफ 44 से अधिक क्रिमिनल केस दर्ज हैं।

बहरहाल, बीजेपी नेता का हाथरस केस पर दिया बयान सोशल मीडिया पर वायरल है। इस वीडियो में उन्हें ये कहते सुना जा सकता है, 'पीड़िता ने जरूर लड़के को खेत में बुलाया होगा क्योंकि उनका प्रेम प्रसंग था। ऐसी बातें सोशल मीडिया और न्यूज चैनल पर बाहर आ चुकी हैं। वो पकड़ी गई होगी। अक्सर यही होता है खेतों में।'

बीजेपी नेता यहीं नहीं रूकते और आगे कहते हैं कि 'ऐसी लड़कियां' केवल कुछ खास जगहों पर ही मृत पाई जाती हैं। वे कहते हैं, 'ऐसी लड़कियां केवल कुछ जगहों पर मृत पाईं जाती हैं। वे गन्ने के खेत, मक्के के खेत, बाजरे के खेत या झाड़ियां, नाली या जंगल में मृत पाई जाती हैं। क्यों ये लड़कियां कभी धान या गेहूं के खेत में मिलती हैं?' बीजेपी नेता इस बात पर जोर देते हैं कि हाथरस में पीड़िता के साथ हुई घटना ऑनर किलिंग है। 

बीजेपी नेता चारों आरोपियों की रिहाई की भी मांग करते हैं। वे कहते हैं कि सीबीआई की ओर जब तक चार्जशीट दायर नहीं किया जाता, लड़कों को रिहा करना चाहिए। बीजेपी नेता कहते हैं, 'मैं गारंटी के साथ कह सकता हूं कि लड़के निर्दोष हैं। अगर उन्हें रिहा नहीं किया जाता है तो वे मानसिक यातना सहते रहेंगे। उनकी युवा अवस्था को कौन लौटाएगा? क्या सरकार उन्हें हर्जाना देगी।'

बीजेपी नेता के इन बयानों के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग की चीफ रेखा शर्मा ने कहा, 'वो किसी भी पार्टी के नेता कहलाने लायक नहीं हैं। वे अपनी बीमार मानसिकता को दिखा रहे हैं और मैं उन्हें नोटिस भेजने जा रही हूं।' 

बता दें कि रंजीत बहादुर श्रीवास्तव पहले भी ऐसे विवादित सहित धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाले बयान दे चुके हैं। सीतापुर, लखनऊ और कई अन्य जिलों में उनके खिलाफ 44 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। इससे पहले हाथरस मामले पर बीजेपी के ही बलिया से सांसद सुरेंद्र सिंह ने 'लड़कियों के संस्कार' पर भी बयान दिया था। 

सुरेंद्र सिंह ने कहा था कि सभी माता-पिता अपनी लड़कियों को अच्छे संस्कार दें। ऐसा करने से ही रेप की घटनाएं रुक सकती हैं। सांसद ने कहा कि शासन और तलवार से रेप की घटना रुकने वाली नहीं हैं। सभी माता-पिता का धर्म है कि अपनी बेटी को एक संस्कारिक वातावरण में रहने, चलने और शालीन व्यवहार प्रस्तुत करने का तरीका सिखाएं।

Web Title: Hathras case in hindi why such women found dead in millet fields BJP leader shocking remark
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे