गेंदबाजी नहीं करते हार्दिक , क्या उन्हें हरफनमौला कहेंगे : पूछा कपिल ने

By भाषा | Published: November 26, 2021 01:50 PM2021-11-26T13:50:22+5:302021-11-26T13:50:22+5:30

Hardik does not bowl, will he be called an all-rounder: Kapil asked | गेंदबाजी नहीं करते हार्दिक , क्या उन्हें हरफनमौला कहेंगे : पूछा कपिल ने

गेंदबाजी नहीं करते हार्दिक , क्या उन्हें हरफनमौला कहेंगे : पूछा कपिल ने

Next

कोलकाता, 26 नवंबर भारत के पूर्व कप्तान कपिल देव ने शुक्रवार को पूछा कि क्या हार्दिक पंड्या को हरफनमौला कहा जा सकता है जबकि वह उतनी गेंदबाजी करते ही नहीं हैं ।

सीमित ओवरों के क्रिकेट में भारतीय टीम के अभिन्न अंग पंड्या ने हाल ही में टी20 विश्व कप में सिर्फ दो मैचों में गेंदबाजी की । भारत टूर्नामेंट के ग्रुप चरण से ही बाहर हो गया था।

अपनी फिटनेस से जुड़े कई मसलों का खुलासा नहीं करने के लिये भी पंड्या की आलोचना हो रही है ।उन्हें न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 श्रृंखला के लिये टीम में जगह नहीं मिली । भारत ने श्रृंखला 3 . 0 से जीती ।

कपिल ने रॉयल कलकत्ता गोल्फ कोर्स पर कहा ,‘‘ हरफनमौला कहलाने के लिये उसे दोनों काम करने होंगे । वह गेंदबाजी नहीं कर रहा है तो क्या उसे हरफनमौला कहेंगे । वह चोट से उबर चुका है तो पहले उसे गेंदबाजी करने दीजिये ।’’

भारत के पहले विश्व कप विजेता कप्तान ने कहा ,‘‘ वह भारत के लिये काफी महत्वपूर्ण बल्लेबाज है । गेंदबाजी के लिये उसे काफी मैच खेलने होंगे और अच्छा प्रदर्शन करना होगा । इसके बाद ही हम कह सकेंगे ।’’

कपिल ने यह भी कहा कि कोच के रूप में राहुल द्रविड़ बतौर क्रिकेटर मिली कामयाबी से भी अधिक कामयाब होंगे ।

उन्होंने कहा ,‘‘ वह अच्छा इंसान है और अच्छा क्रिकेटर भी है । वह बतौर क्रिकेटर जितना सफर रहा, कोच के रूप में उससे भी अधिक सफल होगा । ’’

अपने पसंदीदा हरफनमौला के बारे में पूछने पर कपिल ने रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा का नाम लिया ।

उन्होंने कहा ,‘‘ मैं आजकल क्रिकेट का सिर्फ मजा लेने जाता हूं । मेरा काम वही है । मैं आपके नजरिये से नहीं देखता । ’’

उन्होंने पसंदीदा हरफनमौला के बारे में कहा ,‘‘मैं अश्विन का नाम लूंगा । वह जबर्दस्त है । जडेजा भी शानदार क्रिकेटर है लेकिन उसकी बल्लेबाजी बेहतर हुई है तो गेंदबाजी खराब हो गई है ।’’

उन्होंने पहले टेस्ट में शतक जमाने वाले श्रेयस अय्यर की तारीफ करते हुए कहा ,‘‘ जब युवा बल्लेबाज पदार्पण पर शतक बना रहे हों तो समझना खेल सही दिशा में जा रहा है । हमें उसके जैसे क्रिकेटरों की जरूरत है।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Open in app