इन 11 पूर्व खिलाड़ियों के बीच है भारतीय महिला टीम का कोच बनने की टक्कर, इंटरव्यू के बाद होगा फैसला

महिला टीम के नए कोच की नियुक्ति के लिए बीसीसीआई का चयन पैनल इंटरव्यू लेगा, जिसमें गैरी कर्स्टन, हर्षल गिब्स और रमेश पवार समेत कुल 11 दावेदार हिस्सा लेंगे।

By सुमित राय | Published: December 20, 2018 01:27 PM2018-12-20T13:27:47+5:302018-12-20T13:27:47+5:30

Gary Kirsten, Ramesh Powar, Herschelle Gibbs and Manoj Prabhakar among 11 candidates in fray for India women's coach role | इन 11 पूर्व खिलाड़ियों के बीच है भारतीय महिला टीम का कोच बनने की टक्कर, इंटरव्यू के बाद होगा फैसला

रमेश पवार, गैरी कर्स्टन, हर्शल गिब्स और मनोज प्रभाकर

Next

भारतीय महिला क्रिकेट टीम के नए कोच की नियुक्ति के लिए गुरुवार को मुंबई में बीसीसीआई का चयन पैनल इंटरव्यू लेगा, जिसमें गैरी कर्स्टन, हर्शल गिब्स और रमेश पवार समेत कुल 11 दावेदार हिस्सा लेंगे। महिला टीम के कोच के लिए कुल 28 उम्मीदवारों ने आवेदन किया था, जिनमें से 11 खिलाड़ियों को शॉर्टलिस्ट किया गया है।

इन 11 पूर्व खिलाड़ियों के बीच है टक्कर

महिला टीम के कोच के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए 11 नामों में से 5 भारतीय और 6 विदेशी हैं। ये नाम गैरी कर्स्टन, हर्शल गिब्स, रमेश पवार, डब्ल्यूवी रमन, वेंकटेश प्रसाद, मनोज प्रभाकर, ट्रेंट जॉनस्टन, मार्क कोल्स, दिमित्री मास्करेंहास, ब्रैड हॉग और कल्पना वेंकटचार हैं।

ये समिति करेगी कोच का फैसला

इन नामी दावेदारों का इंटरव्यू एक तदर्थ समिति लेगी जिसमें पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी को शामिल किया गया है। कोच का चयन इंटरव्यू के द्वारा किया जाएगा, जिसका आयोजन मुंबई में किया जाएगा। हालांकि अधिकांश विदेशी खिलाड़ी स्काइप के जरिए अपना प्रेजेंटेशन देंगे, जबकि अन्य भारतीय उम्मीदवार निजी तौर पर पहुंचेंगे।

कोच के पद के लिए जरूरी योग्यता

बीसीसीआई ने इस पद के लिए जो योग्यता तय की हैं उसमें उम्मीदवार के पास किसी अंतरराष्ट्रीय टीम को एक सत्र तक कोचिंग देने का अनुभव होना या किसी टी20 फ्रेंचाइजी के साथ दो सत्र तक कोचिंग देने का अनुभव शामिल है। या उसके पास कोचिंग में एनसीए लेवल ‘सी’ का प्रमाण पत्र या इसी स्तर की किसी संस्था का प्रमाण पत्र और कम से कम 50 प्रथम श्रेणी मैचों का अनुभव होना चाहिए। इसके अलावा भारतीय टीम के कोच में विभिन्न पृष्ठभूमि और संस्कृतियों के लोगों के साथ सामंजस्य बैठाने और बातचीत करने की क्षमता होनी चाहिए। बोर्ड ने कोच के पद के लिए उम्मीदवार की उम्र 60 साल से कम निर्धारित की है।

रमेश पवार का हुआ था मिताली राज से विवाद

हाल ही में वेस्टइंडीज में हुए आईसीसी महिला विश्व टी20 में भारतीय टीम के सेमीफाइनल में हारने के बाद मिताली और कोच पोवार के बीच मतभेद जैसी स्थिति पैदा हो गई थी। इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में मिताली को बाहर रखने के कारण विवाद शुरू हुआ था। भारत को इंग्लैंड ने उस मैच में आठ विकेट से हराया था। मिताली ने आरोप लगाया कि पोवार उन्हें बर्बाद करना चाहते हैं, जबकि कोच ने उनके रवैये पर सवाल उठाये थे।

रमेश पवार को खिलाड़ियों का समर्थन

मिताली राज से विवाद के बाद बीसीसीआई ने रमेश पवार के कॉन्ट्रेक्ट को नहीं बढ़ाया था, जो 30 नवंबर को खत्म हुआ था। टी20 कप्तान हरमनप्रीत कौर और उपकप्तान स्मृति मंधाना के समर्थन के बाद रमेश पवार ने इस पद के लिए फिर आवेदन किया है। हालांकि पहले हुए विवाद पवार के खिलाफ जा सकते हैं। बता दें कि पवार की नियुक्ति अगस्त में हुई थी जब तुषार अरोठे ने सीनियर खिलाड़ियों के साथ मतभेद के कारण पद छोड़ दिया था।

Open in app