IND vs SA ODI Series: 'शतक' पूरा करेंगे मारियास इरासमस, तीसरे दक्षिण अफ्रीकी अंपायर, पाकिस्तान के अलीम डार 211 मैच के साथ सबसे आगे

IND vs SA ODI Series: मारियास  इरासमस 100 वनडे में अंपायरिंग करने वाले दुनिया के 18वें अंपायर बनेंगे।

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: January 18, 2022 08:44 PM2022-01-18T20:44:59+5:302022-01-18T20:47:21+5:30

IND vs SA ODI Series Marais Erasmus become third South African umpire officiate in 100 ODIs Aleem Dar Pakistan leads 211 matches | IND vs SA ODI Series: 'शतक' पूरा करेंगे मारियास इरासमस, तीसरे दक्षिण अफ्रीकी अंपायर, पाकिस्तान के अलीम डार 211 मैच के साथ सबसे आगे

अभी तक 99 वनडे के अलावा 70 टेस्ट, 35 टी20 अंतरराष्ट्रीय और 18 महिला टी20 अंतरराष्ट्रीय में अंपायरिंग कर चुके हैं।

Next
Highlightsहाल में पाकिस्तान के अलीम डार (211 मैच) ने तोड़ा। रूडी कर्टजन और डेविड ओरचार्ड के क्लब में शामिल हो जाएंगे।इरासमस 2007 से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अंपायरिंग कर रहे हैं।

IND vs SA ODI Series:  भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच बुधवार को यहां होने वाला पहला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच मारियास इरासमस का अंपायर के रूप में 100वां वनडे होगा और वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले तीसरे दक्षिण अफ्रीकी अंपायर बन जाएंगे।

दुनिया के सर्वश्रेष्ठ अंपायरों में से एक 57 वर्षीय इरासमस बोलैंड पार्क में मैदान पर उतरते ही रूडी कर्टजन और डेविड ओरचार्ड के क्लब में शामिल हो जाएंगे। कर्टजन ने 1992 से लेकर 2010 तक 209 वनडे में अंपायरिंग करके विश्व रिकार्ड बनाया था। उनका यह रिकार्ड हाल में पाकिस्तान के अलीम डार (211 मैच) ने तोड़ा।

ओरचार्ड ने 1994 से 2003 के बीच 107 वनडे में अंपायरिंग की थी। इरासमस 2007 से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अंपायरिंग कर रहे हैं। वह अभी तक 99 वनडे के अलावा 70 टेस्ट, 35 टी20 अंतरराष्ट्रीय और 18 महिला टी20 अंतरराष्ट्रीय में अंपायरिंग कर चुके हैं।

क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के अनुसार इरासमस ने कहा, ‘‘मुझे गर्व है कि मैं इतने लंबे समय से अंपायरिंग कर रहा हूं कि यह उपलब्धि हासिल कर रहा हूं। ऐसी कड़ी परिस्थितियों में लंबे समय तक बने रहना आसान नहीं है, क्योंकि हम हर समय जांच के दायरे में रहते हैं, इसलिए इस उपलब्धि तक पहुंचने पर मुझे गर्व है।’’ इरासमस 100 वनडे में अंपायरिंग करने वाले दुनिया के 18वें अंपायर बनेंगे।

डिकॉक का टीम में वापस आना अच्छा, वह खुद को साबित करना चाहेंगे: बावुमा

दक्षिण अफ्रीका के सीमित ओवरों के कप्तान तेम्बा बावुमा ने मंगलवार को कहा कि टेस्ट क्रिकेट से अचानक संन्यास लेने वाले क्विंटन डिकॉक भारत के खिलाफ तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में खुद को साबित करना चाहेंगे। दोनों देशों के बीच इस श्रृंखला का आगाज बुधवार से होगा।

बावुमा ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ क्विनी (डिकॉक) को फिर से (टीम में) देखना अच्छा है। जाहिर तौर पर हमें टेस्ट टीम में उनकी कमी खलती है। उन्होंने फैसला कर लिया है और यह एक ऐसा फैसला है जिसका हम सम्मान करते हैं। वह खुद को साबित करना चाहेंगे।’’ बाएं हाथ के आक्रामक बल्लेबाज-विकेटकीपर ने भारत के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला के पहले मैच के बाद खेल के सबसे लंबे प्रारूप से संन्यास की घोषणा की थी। भारत के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला पर बावुमा ने कहा कि वे एक मजबूत टीम के खिलाफ खेलेंगे लेकिन चुनौती के लिए तैयार हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘ सीमित ओवरों के प्रारूप में भारत एक मजबूत टीम है। हम उनकी टीम का वैसे ही सम्मान करते हैं जैसे अन्य टीमों का करते हैं। टेस्ट श्रृंखला को देखते हुए हम जानते हैं कि यह कठिन मुकाबला होने वाला है।’’ उन्होंने यह भी कहा कि बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मार्को जेनसन को एकदिवसीय टीम में शामिल किया गया है और वह अंतिम एकादश में जगह बनाने की दौड़ में हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘मार्को को एकदिवसीय टीम में शामिल किया गया है। दुनिया ने देखा है कि उसके पास क्रिकेट की क्या क्षमता है। उसे सीमित ओवर की टीम में लाने के लिए ज्यादा दिमाग लगाने की जरूरत नहीं पड़ी। वह अंतिम एकादश में जगह पाने का मजबूत दावेदार है।’’

टीम की गेंदबाजी संयोजन के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘ गेंदबाजी संयोजन के बारे में हमें पार्ल की परिस्थितियों पर विचार करना होगा। यह ऊंचाई वाले क्षेत्रों के विकेट (पिच) से काफी अलग है। यह थोड़ा धीमा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ लुंगी (एनगिडी), जेनसन जैसे लोग मजबूत दावेदार हैं। हमें देखना होगा कि कौन से खिलाड़ी परिस्थितियों का फायदा उठा सकते हैं। पार्ल धीमे गेंदबाजों के लिए मददगार होता है। (तबरेज) शम्सी, केशव (महाराज) सभी का दावा मजबूत होगा। टीम के हर खिलाड़ी पर विचार होगा।’’

Open in app