यूक्रेन में एंटोनियो गुटेरेस ने कहा, 'रूस और यूक्रेन जापोरिज्जिया परमाणु संयंत्र का असैन्यीकरण करें'

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: August 19, 2022 02:11 PM2022-08-19T14:11:49+5:302022-08-19T14:16:35+5:30

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव ने एंटोनियो गुटेरेस ने यूक्रेन, तुर्की और यूएन के मध्य हुई त्रिपक्षीय बैठक के बाद कहा कि जापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र के पास से सेना और हथियारों को फौरन वापस लिया जाना चाहिए और उस क्षेत्र का असैन्यीकरण किया जाना चाहिए।

UN Secretary-General Antonio Guterres in Ukraine said, 'Russia and Ukraine should demilitarize the Zaporizhzhya nuclear plant' | यूक्रेन में एंटोनियो गुटेरेस ने कहा, 'रूस और यूक्रेन जापोरिज्जिया परमाणु संयंत्र का असैन्यीकरण करें'

फाइल फोटो

Next
Highlightsयूएन महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने रूस-यूक्रेन तनाव को कम करने के लिए ल्वीव शहर में बैठक कीइस बैठक में यूएन महासचिव गुटेरेस के साथ यूक्रेन और तुर्की के राष्ट्रपति ने भाग लियाबैठक के बाद यूएन महासचिव ने कहा जापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र का फौरन असैन्यीकरण किया जाए

ल्वीव: संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने रूस-यूक्रेन तनाव के मध्य यूक्रेन के ल्वीव शहर में राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की और तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन के साथ त्रिपक्षीय वार्ता करने के बाद कहा कि जापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र के क्षेत्र का असैन्यीकरण किया जाए, अगर ऐसा नहीं होता है तो यूरोप का परमाणु ऊर्जा केंद्र दो देशों की दुश्मनी में बर्बाद हो जाएगा।

संयुक्त राष्ट्र सचिवालय ने अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) के निकट संपर्क के जरिये हालात का मूल्यांकन करने के बाद कहा कि यूक्रेन में हम कीव के पास जापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र के लिए किसी भी आईएईए मिशन को आवश्यक रसद और सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं, बशर्ते इसके लिए रूस और यूक्रेन दोनों सहमत हों।

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने यूक्रेन में त्रिपक्षीय बैठक के बाद कहा, "जापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र के पास से सेना को वापस ले लिया जाना चाहिए। जापोरिज्जिया परमाणु साइट पर सुरक्षा बलों या सैन्य उपकरणों की तैनाती से बचा जाना चाहिए और उस क्षेत्र का असैन्यीकरण करना बेहद जरूरी है।"

बीते लगभग एक सप्ताह से दक्षिणी यूक्रेन स्थित जापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र के आसपास रूस और यूक्रेन के बीच जमकर गोलाबारी हो रही है। यूक्रेन का आरोप है कि रूसी सेना ने बीते गुरुवार और सप्ताहांत में जापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर हमला किया है।

इस बीच यूएन महासचिव गुटेरेस ने 29 जुलाई को ओलेनिव्का के डिटेंशन सेंटर में हुए दुखद घटना की जांच पर भी चर्चा की। गुटेरेस ने कहा, "ओलेनिव्का के डिटेंशन सेंटर में जो हुआ वह अस्वीकार्य है। युद्ध के कैदियों को अंतर्राष्ट्रीय मानवीय कानून के तहत संरक्षित किया जाता है।"

उन्होंने कहा कि युद्ध बंदियों तक रेड क्रॉस की अंतर्राष्ट्रीय समिति को पहुंचने देना चाहिए था और ब्राजील के जनरल कार्लोस डॉस सैंटोस क्रूज़ के नेतृत्व में बनी फैक्ट फाइंडिंग को बंदियों के पास जाने देना चाहिए था। ब्राजील के जनरल कार्लोस डॉस सैंटोस क्रूज़ इससे पहले संयुक्त राष्ट्र शांति अभियानों के कमांडर रहे हैं।

गुटेरेस ने कहा कि यूक्रेन मानवाधिकारों, अंतर्राष्ट्रीय कानून और शांति को बढ़ावा देने के लिए संयुक्त राष्ट्र के समर्थन पर भरोसा कर सकता है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख और ज़ेलेंस्की ने कुछ हफ़्ते पहले इस्तांबुल में ब्लैक सी ग्रेन इनिशिएटिव पर हस्ताक्षर किए थे, जिसे वैश्विक खाद्य संकट के समाधान की दिशा में ऐतिहासिक समझौता कहा गया था।

यूएन महासचिव ने कहा कि यूक्रेन के बंदरगाहों से 21 जहाज खाद्यानों के साथ निकल चुके हैं और तुर्की ने 15 जहाजों को अनाज और अन्य खाद्य आपूर्ति को लोड करने के लिए छोड़ा है। इसके अलावा यूक्रेन के गेहूं को ले जाने वाला पहला संयुक्त राष्ट्र चार्टर्ड पोत भी दशकों में हॉर्न ऑफ अफ्रीका में सबसे खराब सूखे से पीड़ित लोगों की जरूरतें पूरी करने के लिए जल्द ही पहुंचने वाला है।

मालूम हो कि यूएन की मध्यस्थता में रूस और यूक्रेन ने जुलाई महीने में तुर्की की राजधानी इस्तांबुल में इस बात पर अलग-अलग समझौता किया कि अंतरराष्ट्रीय बाजारों में अनाज के शिपमेंट को फिर से शुरू किया जाएगा। यूक्रेन और रूस के बीच हुए समझौते के कारण युद्धकालीन उस गतिरोध को समाप्त कर दिया है जिसके कारण विश्व के कई देशों में खाद्यान सुरक्षा को लेकर गंभीर संकट पैदा हो गया था।

युद्धरत दोनों देशों के मध्य होने वाले इस समझौते के कारण यूक्रेन विश्व के अन्य देशों को 22 मिलियन टन अनाज और अन्य कृषि उत्पादों का निर्यात करने में सक्षम हो सकेगा, जो युद्ध के कारण काला सागर बंदरगाहों में फंस गए थे। (समाचार एजेंसी एएनआई के इनपुट के साथ)

Web Title: UN Secretary-General Antonio Guterres in Ukraine said, 'Russia and Ukraine should demilitarize the Zaporizhzhya nuclear plant'

विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे