सड़क पर आम लोगों का इंटरव्यू लेने के आरोप में यूट्यूबर गिरफ्तार

By विशाल कुमार | Published: December 2, 2021 12:41 PM2021-12-02T12:41:59+5:302021-12-02T12:47:10+5:30

'कॉरेसपांडेंट टू हिमसेल्फ' नामक 1,41,000 सब्सक्राइबर वाले यूट्यूब चैनल चलाने वाले कोकसोय ने ट्वीट कर कहा कि इंटरव्यू के कारण उन्हें पूरी रात जेल में बितानी पड़ी. इसके बाद सरकारी वकील ने मेरी गिरफ्तारी की सिफारिश करते हुए मुझे अदालत भेज दिया. मैंने जिस शख्स का इंटरव्यू किया उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

turkey youtuber arrested interview public | सड़क पर आम लोगों का इंटरव्यू लेने के आरोप में यूट्यूबर गिरफ्तार

सड़क पर आम लोगों का इंटरव्यू लेने के आरोप में यूट्यूबर गिरफ्तार

Next
Highlightsहसन कोकसोय नाम के यूट्यूबर सड़क पर लोगों का इंटरव्यू कर रहे थे.इंटरव्यू में एक शख्स ने सरकार की आलोचना की थी और क्रांति का आह्वान किया था.मुख्यधारा मीडिया पर सरकार के अधिग्रहण के बाद, ऑनलाइन साइटें महत्वपूर्ण पत्रकारिता कर रहीं.

नई दिल्ली:तुर्की में सरकार की आलोचना करने और क्रांति का आह्वान करने वाले एक शख्स का तीन दिन पहले इंटरव्यू करने और उसे प्रसारित करने पर हसन कोकसोय नाम के यूट्यूबर को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

'कॉरेसपांडेंट टू हिमसेल्फ' नामक 1,41,000 सब्सक्राइबर वाले यूट्यूब चैनल चलाने वाले कोकसोय ने ट्वीट कर कहा कि इंटरव्यू के कारण उन्हें पूरी रात जेल में बितानी पड़ी। इसके बाद सरकारी वकील ने मेरी गिरफ्तारी की सिफारिश करते हुए मुझे अदालत भेज दिया. मैंने जिस शख्स का इंटरव्यू किया उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

इंटरव्यू में एक अज्ञात शख्स कहता है कि सरकार सालों से लोगों का इस्तेमाल करती आ रही है. विदेशी शक्तियों, अमेरिका की साजिशों के बारे में बात करते हुए उन्होंने अपनी जेबें, पेट, घर, जूते-चप्पल और हवाई जहाज भर लिए हैं। धिक्कार है उन लोगों पर जिन्होंने इन लोगों की रोटी चुराई। हमें एक क्रांति की जरूरत है। हमें खड़े होना होगा!

वह आगे कहता है कि अगर आप डरेंगे तो गिरफ्तार होने वालों में अगला नंबर आपका होगा. तुर्क के बाद कुर्द भी शिकार बनेंगे. आपको डरना नहीं चाहिए। आपको चुप नहीं रहना चाहिए. जब तक आप चुप रहेंगे तब तक वे चुराते रहेंगे।

उसने आगे कहा कि तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोआन, उनके सहयोगी नेशनलिस्ट मूवमेंट पार्टी (एमएचपी) के नेता देवलेट बहसेली और आंतरिक मंत्री सुलेमान सोयलू चोरों के सरदार हैं। वे हमें पुलिस स्टेशन ले जा सकते हैं, वे हमें गिरफ्तार कर सकते हैं, लेकिन हम चुप नहीं रहेंगे।

इस दौरान वहां जुटी भीड़ उसकी बातों पर तालियां बजा रही थी. कोकसोय के वकील ने कहा कि हम इसे चुनौती देंगे लेकिन लोगों को यह पता होना चाहिए कि यह कानूनी नहीं, राजनीतिक है।

प्रेस पर सरकार का नियंत्रण, ऑनलाइन मीडिया का बढ़ रहा चलन

बता दें कि, तुर्की सरकार पत्रकारों को कैद करके, मीडिया आउटलेट्स को खत्म करके, सरकार समर्थक समूहों द्वारा मीडिया ब्रांडों की खरीद की निगरानी करके और वित्तीय दबाव डालने के लिए नियामक अधिकारियों का उपयोग करके प्रेस को नियंत्रण में रखने की कोशिश कर रही है।

मुख्यधारा के मीडिया पर सरकार के अधिग्रहण के बाद, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के साथ-साथ ऑनलाइन समाचार साइटें तुर्की में महत्वपूर्ण पत्रकारिता कर रही हैं।

कई युवा पत्रकार यूट्यूब के माध्यम से देशभर में सड़क साक्षात्कार आयोजित करते हैं और लोगों से लोकप्रिय विषयों पर उनकी राय पूछते हैं।

रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स (आरएसएफ) द्वारा अप्रैल में जारी 2021 वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम इंडेक्स में 180 देशों में तुर्की को 153वें स्थान पर रखा गया था।

Web Title: turkey youtuber arrested interview public

विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे