सूडान: भारी बारिश और बाढ़ ने मचाई भयंकर तबाही, अब तक 50 से ज्यादा की मौत, हजारों घर डूबे

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: August 14, 2022 11:30 AM2022-08-14T11:30:21+5:302022-08-14T11:35:38+5:30

आपको बता दें कि सूडान में बरसात का मौसम आमतौर पर जून में शुरू होता है और सितंबर तक रहता है। यहां पर अगस्त और सितंबर में बाढ़ चरम पर होती है जिस कारण वहां का जनजीवन काफी बुरे तरीके से प्रभावित होता है।

Sudan Heavy rains and floods caused severe destruction more than 50 killed so far thousands homes submerged | सूडान: भारी बारिश और बाढ़ ने मचाई भयंकर तबाही, अब तक 50 से ज्यादा की मौत, हजारों घर डूबे

फोटो सोर्स: ANI (प्रतिकात्मक फोटो)

Next
Highlightsसूडान में भारी बारिश और बाढ़ के कारण 50 से अधिक लोगों की मौत हो गई है। इस कारण 38000 लोग प्रभावित और 8,170 से अधिक मकान जलमग्न हुए है। सूडान में अगस्त और सितंबर में भयंकर बाढ़ आती है जिस कारण वहां का जनजीवन काफी प्रभावित होता है।

खार्तूम: सूडान में मौसमी मूसलाधार बारिश के कारण आई बाढ़ में अब तक 50 से अधिक लोगों की मौत हो गई है और 8,170 से अधिक मकान जलमग्न हो गए हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी है। 

सूडान की राष्ट्रीय नागरिक सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल अब्दुल-जलील अब्दुल रहीम ने कहा कि उत्तरी कोर्दोफन प्रांत में 19 लोगों की मौत हुई है, इसके बाद नील नदी प्रांत में सात लोगों की मौत हुई है। 

सूडान में अगस्त और सितंबर में आते है बाढ़

उन्होंने कहा कि पश्चिमी दारफुर क्षेत्र, जिसमें पांच प्रांत हैं, में 16 लोगों की मौत हुई है। उन्होंने यह नहीं बताया कि पहली घटना कब हुई है। सूडान में बरसात का मौसम आमतौर पर जून में शुरू होता है और सितंबर तक रहता है, अगस्त और सितंबर में बाढ़ चरम पर होती है। 

बाढ़ के कारण 25 हुए घायल, 40 दुकाने जलमग्न 

देश की सरकारी ‘सुना’ समाचार एजेंसी के अनुसार, अब्दुल रहीम ने कहा कि इस साल अब तक कम से कम 25 लोग घायल हुए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि बाढ़ और भारी बारिश से 16 सरकारी केंद्र और करीब 40 दुकानें जलमग्न हो गई हैं और देश भर में कम से कम 540 फेदान (एकड़) खेत क्षतिग्रस्त हो गए हैं। 

भारी बारिश से 38000 लोग हुए प्रभावित

मानवीय मामलों के समन्वय के लिए संयुक्त राष्ट्र कार्यालय ने कहा है कि मई के बाद से पूर्वी अफ्रीकी देश में भारी वर्षा से अनुमानित 38,000 लोग प्रभावित हुए हैं। पिछले साल बाढ़ और भारी बारिश से 80 से अधिक लोगों की जान चली गई थी और देश भर में हजारों मकान बाढ़ के पानी में बह गए थे। 

अधिकारियों ने 2020 में सूडान को एक प्राकृतिक आपदा क्षेत्र घोषित किया और बाढ़ और भारी बारिश के बाद देश भर में तीन महीने के लिए आपातकाल की स्थिति लागू कर दी और बाढ़ जनित घटनाओं में लगभग 100 लोगों की मौत हो गई और 100,000 (एक लाख) से अधिक मकान जलमग्न हो गए। 
 

Web Title: Sudan Heavy rains and floods caused severe destruction more than 50 killed so far thousands homes submerged

विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे

टॅग्स :FloodPoliceबाढ़