King Charles III: किंग चार्ल्स तृतीय शनिवार को आधिकारिक तौर पर घोषित होंगे ब्रिटेन के नए सम्राट

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: September 9, 2022 06:01 PM2022-09-09T18:01:56+5:302022-09-09T18:07:08+5:30

ब्रिटेन की राजगद्दी पर बैठने वाले चार्ल्स सबसे अधिक उम्र के राजा होंगे। बृस्पतिवार को अपनी मां महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद वह देश के अगले महाराज बने हैं।

King Charles III will be officially proclaimed as Britain's new monarch | King Charles III: किंग चार्ल्स तृतीय शनिवार को आधिकारिक तौर पर घोषित होंगे ब्रिटेन के नए सम्राट

King Charles III: किंग चार्ल्स तृतीय शनिवार को आधिकारिक तौर पर घोषित होंगे ब्रिटेन के नए सम्राट

Next
Highlightsशनिवार को सेंट जेम्स पैलेस में परिग्रहण परिषद की बैठक में होगी आधिकारिक घोषणामहारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद वह देश के अगले महाराज बने73 साल की उम्र में चार्ल्स तृतीय को ब्रिटेन की राजगद्दी पर बैठने का अवसर मिला

नई दिल्ली: शनिवार को सेंट जेम्स पैलेस में परिग्रहण परिषद की बैठक में किंग चार्ल्स को आधिकारिक तौर पर ब्रिटेन के नए सम्राट के रूप में घोषित किया जाएगा। रॉयटर्स ने बकिंघम पैलेस का हवाला देते हुए इसकी जानकारी दी है। ब्रिटेन की राजगद्दी पर बैठने वाले चार्ल्स सबसे अधिक उम्र के राजा होंगे। बृस्पतिवार को अपनी मां महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद वह देश के अगले महाराज बने हैं।

इससे पहले ब्रिटेन के नए सम्राट चार्ल्स तृतीय बाल्मोरल कैसल से लंदन रवाना हो गए, जहां वह शुक्रवार को प्रधानमंत्री लिज़ ट्रस से मुलाकात करने के साथ ही शोकग्रस्त राष्ट्र को संबोधित करेंगे। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद ब्रिटेन में शुक्रवार से 10 दिनों का शोक मनाया जा रहा है। इस दौरान ब्रिटेन में घंटियाँ बजाई जाएंगी और और लंदन में 96 तोपों की सलामी दी जाएगी। 

महारानी की उम्र के हर एक साल के लिए एक तोप की सलामी दी जाएगी। महारानी का बृहस्पतिवार को स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कैसल में निधन हो गया था और उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए दुनिया भर में लोग ब्रिटिश दूतावासों में एकत्र हो रहे हैं। महाराजा चार्ल्स ऐसे समय गद्दी पर बैठ रहे हैं, जब देश और स्वयं राजशाही दोनों के लिए अनिश्चितता का दौर है। महाराजा बनने के पहले दिन चार्ल्स अपनी पत्नी कैमिला के साथ बाल्मोरल से लंदन रवाना हुए। 

उम्मीद की जा रही है कि वह कुछ दिन पहले ही नियुक्त प्रधानमंत्री लिज़ ट्रस से मुलाकात करेंगे और और ऐसे समय में राष्ट्र को संबोधित करेंगे, जब देश के सामने ऊर्जा संकट, जीवन की बढ़ती लागत, यूक्रेन युद्ध और ब्रेक्जिट के नतीजे जैसे मुद्दे हैं। सैकड़ों लोग रात में बकिंघम पैलेस पहुंचे और उसके गेट पर फूल रखे। बकिंघम पैलेस लंदन में शाही निवास है। 

पूरी जिंदगी ब्रिटेन की राजगद्दी संभालने की तैयारी करने के बाद अंतत: 73 साल की उम्र में चार्ल्स को ‘महाराजा चार्ल्स तृतीय’ के रूप में देश की राजगद्दी पर बैठने का अवसर मिला है। ब्रिटेन की राजगद्दी पर बैठने वाले चार्ल्स सबसे अधिक उम्र के राजा होंगे। अपनी मां महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद वह देश के अगले महाराज बने हैं।

राजगद्दी के उत्तराधिकारी चार्ल्स ने ब्रिटिश राजशाही के आधुनिकीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। चार्ल्स पहले ऐसे शाही उत्तराधिकारी हैं जिनकी शिक्षा घर में नहीं हुई है, साथ ही वह विश्वविद्यालय डिग्री पाने वाले और राजपरिवार और सामान्य जनता के बीच की कम होती दूरियों के दौर में मीडिया की पैनी नजरों के बीच जिंदगी गुजारने वाले भी पहले उत्तराधिकारी हैं। बेहद लोकप्रिय प्रिंसेस डायना के साथ काफी विवादित तलाक के बाद वह काफी अलग-थलग भी पड़े।

(इनपुट एजेंसी के साथ)

Web Title: King Charles III will be officially proclaimed as Britain's new monarch

विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे