‘कयामत की घड़ी’ का इशारा- दुनिया विनाश के अपने निकटतम बिंदु पर पहुंच गई है, आधी रात होने में सिर्फ 90 सेकंड बाकी

By अनिल शर्मा | Published: January 25, 2023 07:40 AM2023-01-25T07:40:46+5:302023-01-25T07:56:31+5:30

'डूम्सडे क्लॉक'- यह घड़ी 1947 से काम कर रही है, जो बताती है कि दुनिया पर परमाणु हमले की आशंका कितनी अधिक है। इस बार सुई का कांटा 73 साल के इतिहास में सबसे अधिक तनावपूर्ण मुकाम पर बताया गया है। 

Doomsday Clock signals World reaches its closest point of annihilation | ‘कयामत की घड़ी’ का इशारा- दुनिया विनाश के अपने निकटतम बिंदु पर पहुंच गई है, आधी रात होने में सिर्फ 90 सेकंड बाकी

‘कयामत की घड़ी’ का इशारा- दुनिया विनाश के अपने निकटतम बिंदु पर पहुंच गई है, आधी रात होने में सिर्फ 90 सेकंड बाकी

Next
Highlightsडूम्सडे क्लॉक' शिकागो स्थित बुलेटिन ऑफ द एटॉमिक साइंटिस्ट्स द्वारा बनाई गई है।यह दिखाता है कि मानवता दुनिया के अंत के कितने करीब आ गई है।

वैज्ञानिकों ने परमाणु युद्ध और जलवायु संकट के खतरे का संकेत देने वाली कयामत की घड़ी यानी ‘डूम्सडे क्लॉक’की सुई को मंगलवार आधी रात 12 बजे के 90 सेकंड पीछे ला दिया है। यानी यह कयामत के शाब्दिक क्षण के सबसे करीब आ गया। परमाणु वैज्ञानिकों ने रूस-यूक्रेन युद्ध के नेतृत्व में भू-राजनीतिक अस्थिरता के बीच परमाणु युद्ध, बीमारी और जलवायु परिवर्तन के खतरों का हवाला देते हुए आधी रात से सिर्फ 90 सेकंड पहले 'प्रलय का दिन' निर्धारित किया।

कयामत की घड़ी क्या है?

'डूम्सडे क्लॉक' शिकागो स्थित बुलेटिन ऑफ द एटॉमिक साइंटिस्ट्स द्वारा बनाई गई है। यह दिखाता है कि मानवता दुनिया के अंत के कितने करीब आ गई है। इसने अपना 'समय' 2023 में 90 सेकंड से मध्यरात्रि में स्थानांतरित कर दिया, जो पिछले तीन वर्षों की तुलना में 10 सेकंड अधिक है।  

यह घड़ी 1947 से काम कर रही है, जो बताती है कि दुनिया पर परमाणु हमले की आशंका कितनी अधिक है। इस बार सुई का कांटा 73 साल के इतिहास में सबसे अधिक तनावपूर्ण मुकाम पर बताया गया है। 

डूम्सडे क्लॉक की आधी रात का क्या मतलब है?

इस घड़ी की आधी रात सर्वनाश के सैद्धांतिक बिंदु को चिह्नित करती है। किसी विशेष समय पर अस्तित्वगत खतरों के वैज्ञानिकों के पढ़ने के आधार पर घड़ी की सुइयाँ आधी रात के करीब या उससे दूर चली जाती हैं। वर्तमान में, यूक्रेन में रूसी कार्रवाइयों से बिगड़ी स्थिति ने दुनिया की निकटता को उसके सैद्धांतिक विनाश के लिए बढ़ा दिया है।

बुलेटिन के अध्यक्ष और राहेल ब्रोंसन ने कहा, "परमाणु हथियारों का उपयोग करने के लिए रूस की सूक्ष्म रूप से छिपी हुई धमकियां दुनिया को याद दिलाती हैं कि दुर्घटना, इरादे या गलत गणना से संघर्ष का बढ़ना एक भयानक जोखिम है। संघर्ष किसी के भी नियंत्रण से बाहर हो सकता है।"

शिकागो स्थित एक गैर-लाभकारी संगठन, बुलेटिन ग्रह और मानवता के लिए भयावह जोखिमों के बारे में जानकारी के आधार पर घड़ी के समय को सालाना अपडेट करता है। 

Web Title: Doomsday Clock signals World reaches its closest point of annihilation

विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे