China passes Hong Kong security law, deepening fears for future | हांगकांग विवाद: चीन ने विवादित राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को दी मंजूरी
हांगकांग में पिछले साल से ही लोकतंत्र समर्थक विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं

Highlightsविवादित कानून में सजा क्या प्रावधान किया गया है, यह अब तक स्पष्ट नहीं हैचीन का कहना है कि यह कानून लोगों को परेशानियों खड़ी करने से रोकेगा।

चीन ने हांगकांग में अलगाववाद और पृथकतावादी गतिविधियों में शामिल लोगों पर कार्रवाई करने के लिए एक विवादित कानून को मंजूरी दे दी। इस कानून की वजह से लोगों में डर है कि इसका इस्तेमाल इस अर्धस्वायत्त क्षेत्र में विरोध की आवाजों को दबाने के लिए किया जा सकता है। चीनी संसद की स्थायी समिति में हांगकांग के एकमात्र प्रतिनिधि ताम यियू-चुंग ने संवाददाताओं से बातचीत में मंगलवार को इस बात की पुष्टि की है कि यह कानून पारित हो गया। उन्होंने कहा कि इस कानून में मौत की सजा का प्रावधान नहीं है।

हालांकि उन्होंने इसके बारे में विस्तृत जानकारी नहीं दी कि इस कानून के प्रावधान अतीत के घटनाक्रमों पर भी लागू होंगे (अर्थात क्या यह कानूनी पिछली तिथि से लागू होगा)। ताम ने साक्षात्कार में कहा कि उन्हें उम्मीद है कि यह कानून लोगों को परेशानियों खड़ी करने से रोकेगा। उन्होंने कहा, ‘‘ हांगकांग का इस्तेमाल देश को बांटने के हथियार के तौर पर नहीं होने दें।’’

लोकतंत्र समर्थकों ने जताई जान की चिंता

‘साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट’ अखबार और सरकारी चैनल ‘आरटीएचके’ ने अनाम स्रोतों का हवाला देते हुए इससे पहले बताया कि मंगलवार को संसद की स्थायी समिति ने सर्वसम्मति से हांगकांग के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को मंजूरी दे दी। हालांकि न तो चीन की सरकार ने और न ही हांगकांग के अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की है। हांगकांग की नेता कैरी लाम ने संवाददाताओं के साथ सप्ताहिक बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून पर यह कहते हुए टिप्पणी करने से इनकार कर दिया था कि स्थायी समिति की बैठक अभी चल रही है और ऐसे में कोई टिप्पणी करना ‘अनुचित’ होगा।

हांगकांग में लोकतंत्र के प्रख्यात समर्थक जोशुआ वांग, एग्नेश चाउ और नाथन लाउ ने फेसबुक पर बयान जारी करके यह संकेत दिया कि वे लोकतंत्र समर्थक संगठन डेमोसिस्टो से खुद को अलग कर सकते हैं। वांग ने कहा कि वह अपनी जान और सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। उन्होंने कहा कि यह एक बड़ा मुद्दा बन चुका है और किसी को भी इस बारे में जानकारी नहीं है कि इस कानून के परिणाम क्या होंगे, लोगों को चीन प्रत्यर्पित किया जाएगा या उन्हें 10 साल तक की सजा या इससे ज्यादा की सजा हो सकती है।

हांगकांग ने कानून के विरोध में लोग

हांगकांग के मध्य कारोबारी जिले में एक लग्जरी मॉल के बाहर सैंकड़ों की संख्या में लोग जमा हो गए और वे ‘ हांगकांग को स्वतंत्र करने और अब क्रांति’ के नारे लगा रहे हैं। इनमें से कई ‘हांगकांग स्वतंत्रता’ वाले झंडे और पोस्टर अपने हाथों में लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून की निंदा कर रहे हैं। पुलिस ने बाद में इस मॉल वाले क्षेत्र की घेराबंद कर ली। लोगों को हिरासत में लिया जा रहा है और तलाशियां हो रही हैं। इस कानून का हांगकांग के भीतर काफी विरोध हो रहा है और ब्रिटेन, अमेरिका, यूरोपीय संघ सहित अन्य भी इसका विरोध कर रहे हैं।

ब्रिटेन ने कहा कि वह हांगकांग के 75 लाख लोगों में से करीब 30 लाख को रहने की पेशकश और संभवत: नागरिकता देने की पेशकश भी कर सकते हैं। हालांकि चीन ने इन सभी कदमों को उसके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप बताया है। 

Web Title: China passes Hong Kong security law, deepening fears for future
विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे