अमेरिका: 86 साल की जेल की सजा! जानिए कौन है पाकिस्तानी आफिया सिद्दिकी जिसकी रिहाई के लिए टैक्सास में लोगों को बनाया गया बंधक

By विनीत कुमार | Published: January 16, 2022 04:10 PM2022-01-16T16:10:36+5:302022-01-16T16:33:25+5:30

अमेरिका के टेक्सास में शनिवार को एक शख्स ने चार लोगों को बंधक बना लिया। उसने पाकिस्तानी महिला आफिया सिद्दिकी को जेल से रिहा करने की मांग की जो 86 साल की सजा काट रही है। जानिए कौन है आफिया सिद्दिकी...

Aafia Siddiqui, know all about Pakistan prisoner whose release shought by Texas armed man | अमेरिका: 86 साल की जेल की सजा! जानिए कौन है पाकिस्तानी आफिया सिद्दिकी जिसकी रिहाई के लिए टैक्सास में लोगों को बनाया गया बंधक

आफिया सिद्दिकी

Next
Highlightsसाल 2010 में आफिया सिद्दिकी को अमेरिकी सौनिकों की हत्या की कोशिश में सुनाई गई थी 86 साल की सजा।आफिया 18 साल की उम्र में अमेरिका पढ़ाई के लिए आई थी, बाद में एफबीआई को आतंकी संगठनों से लिंक का हुआ शक9/11 के आतंकी हमलों की योजना बनाने वाले शख्स के परिवार में हुई थी शादी, 2003 में अचानक हुई लापता, फिर अफगानिस्तान में पकड़ी गई।

इस्लामाबाद: अमेरिका के टेक्सास में शनिवार को उस समय अफरातफरी मच गई जब एक सिनेगॉग (यहूदी पूजा स्थल) में शख्स ने चार लोगों को बंधक बना लिया। काफी मशक्कत के बाद एक बंधक छह घंटे बाद जबकि बाकी तीन करीब 10 घंटे से ज्यादा के समय के बाद सुरक्षित बाहर निकाले जा सके।
 
इन्हें बंधक बनाने वाले शख्स ने घटना की ‘लाइवस्ट्रीमिंग’ (सोशल मीडिया पर) भी की जिसमें व्यक्ति को 49 वर्षीया पाकिस्तानी महिला आफिया सिद्दिकी को जेल से रिहा करने की मांग रखी गई। सिद्दिकी अभी टेक्सास के फेडरल जेल एफएमसी कार्सवेल में बंद हैं।  

पहले ये खबर आई थी कि बंधक बनाने वाला आफिया का भाई है। हालांकि आफिया के भाई के वकील ने इन रिपोर्ट्स को खारिज किया। उन्होंने कहा कि उनके मुवक्किल ने कानून प्रवर्तक अधिकारियों से बात की है और खुद को मामले से अलग बताया है। सवाल उठता है कि आखिर आफिया सिद्दिकी कौन है और क्यों वह जेल में बंद हैं, आइए जानते हैं।

कौन है पाकिस्तानी महिला आफिया सिद्दिकी

अमेरिका में उच्च शिक्षा हासिल करने वाली आफिया सिद्दिकी को अफगानिस्तान में अमेरिकी सौनिकों की हत्या करने की कोशिश में 2010 में 86 साल की जेल की सजा सुनाई गई थी।। आफिया पहली ऐसी महिला थी जिस पर अलकायदा से लिंक होने आरोप अमेरिकी अधिकारियों की ओर से लगाया गया था, हालांकि आरोप सिद्ध नहीं हुए।

आफिया 18 साल की उम्र में आई थी अमेरिका

आफिया 18 साल की उम्र में अमेरिका के बोस्टन के प्रतिष्ठित एमआईटी में पढ़ने के लिए आई थी। उस समय आफिया के भाई भी अमेरिका में रह रहे थे। आफिया ने बाद में ब्रैंडिस विश्वविद्यालय में न्यूरोसाइंस में पीएचडी की उपाधि प्राप्त की।

हालांकि, साल 2001 के 9/11 के आतंकी हमलों के बाद आफिया इस्लामिक संगठनों को पैसे दान करने के लिए एफबीआई के रडार पर आ गई। साथ ही 10,000 डॉलर के नाइट-विजन चशमे और युद्ध पर आधारित पुस्तकों की खरीद ने एफबीआई के शक को और गहरा किया।

9/11 के आतंकी हमलों की योजना बनाने वाले परिवार में शादी

अमेरिका को शक था कि आफिया अल-कायदा से जुड़ गई है। इस बीच आफिया पाकिस्तान लौट गई और उसकी शादी 9/11 आतंकी हमले की योजना बनाने में शामिल खालिद शेख मोहम्मद के परिवार में हुई। आफिया इसके बाद कराची में अपने तीन बच्चों सहित अचानक लापता हो गई। इसके करीब पांच साल बाद उसे अफगानिस्तान में दक्षिणपूर्वी प्रांत गजनी में अमेरिकी सैनिकों ने गिरफ्तार किया

अमेरिकी सैनिकों के सामने लगाया 'डेथ टू अमेरिका' का नारा

अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना द्वारा उससे पूछताछ के दौरान आफिया ने अचानक एक राइफल ले ली और 'डेथ टू अमेरिका' और 'मैं अमेरिकियों को मारना चाहती हूं', चिल्लाते हुए गोलिया चलाने लगी। उस दौरान वहां मौजूद सैनिक किसी तरह बाल-बाल बच गए लेकिन आफिया घायल हो गईं।

अमेरिका द्वारा आफिया को पकड़े जाने के बाद पाकिस्तान में इसे लेकर काफी हंगामा तब मचा था। आफिया के समर्थक आरोप लगाते हैं कि वह गुप्त पाकिस्तान-यूएस साजिश का शिकार बन गई। आफिया पर जब अमेरिकी सैनिकों को मारने की कोशिश को लेकर फैसला आया तो अल-कायदा ने मुस्लिमों से बदला लेने का आह्वान भी किया। अपने चुनाव अभियान के दौरान पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने भी आफिया को रिहा कराने का वादा किया था।

Web Title: Aafia Siddiqui, know all about Pakistan prisoner whose release shought by Texas armed man

विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे