twitter user asks delhi traffic police about Shaheen Bagh Road No 13A know answer | ट्विटर पर दिल्ली ट्रैफिक पुलिस को टैग करके पूछा, शाहीन बाग रोड नंबर 13 A का रास्ता खोल दिया गया है क्या, जानें जवाब
ट्रैफिक पुलिस की प्रतीकात्मक तस्वीर

Highlightsसुप्रीम कोर्ट ने 17 फरवरी को कहा था कि शाहीन बाग प्रदर्शन में सड़क अवरुद्ध किए जाने से चिंतित हैप्रदर्शनकारी का कहना है कि शाहीन बाग का धरना किसी भी यात्री के लिए असुविधा पेश नहीं कर रहा :

शाहीन बाग इलाके में चल रहे धरना प्रदर्शन के चलते कुछ रोड अब बंद है। हालांकि समाचार एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक को नोएडा-फरीदाबाद मार्ग खोला गया है। शुक्रवार (21 फरवरी) को करनवीर कटारिया ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर दिल्ली ट्रैफिक पुलिस को टैग करके पूछा, शाहीन बाग रोड नंबर 13 A का रास्ता खोल दिया गया है क्या। इस पर दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने जवाब दिया, सर अभी ये बंद है।

इससे पहले 17 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने शाहीन बाग मामले में सुनवाई के दौरान सड़क बंद होने पर चिंता व्यक्त की थी। सुप्रीम कोर्ट कहा था कि शाहीन बाग में सड़क अवरूद्ध किए जाने से वह चिंतित है और संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शनकारियों को ऐसी जगह जाने का सुझाव दिया, जहां कोई सार्वजनिक स्थान अवरूद्ध नहीं हो। नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ प्रदर्शन के कारण पिछले वर्ष 15 दिसम्बर से कालिंदी कुंज-शाहीन बाग और ओखला अंडरपास बंद है। शीर्ष अदालत ने प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने के लिए संजय हेगड़े, साधना रामचंद्रन और वजाहत हबीबुल्ला को वार्ताकार नियुक्त किया है। 

हालांकि सुप्रीम कोर्ट के शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन की वजह से सड़क बंद होने पर चिंता जताने एक दिन बाद (18 फरवरी को) कई प्रदर्शनकारियों ने इस दावे का विरोध किया कि उनके धरने से बड़ी संख्या में मुसाफिरों को परेशानी हो रही है। कई प्रदर्शनकारियों ने मंगलवार को कहा कि दक्षिण पूर्वी दिल्ली स्थित शाहीन बाग-कालिंदी कुंज मार्ग का इस्तेमाल सिर्फ कुछ यात्री ही करते हैं, उनमें भी ज्यादातर लोग जामिया नगर और ओखला के होते हैं। वे प्रदर्शन के लिए इस स्थल का इस्तेमाल करने के लिए सहमत हैं। 

सुप्रीम कोर्ट ने वकील संजय हेगड़े से कहा है कि वह प्रदर्शनकारियों को समझाए कि धरना स्थल को कही और लेकर जाया जाए और इसके लिए वह पूर्व नौकरशाह वजाहत हबीबुल्ला की मदद ले सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त वार्ताकार दो बार शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों से बात कर चुके हैं, हालांकि अभी तक इसका हल नहीं निकला है।

Web Title: twitter user asks delhi traffic police about Shaheen Bagh Road No 13A know answer
ज़रा हटके से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे