Children lock themselves in classrooms after leopard strays into UP school | UP: पीलीभीत के एक स्कूल में घुसा तेंदुआ, बच्चों ने खुद को कर लिया क्लास रूम में बंद, फिर जानें क्या हुआ
पीलीभीत टाइगर रिजर्व के डिप्टी डायरेक्टर नवीन खंडेलवाल ने कहा, उसके पैरों के निशान से लग रहा है कि तेंदुआ वयस्क था (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Highlightsतेंदुआ पीलीभीत टाइगर रिजर्व के बरही रेंज की ओर से आया हुआ था.पैरों के निशान से तेंदुए को वयस्क बताया जा रहा है.

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले क एक सरकारी स्कूल के परिसर के पास तेंदुआ पहुंचने पर हड़कंप मच गया। यह घटना कीरतपुर गांव में स्थित एक सरकारी स्कूल के परिसर में हुआ। तेंदुआ खेतों के रास्ते से स्कूल की तरफ आया था और उसने एक कुत्ते पर हमला कर दिया। डरे हुए बच्चों ने खुद को भागकर अपनी जान बचाई और खुद को क्लासरूम में बंद कर लिया।

हिन्दुस्तान टाइम्स में छपी खबर के अनुसार, तेंदुए ने कुत्ते को मार दिया और घसीटकर पीलीभीत टाइगर रिजर्व (PTR) के बराही फॉरेस्ट रेंज में लेकर चला गया। जब प्रिंसिपल निधि दिवाकर स्कूल पहुंचीं तो बच्चों ने उन्हें इस घटना के बारे में बताया। प्रिंसिपल ने तुरंत वन विभाग को इस घटना के बारे में जानकारी दी। अजमेर यादव के नेतृत्व में फील्ड फॉरेस्ट टीम ने घटनास्थल का जायजा लिया। टीम ने तेंदुए के पैरों के निशान की तस्वीरें भी खींची। 

पीलीभीत टाइगर रिजर्व (PTR) के सह निदेशक नवीन खंडेलवाल ने कहा कि पैरों के निशान की पहचान कर ली गई हैं। निशानों से लगता है कि तेंदुआ वयस्क था।  नवीन खंडेलवाल ने बताया बरही रेंज के अधिकारी सुरक्षा सजग हैं। तेंदुए के आवाजाही और छात्रों की सुरक्षा के लिए स्कूल में सशस्त्र वन कर्मियों की एक टीम तैनात की गई है।  नवीन खंडेलवाल ने कहा कि उम्मीद है कि तेंदुआ एक-दिनों में वापस जंगल की ओर चला जाएगा। 

इस बीच बिना किसी सुरक्षा के बच्चे अपनी कक्षाओं में रहे। ग्राम प्रधान रंजीत सिंह ने ग्रामीणों को अपने बच्चे के साथ स्कूल जाने के लिए कहा है। 

Web Title: Children lock themselves in classrooms after leopard strays into UP school
ज़रा हटके से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे