13 Year Boy From UP Has Written 37 Letters To PM Modi, Asking Him To Give His Father's upse Job Back | 'मोदी है तो मुमकिन है' नारे को सच मानकर 37 चिट्ठियां लिख चुका है यह बच्चा, पीएम ने आजतक नहीं दिया जवाब
सार्थक अपने पिता की नौकरी वापस दिलाने के लिए संघर्ष कर रहा है। फोटो क्रेडिट: ANI

उत्तर प्रदेश का रहने वाला कक्षा 8वीं का छात्र सार्थक त्रिपाठी ने पीएम मोदी से अपने पिता की नौकरी वापस दिलाने की गुहार लगाई है। सार्थक के पिता उत्तर प्रदेश स्टॉक एक्सेंज (यूपीएसई) में काम करते थे।

पिता को उनकी नौकरी वापस दिलाने के लिए 13 साल के बच्चे सार्थक ने पीएम मोदी को एक, दो नहीं बल्कि 37 चिट्ठियां लिखीं हैं। सार्थक ने पीएम मोदी को भेजी चिट्ठियों में लिखा कि,"पिता की नौकरी जाने के बाद उसका परिवार बहुत परेशानियों से गुजर रहा है। मेरी पीएम मोदी से निवेदन है कि वो मेरे पापा की नौकरी वापस दिलवा दें।"

सार्थक ने लिखा कि बिना किसी वजह के उसके पिता को यूपीएसई से नौकरी से निकाला गया। 13 साल का सार्थक लगभग पिछले 4 से (साल 2016) से पीएम मोदी को चिट्ठियां लिख रहा है, लेकिन आज तक उसे पीएम मोदी से कोई जवाब नहीं मिला है। 

एक चिट्ठी में सार्थक त्रिपाठी ने यहां तक लिखा कि मैंने पीएम मोदी का स्लोगन सुना है- मोदी है तो मुमकिन है इसलिए मेरी गुजारिश है कि पीएम मोदी एक बार मेरी बात सुनें।

आगे उसने लिखा कि उनके पिता को यूपीएसई के ही कुछ लोगों ने नौकरी से निकलवा दिया है। उन लोगों के खिलाफ कार्यवाई की जाए और पिता को इंसाफ मिले।


Web Title: 13 Year Boy From UP Has Written 37 Letters To PM Modi, Asking Him To Give His Father's upse Job Back
ज़रा हटके से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे