Next

Covishield vaccine किन लोगों को नहीं लगवानी चाहिए? Bharat Biotech के बाद अब Serum Institute ने भी किया आगाह

By गुणातीत ओझा | Published: January 19, 2021 10:29 PM2021-01-19T22:29:32+5:302021-01-19T22:31:44+5:30

कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccination) के दौरान सामने आ रहे साइड इफेक्ट (Corona Vaccine Side Effects) के मामलों को देखते हुए भारत बायोटेक (Bharat Biotech) के बाद अब सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute) ने भी एक फैक्टशीट जारी कर लोगों को आगाह किया है।

कोविशील्ड वैक्सीन किन लोगों को नहीं लगवानी चाहिए?

भारत में टीकाकरण के रूप में कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ जंग तेज हो चुकी है। कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccination) के दौरान सामने आ रहे साइड इफेक्ट (Corona Vaccine Side Effects) के मामलों को देखते हुए भारत बायोटेक (Bharat Biotech) के बाद अब सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute) ने भी एक फैक्टशीट जारी कर लोगों को आगाह किया है। ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield vaccine) किन लोगों को नहीं लगवानी चाहिए, इसके लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने एक फैक्टशीट जारी की है और कहा है कि जिन लोगों को कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के किसी भी घटक से किसी तरह की एलर्जी है, उन्हें सलाह दी जाती है कि ये टीका न लगवाएं।

वैक्सीन लाभार्थियों के लिए सीरम इंस्टीट्यूट के फैक्टशीट के मुताबिक, अगर कोई शख्स इस टीके की पिछली खुराक के बाद गंभीर एलर्जी का शिकार हुआ है या उसकी बॉडी में वैक्सीन के बाद कोई साइड इफेक्ट दिखा है तो ऐसे लोगों को कोविशील्ड की वैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए। कोविशील्ड वैक्सीन में क्या-क्या अवयव यानि कंपोनेंट हैं, उसे सीरम इंस्टीट्यूट ने सार्वजनिक किया है। सीरम ने बताया है कि कोविशिल्ड वैक्सीन में एल-हिस्टिडाइन, एल-हिस्टिडाइन हाइड्रोक्लोराइड मोनोहाइड्रेट, मैग्नीशियम क्लोराइड हेक्साहाइड्रेट, पॉलिसोरबेट 80, इथेनॉल, सुक्रोज, सोडियम क्लोराइड, डायोडियम एडिटेट डाइहाइड्रेट (ईडीटीए), इंजेक्शन के लिए पानी की मात्रा है।

कोविशील्ड निर्माता कंपनी ने बताया कि वैक्सीन लाभार्थी को खुराक लेने से पहले अपने हेल्थ केयर प्रोवाइडर को अपने मेडिकल कंडिशन के बारे में बताना चाहिए। कंपनी ने ऐसे लोगों को टीका नहीं लगवाने की सलाह दी है, जिन्हें कुछ समय से एलर्जी, बुखार, ब्लीडिंग डिसऑर्डर की शिकायत रही हो, साथ ही जिनकी प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है या दवाई ले रहे हैं या फिर जिसका प्रतिरक्षा प्रणाली पर असर हो सकता है।

सीरम की ओर से जारी फैक्टशीट में बताया गया है कि प्रेग्नेंट महिलाओं और ब्रेस्ट फीडिंग कराने वाली महिलाओं को भी कोविशील्ड वैक्सीन की खुराक नहीं लेनी है। साथ ही जो प्रेग्नेंसी की प्लानिंग करना चाहती है, उस महिला को भी इसकी खुराक नहीं लेनी चाहिए। इसके अलावा, अगर कोई शख्स किसी अन्य बीमारी की दवा ले रहा है, काफी समय से बुखार से पीड़ित है या उसे खून संबंधी कोई बीमारी है, तो ऐसे लोगों को भी कोविशील्ड की वैक्सीन नहीं लगवानी है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, सोमवार को शाम पांच बजे तक देश में कोरोना वायरस के खिलाफ कुल 3,81,305 लाभार्थियों को टीका लगाया गया था और टीकाकरण के बाद 580 साइड इफेक्ट के मामले सामने आए हैं। बता दें कि भारत बायोटेक ने भी सोमवार को फैक्टशीट जारी किया था और संबंधित लोगों को वैक्सीन नहीं लेने की सलाह दी थी।

टॅग्स :कोवाक्सिनCovaxin