ट्विटर द्वारा निकाले गए कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, देसी कंपनी कू ने नौकरी देने का किया एलान, कही यह बात

By आजाद खान | Published: November 19, 2022 01:07 PM2022-11-19T13:07:28+5:302022-11-19T13:17:44+5:30

आपको बता दें कि तीन साल पहले देसी माइक्रोब्‍लॉगिंग प्‍लेटफॉर्म कू लॉन्च हुआ था। ऐसे में बहुत जल्द इस प्लेटफॉर्म ने ग्रोथ किया है और अब तक इसके पांच करोड़ से भी ज्यादा डाउनलोड हो चुके है।

Good news employees fired by Twitter desi microblogging platform company Koo announced job offer | ट्विटर द्वारा निकाले गए कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, देसी कंपनी कू ने नौकरी देने का किया एलान, कही यह बात

फोटो सोर्स: ANI

Next
Highlightsट्विटर द्वारा निकाले गए कर्मचारियों की मदद के लिए देसी माइक्रोब्‍लॉगिंग प्‍लेटफॉर्म कू सामने आया है। कू के को-फाउंडर मयंक बिदावतका ने ट्विटर द्वारा निकाले गए कर्मचारियों को नौकरी देने की बात कही है। दावा किया जरा है कि ट्विटर ने तकरीबन 3700 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला है।

नई दिल्ली: दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्‍क (Elon Musk) के ट्विटर (Twitter) के नए मालिक बनने के बाद कंपनी ने कर्मचारियों की छंटनी शुरू कर दी है। ऐसे में कहा जा रहा है कि कंपनी ने कम से कम अपनी कर्मचारियों की संख्या को आधी कर दी है। 

ट्विटर द्वारा किए गए छंटनी का असर भारतीय कर्मचारियों पर भी पड़ा है और भारी संख्या में यहां काम करने वाले लोगों की नौकरी गई है। ऐसे में ट्विटर द्वारा बेरोजगार हुए लोगों को माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म कू (Koo) ने अपने यहां नौकरी देने के संकेत दिए है। 

क्या कहा कू के फाउंजर ने

ट्विटर द्वारा भारी संख्या में कर्मचारियों को निकालने के बाद कू के को-फाउंडर मयंक बिदावतका ने एक ट्वीट किया है। मयंक ने ट्वीट कर कहा है उनकी कंपनी ने ट्विटर द्वारा निकाले गए कर्मचारियों को अपनी कंपनी में भर्ती के लिए योजना बनाई है। 

उन्होंने लिखा है, "#RIPTwitter। हम ट्विटर के कुछ पूर्व कर्मचारियों को काम पर रखेंगे, क्योंकि हम विस्तार करते रहेंगे और अपने बड़े अगले दौर की तरफ जाएंगे। उन्‍होंने पूर्व ट्विटर कर्मचारियों के लिए लिखा कि वो वहां काम करना डिजर्व करते हैं, जहां उनकी प्रतिभा को महत्व दिया जाता है।"

क्या है माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म कू, ट्विटर ने कितने लोगों को निकाला काम से

आपको बता दें कि कू को लॉन्च हुए केवल तीन साल ही हुए है और इस एप ने खुद को देसी माइक्रोब्‍लॉगिंग प्‍लेटफॉर्म के रूप में अपनी पहचान बनाई है। लॉन्च से लेकर अब तक इस एप को पांच करोड़ बार डाउनलोड किया जा चुका है। 

यह एप कोरोने के समय लॉन्च हुआ था जिसने क्षेत्रीय भाषाओं में अपनी एक अलग ही पहचान बनाई है और देश में ट्विटर का प्रतिद्वंद्वी बनकर सामने आया है। वहीं अगर बात करें ट्विटर का तो कंपनी ने हाल फिलहाल में भारी छंटनी की है जिससे यह कहा जा रहा है कि इससे भारी मात्रा में भारतीय कर्मचारियों पर भी असर पड़ा है। 

बताया जा रहा है कि करीब 3700 लोगों को ट्विटर ने ईमेल कर कंपनी से बाहर निकाला है। यही नहीं दावा यह भी किया जा रहा है कि एलन मस्क ने काम करने के तरीकों में भी कई बेड़े बदलाव किए है और कई कड़े नियम बनाए है। 

Web Title: Good news employees fired by Twitter desi microblogging platform company Koo announced job offer

टेकमेनिया से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे