Sachin Pilot met Rahul Gandhi and Priyanka Gandhi | कांग्रेस में पायलट की होगी वापसी!, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मिले सचिन पायलट
सचिन पायलट (फाइल फोटो)

Highlightsकुछ समय पहले राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष ने कहा था कि सचिन पायलट के लिए कांग्रेस के दरवाजे बंद हैंअशोक गहलोत ने सचिन पायलट पर लगाए हैं सरकार गिराने के आरोप।अब देखना यह है कि सचिन पायलट की कांग्रेस में वापसी होती है या नहीं अगर होती है तो किन शर्तों पर।

नई दिल्ली: राजस्थान में मचे सियासी घमासान के बीच खबर आ रही है कि सचिन पायलट ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी से मुलाकात की है। मौके पर प्रियंका गांधी के मौजूद रहने की खबर भी आ रही है। 

इंडिया टुडे की मानें तो सचिन पायलट की प्रियंका व राहुल गांधी के साथ बैठक बेहद सकारात्मक रही है। इसके बाद कांग्रेस में पायलट व उनके खेमे के विधायकों के वापसी की संभावना लगाई जा रही है। 

इससे पहले सचिन पायलट ने साफ किया था कि उनके गुट के सभी विधायक विधानसभा सत्र में हिस्सा लेंगे। ऐसे में अब यह कयास लगाया जा रहा है कि पायलट को मनाने में पार्टी के वरिष्ठ नेता सफल रहे हैं। 

राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष ने कहा था-  सचिन पायलट के लिए कांग्रेस के दरवाजे बंद हैं

बता दें कि इससे पहले राजस्थान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने रविवार (10 अगस्त)  को ही पायलट खेमे को लेकर पार्टी का रुख साफ किया था। गोविंद सिंह डोटासरा ने साफ कहा था कि दो भी विधायक  पायलट खेमे को छोड़कर कांग्रेस में वापसी करने आएंगे, उनका हम स्वागत करेंगे। लेकिन अब सचिन पालयट के लिए राजस्थान कांग्रेस के दरवाजे हमेशा के लिए बंद हो गए हैं।

ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि आगे सचिन पायलट यदि कांग्रेस में लौटते भी हैं तो प्रदेश कांग्रेस की नराजगी झेलना उनके लिए कितना मुश्किल या आसान होगा। 

कांग्रेस नेता सचिन पायलट (फाइल फोटो)
कांग्रेस नेता सचिन पायलट (फाइल फोटो)

पहले राहुल और प्रियंका गांधी ने की थी सचिन पायलट को मनाने की कोशिश 

कांग्रेस के बड़े नेताओं ने राजस्थान में कहा था कि इससे पहले भी सचिन पायलट को पिछले महीने कांग्रेस के वरिष्ट नेताओं और आलाकमान की ओर से भी मनाने की कोशिश की गई थी। लेकिन, सचिन पायलट ने सकारात्मक रवैया नहीं दिखाया था, जिसके बाद कांग्रेस पार्टी ने भी अपना रुख साफ कर दिया है। 

सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री पद और प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाने से पहले राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कोशिश की थी वह सचिन पायलट से मुलाकात कर सके। लेकिन जानकारी के मुताबिक उस वक्त सचिन पायलट ने दोनों नेताओं ने मिलने से मना कर दिया था।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ बगावत करने के बाद सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री पद और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से बर्खास्त किया जा चुका है। सचिन पायलट के साथ उनके खेमे के 18 विधायक भी बागी करार दे दिए गए हैं। 

अशोक गहलोत और सचिन पायलट (फाइल फोटो)
अशोक गहलोत और सचिन पायलट (फाइल फोटो)

अशोक गहलोत ने सचिन पायलट पर लगाए हैं सरकार गिराने के आरोप

राजस्थान में सियासी ड्रामे के बीच राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 20 जुलाई को सचिन पायलट को 'निक्कमा और नकारा' तक बोल दिया था। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बागी नेता सचिन पायलट पर निशाना साधते हुए कहा था कि जिस शख्स को कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के रूप में इतना मान-सम्मान मिला वही पार्टी की पीठ में छुरा भोंकने का तैयार हो गया। उन्होंने कहा कि देश के इतिहास में शायद ही ऐसा कोई और उदाहरण देखने को मिले कि पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष ने अपनी ही सरकार को गिराने के षडयंत्र किया।

गहलोत ने कहा था,  ''हिंदुस्तान में राजस्थान एकमात्र ऐसा राज्य है जहां सात साल में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को बदलने की कभी मांग नहीं हुई। हम जानते थे कि 'निक्कमा' है, 'नकारा' है, कुछ काम नहीं कर रहा है ... खाली लोगों को लड़वा रहा है।''

Web Title: Sachin Pilot met Rahul Gandhi and Priyanka Gandhi
राजनीति से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे