Noteban, faulty implementation of GST, lockdown destroyed India’s economic structure, says Rahul Gandhi | राहुल गांधी ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- नोटबंदी, जीएसटी के त्रुटिपूर्ण क्रियान्वयन और लॉकडाउन ने भारत के आर्थिक ढांचे को तबाह किया
राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी, जीएसटी के त्रुटिपूर्ण क्रियान्वयन और लॉकडाउन ने भारत के आर्थिक ढांचे को तबाह किया। (फाइल फोटो)

Highlightsबेरोजगारी के खिलाफ आवाज उठाने के उद्देश्य से युवा कांग्रेस ने रविवार को “रोजगार दो” अभियान की शुरुआत की।इस मौके पर राहुल गांधी ने आरोप लगाया नोटबंदी, जीएसटी को ‘त्रुटिपूर्ण’ तरीके से लागू करने और लॉकडाउन के फैसले ने देश के आर्थिक ढांचे को “तबाह” कर दिया।

नई दिल्ली। बेरोजगारी के खिलाफ आवाज उठाने के उद्देश्य से युवा कांग्रेस ने रविवार को “रोजगार दो” अभियान की शुरुआत की और इस मौके पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार के नोटबंदी, जीएसटी को ‘त्रुटिपूर्ण’ तरीके से लागू करने और लॉकडाउन के फैसले ने देश के आर्थिक ढांचे को “तबाह” कर दिया। विपक्षी पार्टी ने कहा कि उसने ‘रोजगार दो’ अभियान की शुरूआत इसलिए की है क्योंकि इससे पहले कभी देश में बेरोजगारी की यह स्थिति नहीं देखने को मिली।

राहुल गांधी ने आरोप लगाया, “नरेंद्र मोदी जब प्रधानमंत्री बने थे तो उन्होंने देश के युवाओं से वादा किया था कि वह हर साल दो करोड़ रोजगार देंगे। उन्होंने एक सपना बेचा लेकिन हकीकत यह है कि नरेंद्र मोदी की नीतियों की वजह से 14 करोड़ लोग बेरोजगार हो गए।”

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने ट्वीट किये गए एक वीडियो संदेश में कहा, “ऐसा क्यों हुआ? गलत नीतियों की वजह से। नोटबंदी, जीएसटी का त्रुटिपूर्ण क्रियान्वयन और फिर लॉकडाउन- इन तीन कदमों ने देश के आर्थिक ढांचे को तबाह कर दिया और अब सच्चाई यह है कि भारत अपने युवाओं को रोजगार नहीं दे सकता।”

उन्होंने कहा, इसलिये भारतीय युवा कांग्रेस सड़कों पर उतरी है। गांधी ने कहा, “कृपया युवा कांग्रेस के साथ ‘रोजगार दो’ कार्यक्रम में शामिल हों, राष्ट्र के युवाओं के लिये नौकरियां हासिल करें।” उन्होंने युवा कांग्रेस को उसके स्थापना दिवस पर बधाई दी और उनसे देश के युवाओं की लड़ाई लड़ते रहने का अनुरोध किया। इस अभियान के साथ एकजुटता दिखाते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने कहा कि “युवा शक्ति” भारत की ताकत है।

उन्होंने ट्विटर पर कहा, “भाजपा सरकार की नौकरियों को बर्बाद करने की नीतियों के विपरीत भारत में युवाओं के लिये ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर पैदा करने की जरूरत है।” उन्होंने कहा, “ ‘रोजगार दो’ युवा भारत की मांग है। रोजगार युवा भारत की जरूरत है।” भारतीय युवा कांग्रेस (आईवाईसी) ने कहा कि “रोजगार दो” अभियान के तहत देश भर में बेरोजगार युवाओं की आवाज उठाई जाएगी।

संगठन ने एक बयान में कहा, “सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से युवाओं में केंद्र सरकार की युवा विरोधी नीतियों को उजागर किया जाएगा।” कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि इस देश के हर युवा की मांग है “रोजगार दो”। उन्होंने कहा, “हम सब मांग करेंगे, यह हमारा अधिकार है कि देश के युवाओं को योग्यता के आधार पर रोजगार मिले और देश प्रगति के पथ पर आगे बढ़े।” दिग्विजय सिंह, दीपेंद्र हुड्डा, गौरव गोगोई, राजीव सातव, गौरव वल्लभ और रागिनी नायक ने भी युवाओं के लिये रोजगार के अवसर बढ़ाने की जरूरत बताई।

Web Title: Noteban, faulty implementation of GST, lockdown destroyed India’s economic structure, says Rahul Gandhi
राजनीति से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे