Highlightsइस बैठक में कांग्रेस पार्टी एलएसी पर जारी तनाव व देश को बॉर्डर पर जारी तनाव के बारे में सही जानकारी देने के मुद्दा को उठा सकती है।खबर यह भी है कि मोदी सरकार ने संसद के मानसून सत्र को सुचारू रूप से चलाने के लिए रणनीति बनाने के लिए यह बैठक बुलाई है। चीन व भारत के बीच एलएसी पर तनाव जारी है, 20 दिनों में 3 बार दोनों देशों के बीच गोलीबारी हुई है।

नई दिल्ली:चीन के साथ बॉर्डर पर जारी तनाव के बीच नरेंद्र मोदी सरकार ने आज (बुधवार) शाम 5 बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इस बैठक को बेहद अहम माना जा रहा है। संभव है कि विपक्षी नेताओं के साथ सरकार चीन के मुद्दे पर बातचीत कर सकती है। वहीं, खबर यह भी है कि मोदी सरकार ने संसद के मानसून सत्र को सुचारू रूप से चलाने के लिए रणनीति बनाने के लिए यह बैठक बुलाई है। 

इस बैठक में कांग्रेस पार्टी एलएसी पर जारी तनाव व देश को बॉर्डर पर जारी तनाव के बारे में सही जानकारी देने के मुद्दा को उठा सकती है। विपक्ष का सरकार पर आरोप है कि मोदी सरकार बॉर्डर पर जो हालात है, उसके बारे में देश को जानकारी सही से नहीं दे रहे हैं। 

एचटी रिपोर्ट की मानें तो रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी इस बैठक में नरेंद्र मोदी सरकार का प्रतिनिधित्व करेंगे। विपक्षी दलों ने बैठक के लिए अपनी तरफ से इस बैठक के लिए नेताओं की प्रतिनियुक्ति की है।

In Rajnath Singh's Comments To Parliament, Strong Warning To China

कुछ लोगों का मानना है कि प्रमुख विधेयकों को जल्द पारित कराने के लिए इस बैठक में सरकार विपक्ष से बात कर मदद प्राप्त करना चाहेगी। लेकिन, दूसरी तरफ विपक्ष भारत-चीन सीमा की स्थिति और अर्थव्यवस्था आदि को लेकर सरकार से सवाल पूछेंगे। 

पूर्वी लद्दाख में पिछले 20 दिनों में भारत-चीन के बीच 3 बार हुई गोलीबारी की घटनाएं-

पूर्वी लद्दाख में भारत व चीन सीमा पर तनाव जारी है। मिल रही जानकारी के मुताबिक, पिछले 20 दिनों में दोनों देशों की सेना के बीच तीन बार गोलीबारी की घटना हुई है। दोनों देशों के बीच पहली बार फायरिंग की घटना 29 व 31 अगस्त के बीच हुई। इसके बाद, भी दो बार और दोनों देशों की सेना के बीच फायरिंग हुई है। 

यही वजह है कि दोनों देशों के बॉर्डर पर भारी तनाव है। चीनी सेना ने एक बार फिर से पैंगोंग झील के दक्षिणी हिस्से पर घुसपैठ करने की कोशिश की थी, जिसे भारतीय सेनाओं ने असफल कर दिया था। मिल रही जानकारी के मुताबिक, 7 सितंबर को मुखपरी में दूसरी बार दोनों देशों की सेना के बीच गोली चलने की घटना हुई थी। 

राजनाथ सिंह ताज्या मराठी बातम्या | Rajnath Singh Online News in Marathi at Lokmat.com

यही नहीं 8 सितंबर को पैंगोंग झील के पास फिर से दोनों देशों की सेना आमने सामने हो गई, इस बार चीनी सेना के काफी उग्र होने की वजह से दोनों तरफ से करीब 100 राउंड गोली चलने की खबर है।

राजनाथ सिंह ने माना, चीन ने 38 हजार स्क्वायर किलोमीटर भूमि पर घुसपैठ किया, तो राहुल ने या कहा- 

मंगलवार को संसद में भारत के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि यह सदन अवगत है चाईना, भारत की लगभग 38,000 स्क्वायर किलोमीटर भूमि का अनधिकृत कब्जा लद्दाख में किए हुए है। रक्षा मंत्री के इस बयान पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला किया है।

Parliament session: India is ready for any situation at border, says Defence Minister Rajnath Singh

राहुल गांधी ने कहा कि रक्षामंत्री के बयान से साफ है कि मोदी जी ने देश को चीनी अतिक्रमण पर गुमराह किया है।  इसके साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि हमारा देश हमेशा से भारतीय सेना के साथ खड़ा था, है और रहेगा। लेकिन, मोदी जी, आप कब चीन के ख़िलाफ़ खड़े होंगे? चीन से हमारे देश की ज़मीन कब वापस लेंगे? चीन का नाम लेने से डरो मत।

बता दें कि रक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि 1963 में एक तथाकथित बाउंडरी एग्रीमेंट के तहत, पाकिस्तान ने PoK की 5180 स्क्वायर किलोमीटर भारतीय जमीन अवैध रूप से चाईना को सौंप दी है। LAC पर चीन ने सैनिक व गोला बारूद जुटा लिए हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारी सेना भी तैयार है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि यह भी बताना चाहता हूं कि अभी तक भारत-चीन के बॉर्डर इलाके में कॉमनली डेलीनिएटिड LAC नहीं है और LAC को लेकर दोनों की धारणा अलग-अलग है। 

Web Title: Modi government convenes all-party meeting amid tensions on border with China
राजनीति से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे