kanpur encounter: rahul gandhi slams on government over 8 up policemen shot dead | कानपुर शूटआउटः राहुल गांधी ने कहा- यूपी में गुंडाराज का एक और प्रमाण, जब पुलिस सुरक्षित नहीं, तो जनता कैसे होगी?
कानपुर एनकाउंटर को लेकर राहुल गांधी ने सवाल खड़े किए हैं। (फाइल फोटो)

Highlightsराहुल गांधी ने शहीद पुलिसकर्मियों के लिए संवेदना व्यक्त की है। प्रियंका गांधी ने कहा है कि आमजन व पुलिस तक सुरक्षित नहीं है।

लखनऊः उत्तर प्रदेश के कानपुर में अपराधियों के साथ मुठभेड़ में एक पुलिस उपाधीक्षक समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए और आठ पुलिस कर्मी घायल हो गए हैं, जबकि दो अपराधी भी इस दौरान मारे गए। इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व पार्टी के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने इशारों ही इशारों में प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। साथ ही साथ शहीद पुलिसकर्मियों के लिए संवेदना व्यक्त की है। 

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, 'यूपी में गुंडाराज का एक और प्रमाण। जब पुलिस सुरक्षित नहीं, तो जनता कैसे होगी? मेरी शोक संवेदनाएँ मारे गए वीर शहीदों के परिवारजनों के साथ हैं और मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।'   

इससे पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा, 'बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस पर बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी जिसमें यूपी पुलिस के सीओ, एसओ सहित 8 जवान शहीद हो गए। यूपी पुलिस के इन शहीदों के परिजनों के साथ मेरी शोक संवेदनाएं। यूपी में कानून व्यवस्था बेहद बिगड़ चुकी है, अपराधी बेखौफ हैं।' 

उन्होंने अगले ट्वीट में कहा, 'आमजन व पुलिस तक सुरक्षित नहीं है। कानून व्यवस्था का जिम्मा खुद सीएम के पास है। इतनी भयावह घटना के बाद  उन्हें सख़्त  कार्यवाही करनी चाहिए। कोई भी ढिलाई नहीं होनी चाहिए।'

गांव के युवक की शिकायत पर गई थी पुलिस

गौरतलब है कि गुरुवार-शुक्रवार की रात में ग्राम बिकरू, थाना चौबेपुर, जनपद कानपुर नगर में गांव के ही एक व्यक्ति की शिकायत पर एक शातिर अपराधी को पकड़ने गई कानपुर पुलिस टीम पर अकस्मात बदमाशों ने छत से गोली चलाना शुरू कर दिया। इसमें एक पुलिस क्षेत्राधिकारी, तीन उप-निरीक्षक और चार कांस्टेबल मौके पर शहीद हो गए। 

अपराधियों को पकड़ने के प्रयास तेज

कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने शुक्रवार को बताया कि पुलिस और अपराधियों के बीच शुक्रवार सुबह मुठभेड़ में दो अपराधी मारे गये हैं। अभी तक उनकी पहचान नहीं हो पाई है। अपराधी मारे गए पुलिसकर्मियों के चार हथियार भी छीन ले गये थे, जिसमें से एक पिस्तौल मुठभेड़ में मारे गए एक अपराधी के पास से शुक्रवार सुबह बरामद हुई। अग्रवाल ने कहा कि फरार अपराधियों को पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं। 

कानपुर शूटआउट में ये आठ पुलिसकर्मी हुए शहीद

मुठभेड़ में क्षेत्राधिकारी पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र मिश्रा, उप निरीक्षक महेश चन्द्र यादव, उप निरीक्षक अनूप कुमार सिंह, उप निरीक्षक नेबू लाल, कांस्टेबल जितेंद्र पाल, कांस्टेबल सुल्तान सिंह, कांस्टेबल बबलू कुमार और कांस्टेबल राहुल कुमार की मौत हो गई। 

Web Title: kanpur encounter: rahul gandhi slams on government over 8 up policemen shot dead
राजनीति से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे