Bihar CM Nitish Kumar said on liquor ban Drink will strictly action order police | बिहार में शराबबंदी पर नीतीश कुमार ने कहा- 'दारू पियेगा, तब ही जियेगा' ऐसे लोगों पर कार्रवाई करें पुलिस
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। (फोटो सोर्स- सोशल मीडिया)

Highlightsनीतीश कुमार ने नाम न लेते हुए तेजस्वी यादव के कार्य को लेकर सवाल खड़े कर दिए।मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी में मेरा कोई स्वार्थ नहीं है, लोगों के हित में मैं इसे छोडने वाला नहीं हूं।

पटना,26 फरवरीबिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार पुलिस सप्ताह को लेकर एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सहित पूरे विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि किसी के नजदीकी वाला कोई भी आदमी शराब के मामले में गडबडी करता है तो उसे सीधे अंदर कर दें। बिहार में बीते कुछ दिनों से शराबबंदी को लेकर हो रहे हो हंगामे और विपक्ष के साथ-साथ सत्ता पक्ष के साथियों के द्वारा निशाना साधने पर यह बातें कही। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बहुत लोग अपने को ज्ञानी समझते हैं, लेकिन जब चरित्र नहीं हैं, तो चरित्र के बिना ज्ञान सामाजिक पाप है। उन्होंने कहा आज कुछ लोग सबसे ज्यादा लिखते हैं और क्या क्या लिखते हैं? हम लोग जो काम करते हैं। उसको लेकर लिखते हैं तो अपने को बहुत बडा ज्ञानी समझते हैं और लिखते हैं गडबड। इस दौरान उन्होंने बापू के विचारों को लेकर कहा कि जब तक धरती है, तब तक वह जीवित रहेगा। 

शराबबंदी में शिथिलता बरतने वालों के खिलाफ कार्रवाई

नीतीश कुमार ने नैतिकता के बिना व्यापार, मानवता के बिना विज्ञान और त्याग के बिना पूजा सामाजिक पाप है। इस दौरान उन्होंने कहा त्याग के बिना पूजा का कोई लाभ नहीं होने वाला है, इसे कुछ लोगों को समझना चाहिए। उन्होंने कहा कि अप्रैल 2016 से जनवरी 2021 तक 255111 मामले दर्ज हुए हैं। उन्होंने कहा कि शराबबंदी में शिथिलता बरतने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई हो रही है। 

मुख्यमंत्री ने कहा- शराबबंदी में मेरा कोई स्वार्थ नहीं 

पुलिस और मद्य निषेध के 619 कर्मियों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही, 348 पर प्राथमिकी और 186 कर्मियों को बर्खास्त किया गया। 60 पुलिस अधिकारी थानेदार बनने से वंचित हुए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी में मेरा कोई स्वार्थ नहीं है, लोगों के हित में मैं इसे छोडने वाला नहीं हूं। उन्होंने कहा कि 90 फीसदी लोग अच्छे हैं। महज 10 फीसदी इधर से उधर में रहते हैं। 

शराब पीने-पिलाने में कोई भी शामिल हो, बचना नहीं चाहिए

सीतामढ़ी की घटना पर उन्होंने कहा कि पुलिस पहुंची तो धंधा करने वालों ने गोली चला दी। हमेशा पुलिस को टीम में भेजें, इक्का-दुक्का ना जाएं। जब तक धरती है बापू के विचार जिंदा रहेंगे। नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव 2015 से पहले हमने महिलाओं से स्‍वच्‍छ एवं सुरक्षित समाज देने का वादा किया था। 2016 में शराबबंदी लागू कर इस वादे को पूरा किया। हमने स्‍पष्‍ट कह रखा है कि शराब पीने-पिलाने में कोई भी शामिल हो, बचना नहीं चाहिए। इसमें मेरा व्‍यक्तिगत हित नहीं है, बल्कि समाज के लिए जरूरी है। डीजीपी साहब 'दारू पियेगा, तब ही जियेगा', ऐसे लोगों पर प्राइवेटली नजर रखिए और कार्रवाई कीजिए।

 दुनिया में 27 प्रतिशत एक्सीडेंट चालक के दारु पीने के कारण होता है

मुख्यमंत्री ने कहा कि दुनिया में 27 प्रतिशत एक्सीडेंट चालक के दारु पीने के कारण होता है। उन्होंने कहा कि आज क्या स्थिति है, इसे समझ लेना चाहिए। दारू पीने से कई बीमारी होती है। 48 प्रतिशत लीवर की बीमारी दारू के कारण होती है। माउथ कैंसर 26 फीसदी मौत दारू के कारण होती है। इस तरह के कई गंभीर बीमारियों का कारण शराब है। कुछ लोग गोपनीय ढंग से दारू लाकर बेच रहे हैं।

नीतीश कुमार ने पुलिस अफसरों का बढ़ाया हौसला

ऐसे लोगों पर निगरानी रखने के लिए हमने बोल दिया है कि प्राइवेट लोगों की नियुक्ति की जाए। उन्होंने कहा कि कई लोग कहते हैं कि कुछ लोग बिना शराब के नहीं जी सकते हैं। इससे ज्यादा बकवास बात कुछ नहीं हो सकती है। नीतीश कुमार ने पुलिस अफसरों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि बिहार पुलिस की कार्यशैली में काफी सुधार हुआ है। हाल में शराब माफिया ने पुलिस पर गोली चलाई। हमने कह दिया है कि इस तरह के अपराधियों को किसी सूरत में बख्‍शा नहीं जाएगा। शराब की सूचना पर पूरी टीम छापेमारी करने जाएगी। अभी हाल में पुलिस ने हरियाणा और असम से तस्‍करों के सरगना को पकडा। इसके लिए मैं बिहार पुलिस को बधाई देता हूं। तब और अब की पुलिसिंग में सार्थक बदलाव आया है।

Web Title: Bihar CM Nitish Kumar said on liquor ban Drink will strictly action order police

राजनीति से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे