30 and many independent MLAs of Congress along with Sachin Pilot, all said - with every decision of Pilot | सचिन पायलट के साथ कांग्रेस के 30 व कई निर्दलीय विधायक, सबों ने कहा- पायलट के हर फैसले के साथ हैं
कांग्रेस नेता सचिन पायलट (फाइल फोटो)

Highlightsखबरों के मुताबिक राजस्थान के 10 विधायक दिल्ली में हैं, ये विधायक कांग्रेस आलाकमान से मिलकर अपनी समस्याएं बताना चाहते हैं।सचिन पायलट भी शनिवार को दिल्ली में थे, उन्होंने सियासी संकट पर अहमद पटेल से बात की है।भाजपा नेताओं ने सरकार गिराने के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि गहलोत अपनी विफलता को छुपाने के लिए ऐसे आरोप लगा रहे हैं।

नई दिल्ली: राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार खतरे में है। इस बार अशोक गहलोत व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच आपसी मनमुटाव खुलकर सामने आ गया है। यही वजह है कि डिप्टी सीएम सचिन पायलट अपने समर्थक विधायकों के साथ दिल्ली पहुंच गए हैं। 

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस के 30 विधायक और अन्य निर्दलीय विधायक सचिन पायलट के संपर्क में हैं और उन्होंने किसी भी फैसले में साथ देने को कहा है। इस तरह साफ है कि आगे का फैसला अब सचिन पायलट को करना है।

डिप्टी सीएम सचिन पायलट पार्टी के आलाकमान से मिलकर अपनी बात रखना चाहते हैं। अचानक सचिन पायलट का समर्थक विधायकों के साथ दिल्ली पहुंचने से यह साफ होता है कि अब अशोक गहलोत व सचिन पायलट के बीत सबकुछ ठीक नहीं है। लेकिन, इतने के बावजूद मिल रही जानकारी के मुताबिक, पार्टी आलाकमान सोनिया गांधी पायलट से मिलकर इस मामले में बात करने को तैयार नहीं है। 

कपिल सिब्बल ने ट्वीट कर कहा है कि मैं अपनी पार्टी को लेकर चिंतित हूं-

इन सबके बीच कांग्रेस पार्टी  के नेता कपिल सिब्बल ने ट्वीट कर कहा है कि मैं अपनी पार्टी को लेकर चिंतित हूं। यही नहीं सिब्बल ने कहा कि घोड़ा अस्तबल से निकल जाएगा हम तभी जागेंगे?

कपिल सिब्बल ने एक तरह से कांग्रेस आलाकमान की चुप्पी पर सवाल खड़ा करते हुए अप्रत्यक्ष तरीके से उन्हें सावधान किया है। कपिल चाहते हैं कि सचिन ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया की तरह कोई फैसला ले इससे पहले कांग्रेस आलाकमान को इस मामले को सुलझाना चाहिए।

राजनीतिक संकट के बीच विधायकों और मंत्रियों से मिले गहलोत-

सरकार को अस्थिर करने के लिए विधायकों को प्रलोभन दिए जाने के आरोपों के बीच कई मंत्रियों व विधायकों ने शनिवार को यहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की। सिविल लांइस स्थित मुख्यमंत्री निवास में गहलोत से मुलाकात करने वालों में सरकार के स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल, चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, चिकित्सा राज्यमंत्री सुभाष गर्ग व श्रम मंत्री टीकाराम जूली शामिल हैं। इसके अलावा बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए कई विधायक व कांग्रेस का समर्थन कर रहे निर्दलीय विधायक भी मुख्यमंत्री से मिलने पहुंचे। 

ashok gehlot and sachin pilot (File Photo)
ashok gehlot and sachin pilot (File Photo)

गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा- गहलोत अपनी फिल्म के लेखक और खलनायक दोनों हैं

गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत इस फिल्म के अभिनेता, खलनायक और पटकथा लेखक भी अकेले हैं। वह अपनी पार्टी (राज्य) के अध्यक्ष को टक्कर देने के लिए बीजेपी के कंधे से कंधा मिलाकर चल रहे हैं। गजेंद्र सिंह शेखावत ने मांग की है, मैं मांग करता हूं कि वह (अशोक गहलोत) इसे सार्वजनिक करें कि कांग्रेस के कितने विधायक हैं, जो उन्हें बिकाऊ लगते हैं।

गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा, "मुख्यमंत्री खुद इस फिल्म के पटकथा लेखक, निर्माता, निर्देशक, अभिनेता और खलनायक हैं।''

Gajendra Singh Shekhawat (File Photo)
Gajendra Singh Shekhawat (File Photo)

अशोक गहलोत ने कहा- एक बार CM बन गया तो बाकी को शांत हो जाना चाहिए

हाल ही में सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि जब एक बार मुख्यमंत्री बन गया, तो बाकी लोगों को शांत हो जाना चाहिए और काम करना चाहिए। गहलोत के इस बयान का इशारा सचिन पायलट की तरफ देखा जा रहा है। राजनीतिक गलियारों में हलचल है कि अशोक गहलोत सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री पद से हटाने का दबाव आलाकमान पर बना सकते हैं।

Web Title: 30 and many independent MLAs of Congress along with Sachin Pilot, all said - with every decision of Pilot
राजनीति से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे