HBD Smriti Mandhana: राहुल द्रविड़ के बल्ले से लगाया दोहरा शतक, पहली भारतीय महिला खिलाड़ी

By सतीश कुमार सिंह | Published: July 18, 2021 04:20 PM2021-07-18T16:20:16+5:302021-07-18T16:20:16+5:30

Next

भारतीय महिला क्रिकेटर स्मृति मंधाना का आज 25वां जन्मदिन है। अपने भाई और पिता को क्रिकेट खेलते देख स्मृति ने क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया। 9 साल की उम्र में उनका चयन महाराष्ट्र अंडर-15 टीम में हो गया था।

स्मृति मंधाना ने अक्टूबर 2013 में अंडर-19 वेस्टर्न डिवीजन क्रिकेट टूर्नामेंट में 150 गेंदों में नाबाद 224 रन बनाए थे। वह एकदिवसीय क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर थीं। स्मृति ने 17 साल की उम्र में यह कारनामा किया था।

2013 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। वह आईसीसी महिला टीम ऑफ द ईयर 2016 में नामित होने वाली एकमात्र भारतीय खिलाड़ी थीं और उन्होंने 2018 में महिला क्रिकेटर ऑफ द ईयर का पुरस्कार जीता।

स्मृति ने टीम को 2017 एकदिवसीय विश्व कप और 2020 ट्वेंटी 20 विश्व कप के फाइनल में पहुंचने में मदद करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

ऑस्ट्रेलिया में महिला बिग बैश लीग में खेल चुकी हैं। उन्हें इंग्लैंड में द हंड्रेड लीग के लिए भी चुना गया है।

स्मृति मंधाना ने 59 वनडे में 2253 रन बनाए हैं, जिसमें 4 शतक और 18 अर्द्धशतक शामिल हैं। उन्होंने 81 टी20 मैचों में 1901 रन बनाए हैं। इसमें 13 अर्धशतक शामिल हैं। उन्होंने 3 टेस्ट में दो अर्द्धशतक बनाए हैं।

2013 में स्मृति का दोहरा शतक राहुल द्रविड़ के बल्ले से लगा था। स्मृति के भाई श्रवण ने राहुल द्रविड़ से अनुरोध किया था कि जब वह बैंगलोर में थे तो उन्हें अपना बल्ला दे दें। द्रविड़ ने भी इस पर हस्ताक्षर किए और उन्हें दे दिया।