Income Tax Saving Investments: Top Investment Schemes for easy tax saving and best return in 2019 | इन योजनाओं में निवेश करें अपना पैसा, टैक्स सेविंग के साथ मिलेगा सुरक्षित भविष्य
Income Tax Saving Investments: इन योजनाओं में निवेश करें अपना पैसा, टैक्स सेविंग के साथ मिलेगा सुरक्षित भविष्य

28 साल के अंकुर एक प्राइवेट फर्म में काम करते हैं। उनकी सैलरी करीब 60 हजार रुपये महीना है। उनकी चिंता ये है कि कैसे वर्तमान सैलरी पर टैक्स सेविंग की जाए और साथ ही साथ उनका भविष्य भी सुरक्षित रहे। उनका टारगेट है कि बच्चों की शिक्षा के लिए 75 लाख रुपये, बच्चों की शादी के लिए 40 लाख रुपये और उनके रिटायरमेंट के लिए तीन करोड़ रुपये मिल जाएं। लेकिन उनकी मुश्किल है कि इन टारगेट को पूरा करने के लिए कहां निवेश किया जाए। इस मुश्किल से देश के कई युवा जूझ रहे हैं।

1 अप्रैल से नए वित्त वर्ष की शुरुआत हो चुकी है। इस साल सरकार ने आयकर की सीमा में कई परिवर्तन किए हैं। नौकरीपेशा वर्ग और कारोबारियों के लिए इस वक्त बड़ा सवाल ये है कि अपना पैसा कहां निवेश करें जिससे टैक्स सेविंग के साथ मिले बढ़िया रिटर्न। जिससे वर्तमान के साथ भविष्य भी सुरक्षित रहे। आइए, हम आपको कुछ बेहतरीन विकल्पों के बारे में बताते हैंः-

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ)

पब्लिक प्रोविडेंट फंड बचत और टैक्स सेविंग के बेहतरीन विकल्पों में से एक है। इसमें किया गया निवेश, उस पर मिलने वाला ब्याज और मैच्योरिटी; तीनों पर टैक्स में छूट मिलती है। अच्छी बात ये है कि इसे सालाना 500 से भी शुरू किया जा सकता है। PPF में निवेश के वक्त आपको यह भी ध्यान रखना है कि एक साल में आप इस खाते में 12 बार से अधिक निवेश नहीं कर सकते। हर तीन महीने में पीपीएफ खाते में ब्याज दरें निर्धारित की जाती हैं। खाता खालने के 15 साल बाद पीपीएफ मैच्योर होता है।

नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस)

नेशनल पेंशन सिस्टम यानी एनपीएस एक सरकारी रिटायरमेंट सेविंग स्कीम है, जिसे केन्द्र सरकार ने 1 जनवरी 2004 को लॉन्च किया था। 2009 में इसे कॉर्पोरेट कर्मचारियों के लिए खोल दिया गया। इसमें 18 साल से 60 साल तक का कोई भी व्यक्ति अकाउंट खोल सकता है। इस योजना को 500 रुपये महीने के निवेश के साथ भी शुरू कर सकते हैं। 60 साल में रिटायरमेंट के बाद 60 प्रतिशत रकम निकाली जा सकती है। बाकी रकम से बुढ़ापे में पेंशन दी जाएगी। टियर-1 अकाउंट में निवेश पर टैक्स में छूट मिलती है।

पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट (पीओडीटी)

पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट के जरिए 1, 2, 3 और 5 साल के लिए निवेश किया जा सकता है। इसमें ब्याज दरें पहले से निर्धारित होती हैं और तय वक्त तक बदलती नहीं हैं। 10 से उम्र से ज्यादा का कोई भी व्यक्ति पीओडीटी खाता खोल सकता है। टैक्स में छूट और सुरक्षित पैसे के लिए यह बेहतर विकल्प हो सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना

सुकन्या समृद्धि योजना मोदी सरकार की एक महात्वाकांक्षी सेविंग स्कीम है। इसमें 8.5 प्रतिशत का ब्याज दर मिल रहा है। मान लीजिए आप इस योजना में सालाना 1 लाख का निवेश करते हैं। तो इस हिसाब से 14 साल में 14 लाख रुपये का निवेश हो जाता है। 21 साल में मैच्योर होने के बाद करीब 46 लाख रुपये की रकम हो जाएगी। इसमें खाता खुलवाने के लिए बेटी की उम्र 10 साल से कम होनी चाहिए। इसके जरिए भी टैक्स से राहत पा सकते हैं।

म्युचुअल फंड (एमएफ)

म्युचुअल फंड कंपनियां निवेशकों से पैसे जुटाती हैं। इस पैसे को वे शेयरों में निवेश करती हैं। जो लोग शेयर बाजार में निवेश के बारे में बहुत नहीं जानते, उनके लिए म्यूचुअल फंड निवेश का अच्छा विकल्प है। टैक्स छूट के साथ ये बेहतरीन रिटर्न का विकल्प भी देते हैं। आजकल म्युचुअल फंड में निवेश बेहद लाभकारी है।

उम्मीद है आपको अपने निवेश के लिए एक बेहतर विकल्प मिल गया होगा। पर्सनल फाइनेंस से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहिए लोकमत न्यूज।

English summary :
Income Tax Saving Investments: Top Investment Schemes Like PPF (Public Provident Fund) and NPC for easy tax saving and best return in 2019. Here's how to plan plan your tax-saving investments for the financial year.


Web Title: Income Tax Saving Investments: Top Investment Schemes for easy tax saving and best return in 2019
पर्सनल फाइनेंस से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे