टोक्यो ओलंपिकः भारतीय रिले टीम ने एशियाई रिकॉर्ड तोड़ा, फिर भी फाइनल में नहीं बना सकी जगह

By अभिषेक पारीक | Published: August 6, 2021 07:43 PM2021-08-06T19:43:17+5:302021-08-06T19:57:57+5:30

टोक्यो ओलंपिक में भारतीय पुरुषों की 4 गुना 400 मीटर रिले टीम ने शुक्रवार को एशियाई रिकॉर्ड तोड़ दिया, लेकिन वह टोक्यो ओलंपिक के फाइनल में नहीं पहुंच सकी।

Tokyo Olympics: Indian relay team breaks Asian record, but could not reach the final | टोक्यो ओलंपिकः भारतीय रिले टीम ने एशियाई रिकॉर्ड तोड़ा, फिर भी फाइनल में नहीं बना सकी जगह

प्रतीकात्मक तस्वीर

Next
Highlightsटोक्यो ओलंपिक में भारतीय पुरुषों की 4 गुना 400 मीटर रिले टीम ने शुक्रवार को एशियाई रिकॉर्ड तोड़ दिया। बावजूद नवें स्थान पर रहने के कारण रिले टीम टोक्यो ओलंपिक के फाइनल में पहुंचने में नाकाम रही। टोक्यो ओलंपिक में भारतीय पैदल चाल खिलाड़ियों का अभियान निराशाजनक तरीके से समाप्त हुआ। 

टोक्यो ओलंपिक में भारतीय पुरुषों की 4 गुना 400 मीटर रिले टीम ने शुक्रवार को एशियाई रिकॉर्ड तोड़ दिया, लेकिन वह टोक्यो ओलंपिक के फाइनल में नहीं पहुंच सकी। मोहम्मद अनस याहिया, टॉम नोह निर्मल, राजीव अरोकिया और अमोल जैकब की भारतीय चौकड़ी दूसरी हीट में चौथे स्थान पर रही। भारतीय टीम कुल नौवें स्थान पर रही और इस तरह से आठ टीमों के फाइनल में जगह नहीं बना पायी। दोनों हीट में शीर्ष तीन स्थानों पर रहने वाली टीमें तथा इसके दो सर्वश्रेष्ठ समय निकालने वाली टीमें फाइनल में जगह बनाती हैं। 

इससे पहले का एशियाई रिकॉर्ड कतर के नाम पर था, जिसने तीन मिनट 00.56 सेकेंड के साथ एशियाई खेल 2018 में स्वर्ण पदक जीता था। जैकब सबसे आखिर में दौड़े और उन्होंने भारतीयों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 44.68 सेकेंड में दौड़ पूरी की। जब उन्होंने राजीव अरोकिया (44.84 सेकेंड) से बैटन ली तो तब टीम छठे स्थान पर चल रही थी लेकिन उन्होंने दो प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ा। राष्ट्रीय रिकॉर्डधारक याहिया ने 45.60 सेकेंड के साथ सबसे धीमा समय निकाला। 

इससे पहले राष्ट्रीय रिकॉर्डधारी प्रियंका गोस्वामी महिलाओं की 20 किमी पैदल चाल स्पर्धा में 17वें और भावना जाट 32वें स्थान पर रहीं। गुरप्रीत सिंह पुरूषों की 50 किलोमीटर पैदल चाल पूरी नहीं कर सके और गर्मी तथा उमस के कारण ऐंठन की वजह से उन्होंने नाम वापस ले लिया। वह 35 किमी की दूरी दो घंटे 55 मिनट 19 सेकंड में पूरी करके 51वें स्थान पर थे। इसके बाद वह अलग बैठ गए और मेडिकल टीम ने उनकी मदद की। इस तरह से भारतीय पैदल चाल खिलाड़ियों का अभियान निराशाजनक तरीके से समाप्त हुआ। 


पच्चीस वर्षीय प्रियंका ने एक घंटे 32 मिनट 36 सेकेंड का समय निकाला जो उनके व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ एक घंटे 28 मिनट और 45 सेकेंड के प्रदर्शन से अधिक था जबकि यह उन्होंने फरवरी में राष्ट्रीय ओपन पैदल चाल चैम्पियनिशप के दौरान ही बनाया था। यह स्पर्धा हालांकि काफी गर्मी और उमस भरी परिस्थितियों में संपन्न हुई। प्रियंका शुरू में आगे चल रहे खिलाड़ियों में शामिल थी बल्कि आठ किलोमीटर तक दूरी तय करने के बाद वह सबसे आगे थीं, लेकिन धीरे धीरे वह पीछे खिसकती चली गईं। भावना आगे चल रही खिलाड़ियों के साथ अपनी रफ्तार बरकरार नहीं रख सकीं और शुरू से ही पीछे चल रही थीं जिससे वह एक घंटे 37 मिनट 38 सेकेंड से 32वें स्थान पर रहीं। पच्चीस साल की भावना का व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन एक घंटे 29 मिनट 54 सेकेंड का है। 

इस मुकाबले में इटली की एंतोनेला पामिसानो ने एक घंटे 29 मिनट 12 सेकेंड से स्वर्ण पदक जीता जबकि कोलंबिया की सांड्रा लोरेना अरेनास ने रजत और चीन की होंग लियू ने कांस्य पदक हासिल किया। गुरप्रीत का व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन तीन घंटे 59 मिनट और 42 सेकंड का है जो उन्होंने फरवरी में राष्ट्रीय पैदलचाल चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीतकर बनाया था । स्पर्धा शुरू होने के समय सापोरो ओडोरी पार्क पर तापमान करीब 25 डिग्री सेल्सियस था लेकिन बाद में बढकर 30 डिग्री पहुंच गया। उमय भी 80 प्रतिशत थी। कुल 59 खिलाड़ियों में से 12 या तो पूरा नहीं कर सके या अयोग्य हो गए। पोलैंड के डेविड तोमाला ने स्वर्ण, जर्मनी के जोनाथन हिलबर्ट ने रजत और कनाडा के इवान डंफी ने कांस्य पदक जीता।

 

Web Title: Tokyo Olympics: Indian relay team breaks Asian record, but could not reach the final

अन्य खेल से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे