Need to work on turning opportunities into goals before Olympics: Lalit | ओलंपिक से पहले मौकों को गोल में बदलने पर काम करने की जरूरत : ललित
ओलंपिक से पहले मौकों को गोल में बदलने पर काम करने की जरूरत : ललित

बेंगलुरू, चार मई भारतीय पुरुष हॉकी टीम के फारवर्ड ललित उपाध्याय को लगता है कि खिलाड़ियों को 23 जुलाई से शुरू होने वाले तोक्यो ओलंपिक खेलों से पहले मौकों को गोल में बदलने पर काम करने की जरूरत है।

अर्जेंटीना के हाल के दौरे में भारतीय टीम ने चार अभ्यास मैचों में 12 गोल तथा ओलंपिक चैंपियन के खिलाफ ही दो एफआईएच प्रो लीग मैचों में पांच गोल किये थे लेकिन ललित ने कहा कि अब भी सुधार की जरूरत है क्योंकि नौ गोल पेनल्टी कार्नर पर किये गये।

ललित ने कहा, ‘‘अर्जेंटीना के खिलाफ मैच बड़े स्कोर वाले थे और मजबूत रक्षापंक्ति वाली अर्जेंटीना जैसी टीम के खिलाफ मैदानी गोल करना आसान नहीं था।’’

उन्होंने कहा, ‘‘पिछले कुछ महीनों में हमने वास्तव में मौकों को गोल में बदलने और पेनल्टी कार्नर हासिल करने पर काफी काम किया। हमने इस पर भी काम किया है कि हमें 25 मीटर के सर्किल में कैसे काम करना चाहिए। ’’

ललित ने कहा कि टीम को सर्किल के अंदर मौके भुनाने में अधिक तेजतर्रार होना होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘हम वर्तमान शिविर में इस पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। ’’

ललित ने कहा कि कोविड-19 की चुनौतियों के बावजूद टीम तोक्यो ओलंपिक में पदक जीत सकती है।

उन्होंने कहा, ‘‘कोर ग्रुप के सभी खिलाड़ियों को लगता है कि यह (तोक्यो ओलंपिक) पदक जीतने का हमारे पास सर्वश्रेष्ठ मौका है और हम इससे पहले की तमाम चुनौतियों के बावजूद इस पर काम जारी रखे हुए हैं।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Need to work on turning opportunities into goals before Olympics: Lalit

अन्य खेल से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे