West Bengal Child Protection Commission seeks clarification from Election Commission on jawans accused of molestation | पश्चिम बंगाल बाल संरक्षण आयोग ने छेड़छाड़ के आरोपी जवान पर चुनाव आयोग से स्पष्टीकरण मांगा
पश्चिम बंगाल बाल संरक्षण आयोग ने छेड़छाड़ के आरोपी जवान पर चुनाव आयोग से स्पष्टीकरण मांगा

कोलकाता, आठ अप्रैल पश्चिम बंगाल बाल संरक्षण आयोग (डब्ल्यूबीसीपीसी) ने बृहस्पतिवार को चुनाव आयोग को पत्र लिखकर नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ के आरोपी केंद्रीय बल के एक जवान के ‘‘तबादले’’ का कारण बताने को कहा है।

बाल आयोग ने पूछा है कि पॉक्सो कानून के तहत बिना गिरफ्तारी के आरोपी जवान को छोड़ा क्यों गया।

डब्ल्यूबीसीपीसी अध्यक्ष अनन्या चक्रवर्ती ने कहा कि उन्होंने हुगली ग्रामीण पुलिस जिला से स्पष्टीकरण भी मांगा है कि आरोपी को किस तरह रिहा कर दिया गया।

राज्य में चुनाव ड्यूटी पर आए केंद्रीय बल के जवान ने हुगली जिले के तारकेश्वर में 10वीं की छात्रा से तब छेड़छाड़ की जब वह अपनी दोस्त के घर जा रही थी।

चुनाव आयोग ने इस मामले में शिकायत मिलने के बाद आरोपी जवान को ड्यूटी से हटा दिया है।

चक्रवर्ती ने हैरानी जताते हुए कहा कि पीड़िता नाबालिग है इसके बावजूद यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पॉक्सो) कानून के तहत उसके खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: West Bengal Child Protection Commission seeks clarification from Election Commission on jawans accused of molestation

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे