Vishu festival being celebrated in the shadow of Kovid-19 in Kerala | केरल में कोविड-19 के साए में मनाया जा रहा विशु पर्व
केरल में कोविड-19 के साए में मनाया जा रहा विशु पर्व

तिरुवनंतपुरम, 14 अप्रैल कोविड-19 महामारी के कारण लगाए गए प्रतिबंधों के बावजूद केरल के लोगों ने बुधवार को “विशु” पर्व मनाया। यह मलयाली नव वर्ष की शुरुआत का भी दिन है।

हिंदू समुदाय के अधिकतर लोगों ने पारंपरिक तौर पर फल, सब्जी, फूल, सोना और वस्त्रों से ‘विशु कानी’ बनाया और आने वाले साल के लिए शुभकामनाएं दी।

परंपरा के अनुसार, विशु के दिन सोकर उठने पर पहली वस्तु ‘कानी’ देखी जाती है।

घर के बड़े लोग बच्चों को सिक्के देते हैं जिसे ‘विशु कैनीत्तम’ कहा जाता है। कोविड-19 के कारण लागू प्रतिबंधों के चलते आम तौर पर उत्सव के दौरान होने वाले हर्षोल्लास प्रभावित हुआ और त्यौहार कुछ फीका रहा।

लोकप्रिय पर्यटन स्थलों पर भीड़भाड़ भी कम दिखाई पड़ी और लोगों को बड़े मंदिरों में जाने की अनुमति नहीं थी।

सबरीमला का भगवान अयप्पा का मंदिर विशु कानी दर्शन के लिए श्रद्धालुओं के वास्ते सुबह साढ़े पांच बजे खोला गया।

गुरुवायुर के श्री कृष्ण मंदिर में ‘नलंबलम’ के बाहर तड़के ढाई बजे कानी दर्शन की अनुमति दी गई थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान और मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने विशु के अवसर पर लोगों को शुभकामनाएं दी।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Vishu festival being celebrated in the shadow of Kovid-19 in Kerala

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे