Vidyasagar was conferred the title of the ocean of knowledge. A leading figure in the Bengal renaissance, he stood for progress, pathbreaking reform and enlightenment. It is very clear why the Sangh parivar would seek destruction of his ideas. | पश्चिम बंगाल में अराजकता व हिंसा, भाजपा और तृणमूल कांग्रेस जिम्मेदार : येचुरी
सीताराम येचुरी ने पश्चिम बंगाल में उपजी चुनावी हिंसा के लिये भाजपा और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को जिम्मेदार ठहराते हुये कहा है कि इससे ‘बंगाल की आत्मा’ पर कुठाराघात किया गया है।

Highlightsउल्लेखनीय है कि मंगलवार को कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान दो गुटों के बीच हिंसक झड़प हुयी। बंगाल में नवजागरण काल के सबसे बड़े प्रतीकों में शुमार शख्सियत (विद्यासागर) पर भाजपा, आरएसएस ने हमला किया है। प्रगति विरोधी इन लोगों ने हमेशा ही विद्यासागर के विचारों का विरोध किया।

माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने पश्चिम बंगाल में उपजी चुनावी हिंसा के लिये भाजपा और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को जिम्मेदार ठहराते हुये कहा है कि इससे ‘बंगाल की आत्मा’ पर कुठाराघात किया गया है।

येचुरी ने कोलकाता में चुनावी हिंसा के दौरान समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने की घटना का जिक्र करते हुये बुधवार को ट्वीट किया, ‘‘भाजपा और तृणमूल कांग्रेस द्वारा उत्पन्न की गई अराजकता ने बंगाल की आत्मा पर कुठाराघात किया है।



 

उन्हें (भाजपा और तृणमूल कांग्रेस को) निश्चित रूप से इस जिम्मेदारी से पल्ला नहीं झाड़ने दिया जा सकता।’’ उल्लेखनीय है कि मंगलवार को कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान दो गुटों के बीच हिंसक झड़प हुयी। इसी दौरान समाज सुधारक और बंगाल नवजागरण काल की प्रमुख हस्ती ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया।



 

इस घटना के बाद राज्य में उपजे हालात के लिये भाजपा और तृणमूल कांग्रेस ने एक दूसरे को जिम्मेदार ठहराया है। येचुरी ने विद्यासागर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त किये जाने की घटना का जिक्र करते हुये एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘यह सिर्फ एक प्रतिमा का मामला नहीं है बल्कि यह बंगाल पर सुनियोजित हमला है।



बंगाल में नवजागरण काल के सबसे बड़े प्रतीकों में शुमार शख्सियत (विद्यासागर) पर भाजपा, आरएसएस ने हमला किया है। प्रगति विरोधी इन लोगों ने हमेशा ही विद्यासागर के विचारों का विरोध किया।’’ 



 


Web Title: Vidyasagar was conferred the title of the ocean of knowledge. A leading figure in the Bengal renaissance, he stood for progress, pathbreaking reform and enlightenment. It is very clear why the Sangh parivar would seek destruction of his ideas.

Get the latest Election News, Key Candidates, Key Constituencies live updates and Election Schedule for Lok Sabha Elections 2019 on www.lokmatnews.in/elections/lok-sabha-elections. Keep yourself updated with updates on West Bengal Loksabha Elections 2019, phases, constituencies, candidates on www.lokmatnews.in/elections/lok-sabha-elections/west-bengal.