Video of old woman living in toilet with granddaughter in Nalanda goes viral, minister calls 'fake' | नालंदा में वृद्ध महिला का पोती के साथ शौचालय में रहने को लेकर वीडियो वायरल, मंत्री ने ‘फर्जी’ बताया
नालंदा में वृद्ध महिला का पोती के साथ शौचालय में रहने को लेकर वीडियो वायरल, मंत्री ने ‘फर्जी’ बताया

पटना/बिहारशरीफ, 10 जून बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा के मकरौता पंचायत अंतर्गत दिरीपर गांव के बार्ड नम्बर 3 में एक गरीब वृद्ध महिला का पोती के साथ शौचालय में रहने को लेकर सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है जिसे राज्य के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने ‘फेक’ (फर्जी) बताया है।

नीतीश के विश्वासपात्र एवं जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने बृहस्पतिवार को ट्वीट करके कहा, ‘‘सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल करके अफवाह फैलाई जा रही थी कि एक बुजुर्ग महिला अपनी पोती के साथ शौचालय में रह रही है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जिला पदाधिकारी, नालंदा द्वारा कराये गये स्थल निरीक्षण में पता चला है कि उक्त महिला कौशल्या देवी शौचालय के बगल में एक झोपड़ी में रहती है।’’

मंत्री ने कहा, ‘‘कौशल्या देवी की एक पोती के अलावा परिवार का कोई अन्य सदस्य साथ में नहीं रहता है। महिला को वृद्धावस्था पेंशन और सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) का अनाज मिलता है। वृद्धा को भोजन की समस्या नहीं है। जिला प्रशासन द्वारा महिला की झोपड़ी का जीर्णोद्धार और उससे लगती गली को पक्का करवाया जायेगा।’’

नालंदा के जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि हिलसा के अनुमण्डल पदाधिकारी द्वारा जांचोपरान्त भेजे गए में प्रतिवेदन में कहा गया है कि दिवंगत शिवनन्दन महतो की पत्नी कौशल्या देवी के चार पुत्र हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘उनके प्रथम पुत्र अनिल प्रसाद सपरिवार दिल्ली में रहते हैं एवं निजी नौकरी करते हैं। द्वितीय पुत्र सुधीर कुमार की मृत्यु हो चुकी है। तृतीय पुत्र रामधीन प्रसाद सपरिवार हिलसा में रहते हैं और साइकिल मरम्मत का कार्य करते हैं। चौथे पुत्र सतीश प्रसाद जिनकी मृत्यु 08-10 साल पहले हो गई थी और कुछ समय बाद इनकी पत्नी जो विक्षिप्त बताई गई हैं, लापता हैं। उक्त दम्पति की एक बेटी लगभग 10 वर्ष की है, जो वृद्धा कौशल्या देवी के साथ रहती है। प्रथम पुत्र पिछले 15 वर्षों से गांव नहीं आये हैं एवं इनका वृद्धा से कोई संपर्क नहीं है।’’

नालंदा के जिलाधिकारी ने बताया कि निरीक्षण के दौरान वृद्धा कौशल्या देवी शौचालय से सटे पुराने करकट से बने एक छोटे से कमरे में अपनी पोती के साथ मिलीं। उन्होंने बताया कि शौचालय में रहने संबंधी समाचार जांच के क्रम में सत्य नहीं पाया गया। उन्होंने बताया कि वृद्धा कौशल्या देवी को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से राशन मिलता रहा है एवं खाने.पीने की तकलीफ नहीं है और उन्हें वृद्धा पेंशन भी मिलती है।

उन्होंने बताया कि वृद्ध महिला के तीसरे पुत्र रामधीन प्रसाद ने बताया गया कि वे अत्यंत गरीब हैं एवं पैर से लाचार हैं। उन्होंने बताया कि वे हिलसा में कस्तूरबा विद्यालय के समीप साइकिल मरम्मत की दुकान चलाते हैं। उन्होंने बताया कि प्रसाद ने अपनी मां को अपने साथ रहने के लिए कहा लेकिन उन्होंने साथ रहने से इनकार किया।

नालंदा के जिलाधिकारी ने कहा, ‘‘‘निरीक्षण के दौरान शौचालय में रहने एवं खाने की बात सर्वथा गलत पाई गई। फिर भी वृद्धा की गरीबी को देखते हुए तत्काल वृद्धा के झोपड़ीनूमा कमरे की छत, दीवार एवं फर्श का जीर्णोद्धार कराने के लिए करायपरसुराय के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को निर्देशित किया गया है।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Video of old woman living in toilet with granddaughter in Nalanda goes viral, minister calls 'fake'

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे